Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > कानपुर से तीन संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार

कानपुर से तीन संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार

-बिना स्थानीय पुलिस को सूचना दिए दिल्ली की एटीएस व झारखंड की पुलिस ने घर में छिपे संदिग्धों को छापा मारकर पकड़ा -संदिग्ध का एक साथी कार्रवाई की भनक लगते ही हुआ फरार, स्थानीय पुलिस व जांच एजेंसियाें ने शुरू की छानबीन

कानपुर से तीन संदिग्ध आतंकी गिरफ्तार

कानपुर। उत्तर प्रदेश के कानपुर जनपद में एक बार फिर आतंकियों के छुपे होने की सूचना पर दिल्ली एटीएस व झारखंड की पुलिस ने छापेमारी की है। टीम ने कल्याणपुर इलाके में कार्रवाई करते हुए तीन संदिग्धों को पकड़ा है जबकि एक के भाग जाने की जानकारी मिली है। फिलहाल इस पूरी कार्रवाई की स्थानीय पुलिस को कोई खबर नहीं है। हालांकि दिल्ली में मिले आतंकी इनपुट के बाद देश में हाई अलर्ट घोषित होने पर कानपुर में एक बार फिर संदिग्धों को पकड़ा जाना गंभीर चिंता का विषय है।

जनपद के कल्याणपुर थानाक्षेत्र के कल्याणपुर कलां में रहने वाले सज्जन बाजपेई मेस्टन रोड स्थित एक कपड़ा दुकान में प्राइवेट कर्मी है। परिवार में पत्नी रंजना व तीन बच्चे हैं। 15 दिन पूर्व सज्जन बाजपेई का स्पाइनर का आपरेशन लक्ष्मी हॉस्पिटल में था, उसी दौरान इनके मकान में चार युवक रहने आए। उन्होंने बेटी से युवकों का आधार कार्ड लेकर कमरा किराये पर रहने के लिए दे दिया। चारों ने खुद को झारखंड का निवासी बताते हुए कलकत्ता से कपड़े लाकर बेचने वाला बताया था। शनिवार की भोर सज्जन बाजपेई के घर अचानक दो सादी व दो बावर्दी पुलिस कर्मियों ने छापा मारा। उन्होंने आतंकी को घर में रखने की जानकारी देते हुए साथ लाए लगभग नौ साल के किशोर के साथ कमरे में रह रहे संदिग्ध तीन युवकों को पकड़ लिया, जबकि एक साथी कार्रवाई से पूर्व भाग चुका था।

संदिग्ध आतंकियों को पकड़ते हुए टीम ने कमरे की तलाशी ली, जिसमें जानकारी के मुताबिक दो मोबाइल व 150 के करीब मोबाइल कवर बरामद हुए। टीम ने तीनों को हिरासत में लेकर साथ आए छोटू नाम के किशोर के साथ पास ही स्थित मंजू के घर पर भी छापेमारी की लेकिन वहां उन्हें कोई नहीं मिला। इसके बाद हिरासत में लिये गए तीनों संदिग्धों को छापेमारी करने आई टीम साथ ले गई।

इलाके में आतंकी पकड़े जाने की सूचना जंगल में लगी आग की तरह फैल गई और स्थानीय लोगों में दहशत फैल गई। माना जा रहा है कि दिल्ली में आतंकी इनपुट के बाद यह कार्रवाई दिल्ली की एटीएस व झारखंड से आई पुलिस टीमों ने मिलकर अंजाम दिया है और संदिग्धों को पकड़कर पूछताछ के लिए ले गई हैं। इस बात की जानकारी किराये पर कमरा देने वाली महिला रंजना ने भी की है। उन्होंने बताया कि कार्रवाई करने आई टीम में कोई भी कानपुर पुलिस का नहीं था, सभी बाहर के पुलिस कर्मी थे।

स्थानीय पुलिस छानबीन में जुटी

तीन संदिग्ध आतंकियों के कल्याणपुर से पकड़े जाने की जानकारी पर स्थानीय पुलिस के होश फाख्ता हैं। कल्याणपुर क्षेत्राधिकारी ने बताया कि जिस घर से तीन संदिग्धों को पकड़ा गया है, उसकी मकान मालकिन के अनुसार किराये पर कमरा लेकर रहने वाले युवकों के नाम सियाराम, पिंकू, बऊवा बताये थे। जिस व्यक्ति के आधार कार्ड की कॉपी इन्होंने किराये पर रखते समय ली है, उसकी व महिला के बयान की जांच कराई जा रही है।

आतंकी हाई अलर्ट पर शहर में चली थी सघन तलाशी

दिल्ली में आतंकी इनपुट मिलने के बाद देश में हाई अलर्ट घोषित कर दिया गया था। हाई अलर्ट को देखते हुए कानपुर जनपद में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक अनंत देव ने सार्वजनिक स्थानों, मॉल, स्टेशन, बस अड्डा आदि में सघन तलाशी अभियान चलाया था। इसके साथ ही उन्होंने अलर्ट को देखते हुए मातहत अधिकारियों व थाना पुलिस को संदिग्धों पर पैनी नजर रखने को कहा था। इसके बावजूद शहर में 15 दिन से संदिग्ध युवकों के छुपे होने से स्थानीय जांच एजेंसियों की सतर्कता पर बड़ा सवाल भी उठ रहा है।

Updated : 5 Oct 2019 8:37 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top