Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > हरिद्वार में गंगा स्नान करने आए पाक श्रद्धालु बोले - वापस नहीं जाना चाहते

हरिद्वार में गंगा स्नान करने आए पाक श्रद्धालु बोले - वापस नहीं जाना चाहते

हरिद्वार में गंगा स्नान करने आए पाक श्रद्धालु बोले - वापस नहीं जाना चाहते
X

हरिद्वार। पाकिस्तान से लगभग एक माह के लिए यात्रा वीजा पर आये 56 हिन्दू श्रद्धालुओं के जत्थे ने शनिवार को हरिद्वार में गंगा स्नान किया। इसके बाद पाकिस्तान के श्रद्धालु अहमदाबाद के लिए निकल गए। दल में आए श्रद्धालुओं ने कहा कि पाकिस्तान में अल्पसंख्यकों के साथ अत्याचार किया जाता है। वे लोग वापस पाकिस्तान नहीं जाना चाहते हैं और भारत सरकार से उन्हें नियमानुसार देश की नागरिकता प्रदान करने की मांग करेंगे। इस दौरान स्थानीय भाजपा नेताओं ने दल के लोगों का स्वागत किया।

पाकिस्तानी जत्थे में शामिल अधिकांश लोग कराची, बदीन से आये थे। इनमें मालीभाई परमार, नारायण दास, मुकेश कुमार, वीर जी, पिंगला बेन, पूनम बेन, कांता बेन, लक्ष्मी बेन, हीरा बाई ने कहा कि हरिद्वार में आकर मां गंगा में स्नान कर उनका जीवन सफल हो गया है। इन लोगों ने कहा कि पाकिस्तान से भारत आने पर उन्हें ज्यादा पैसा साथ नहीं लाने दिया जाता है। कहा कि हुकुमत को यह डर रहता है कि कहीं भारत जाने वाले हिन्दू श्रद्धालु हिन्दुस्तान में ही न बस जाएं। कहा कि वे भारत में रहना चाहते हैं। हिन्दू श्रद्धालुओं का यह जत्था शुक्रवार को उत्तरी हरिद्वार भूपतवाला स्थित प्रभुतानन्द आश्रम पहुंचा था।

दल के लोगों की माली हालत देख स्थानीय नेता और लोगों ने आपस में रुपये एकत्र कर दल के अहमदाबाद जाने के लिए बस और खाने की व्यवस्था भी की। क्षेत्रीय पार्षद अनिरुद्ध भाटी ने दावा किया कि आर्थिक संकट से जूझ रहे इस जत्थे की मदद के लिए बृजभूषण विद्यार्थी और पार्षद विनित जौली ने पहल की थी।

स्वागत करने वालों में लाल माता मंदिर के प्रबंधक भक्त दुर्गादास, धर्मशाला प्रबंधक समिति के अध्यक्ष गोपाल सिंघल, महेश गौड़, रमेश भाई, जगदीश यादव, स्वामी तत्वानन्द, श्यामसुन्दर शर्मा, पार्षद अनिल मिश्रा, स्वामी नरसिंह दास, व्यापार मंडल के अध्यक्ष सूर्यकान्त शर्मा, सन्नी राणा, नीरज शर्मा, संदीप गोस्वामी, अनुपम त्यागी, रूपेश शर्मा, अजय अरोड़ा, सुरेन्द्र ठाकुर, सौरभ सामंत, सुनील सैनी, सुखेन्द्र तोमर आदि शामिल रहे।

Updated : 15 March 2020 8:07 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top