Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > पांच साल में मोदी सरकार ने सिर्फ जुमलेबाजी की: मायावती

पांच साल में मोदी सरकार ने सिर्फ जुमलेबाजी की: मायावती

कांग्रेस भी इन्ही कारणों से सत्ता से हुई थी बाहर, भाजपा ने की सिर्फ जुमलेबाजी

पांच साल में मोदी सरकार ने सिर्फ जुमलेबाजी की: मायावती
X

कानपुर। भाजपा की केन्द्र सरकार ने पांच सालों में सिर्फ पूंजीपतियों को बढ़ाने का काम किया है। इस सरकार में गरीबों के लिए कुछ नहीं किया गया और सिर्फ जुमलेबाजी की गयी। जिसके चलते गरीब जनता ने फैसला कर लिया है कि अब की बार इन्हे सत्ता से बाहर कर दिया जाएगा। वहीं कांग्रेस भी इन्ही कारणों के चलते सत्ता से बाहर हुई थी।

यह बातें बुधवार को कानपुर में बसपा सुप्रीमो मायावती ने कही। वह अकबरपुर लोकसभा सीट से पार्टी उम्मीदवार निशा सचान के समर्थन में बिठूर विधानसभा के रमईपुर में जनसभा को सम्बोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अब तक हुए मतदान में गठबंधन भारी बहुमत से जीत दर्ज कर रहा है और आगे भी करेगा। इसलिए अब इन्हें आजमाने की ज्यादा जरूरत नहीं है, गठबंधन को मजबूत करके इन्हें जड़ से उखाड़ फेंकना है।

मायावती ने प्रधानमंत्री को फर्जी अन्य पिछड़ा वर्ग का बताया और कहा कि हमारी उम्मीदवार फर्जी पिछड़ा वर्ग से नहीं आती। जीतने के बाद यह गरीब जनता के लिए सदैव उपलब्ध रहेंगी। उन्होंने कहा कि गलत कार्यों में लिप्त होने के चलते कांग्रेस को जनता ने जड़ से उखाड़कर फेंक दिया। कांग्रेस अगर सही से काम किया होता तो बसपा का गठन भी नहीं होता।

मायावती ने कहा कि बसपा सर्वजन सुखाय की नीति पर चलने वाली पार्टी है और हमने सपा और रालोद से गठबंधन कर लिया तो सत्ताधारी पार्टी भाजपा को डर सताने लगा। इसलिए वह लोग प्रचारित करने लगे कि यह महामिलावटी है जबकि हकीकत यह है कि यह गठबंधन गरीब, किसान और बेरोजगारों का है। सत्ता में आने पर गठबंधन जुमलेबाजी की जगह सभी वर्ग के लिए काम करेगा।

मायावती ने कहा कि हमारा गठबंधन अब टूटने वाला नहीं है और केन्द्र सरकार के बाद उत्तर प्रदेश सरकार को भी उखाड़ फेंकने का काम करेगा। उन्होंने जनता से कहा कि आपने कांग्रेस और भाजपा को खूब मौका दिया, लेकिन दोनों ने आपके साथ ईमानदारी नहीं बरती। इसलिए अब इन्हें आजमाने की ज्यादा जरूरत नहीं है, गठबंधन को मजबूत करके इन्हें जड़ से उखाड़ फेंकना है।

अच्छे दिन की अब नहीं होती बात

पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा के अच्छे दिन के नारे को जुमला करार देते हुए मायावती ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी अब इस पर बात ही नहीं करते। इसकी जगह अब पाकिस्तान की बात हो रही है। जबकि बेरोजगारों, किसानों, दलितों, पिछड़े वर्गों, मुसलमानों से अच्छे दिन के वादे किये गये थे जो पूरे ही नहीं हुए। पिछले लोकसभा चुनाव में अच्छे दिन का वादा और अब सबका साथ और सबका विकास भी एक जुमला बन गया है।

पूंजीपतियों का हुआ लाभ

मायावती ने कहा पिछले लोकसभा चुनाव में भाजपा की ओर से जो वादे किये गये थे वह सब आम जनता से जुड़े थे। जिसके चलते जनता ने विश्वास कर लिया और भाजपा की सरकार बना दी। लेकिन सत्ता में आते ही मोदी सरकार ने पूरे पांच साल सिर्फ पूंजीपतियों के लिए काम किया है और जनता को सिर्फ जुमलेबाजी में फंसाये रखा। जिसको जनता भली भांति जान चुकी है। बिना किसी तैयारी के लागू नोटबंदी से गरीबी बढ़ी है और देश की अर्थव्यवस्था पर काफी खराब प्रभाव पड़ रहा है। भाजपा की सरकार में देश की सीमाएं सुरक्षित नहीं है। फिर भी भाजपा के लोग इसे भुनाने में लगे हैं, जबकि आये दिन देश के जवान शहीद हो रहे हैं।

छह हजार के साथ देंगे रोजगार

मायावती ने भाजपा के साथ कांग्रेस पर भी हमलावर रुख अख्तियार किया और कहा कि अब कांग्रेस छह हजार हर महीने देने की बात कर रही है। जब तक इनकी सरकार रही तब तक इन्होंने भी गरीबों का ख्याल नहीं रखा और सिर्फ पूंजीपतियों को ही बढ़ाया। जनता से अपील करते हुए कहा कि भाजपा के साथ कांग्रेस पर भी विश्वास नहीं करना क्योंकि 55 वर्षों से केंद्र और उत्तर प्रदेश में भी कई बार सत्ता में रहने के बाद भी विकास नहीं किया। गठबंधन की सरकार हर माह छह हजार रुपये और रोजगार देने का काम करेगी।

आरक्षण का कोटा नहीं किया जा रहा पूरा

मायावती ने कहा कि यूपी की भाजपा सरकार ने किसानों के लिए कुछ नहीं किया, यहां तक खुले जानवर खेतों को बर्बाद कर रहे हैं। देश और यूपी में पिछड़ों, दलितों को सरकारी नौकरियों में आरक्षण कोटा अधूरा है। ज्यादातर सराकरी काम प्राइवेट कंपनियों से करवाए जा रहे हैं। उच्च समाज की हालत भी बेहद खराब है। चुनाव के दौरान कुछ पार्टियां मीडिया, ओपिनियन पोल का इस्तेमाल करती हैं, इससे बचना होगा। इसी के चलते हम चुनावी घोषणा पत्र जारी नहीं करते हैं।

नमो-नमो का जमाना गया, जय भीम का जमाना आया

मायावती ने कहा कि पूरे प्रदेश में गठबंधन का अच्छा प्रदर्शन होगा। अभी तक जितने चरण के चुनाव हुए हैं उसमें गठबंधन सबसे आगे होने की रिपोर्ट मिली है। भाजपा और कांग्रेस हमारे सामने टिक भी नहीं पाएंगे। बीजेपी ने चुनाव को धार्मिक रंग देने का प्रयास किया। लेकिन हमने नहले पर दहला दिया तो ये चारों खाने चित हो गए। अब नमो-नमो का जमाना गया, अब जय भीम का जमाना आ गया। जब कुछ काम नहीं आया तो ये मध्य प्रदेश में एक साध्वी पकड़ लाए। इनको योगी और साध्वी काम नहीं आ सकेगीं। अब प्रधानमंत्री पिछड़ों की बात कर रहे हैं, ये कह रहे हैं कि हम आरक्षण खत्म नहीं कर रहे। इनकी हिम्मत नहीं कि ये आरक्षण खत्म कर दें। हमारी महिला उम्मीदवार प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की तरह नकली पिछड़ा वर्ग से नहीं है।

Updated : 24 April 2019 4:21 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top