Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > नोएडा पहुंचा कोरोना वायरस का खौफ, 2 स्कूल बंद किए गए

नोएडा पहुंचा कोरोना वायरस का खौफ, 2 स्कूल बंद किए गए

नोएडा पहुंचा कोरोना वायरस का खौफ, 2 स्कूल बंद किए गए
X

नोएडा। भारत में भी जानलेवा कोरोना वायरस ने दस्तक दे दी है। दो नागरिकों में इसकी पुष्टि हुई है। एक पीड़ित तो दिल्ली का रहने वाला है। यहां के जिस व्यक्ति में इसकी पुष्टि हुई है, उसने हाल में इटली की यात्रा की थी। उसके दोनों बच्चे नोएडा के श्रीराम मिलेनियम स्कूल में पढ़ते हैं। इस स्कूल को एतिहातन बंद कर दिया गया है। वायरस से पीड़ित युवक के बच्चों की जांच भी की गई है, बच्चों में बीमारी के लक्षण नहीं मिले हैं। स्कूल के पांच बच्चों को उनके घरों में आइसोलेट भी किया गया है।

सीएमओ का कहना है कि स्कूल अभी एक-दो दिन बंद रहेगा। इसल दौरान इसे सेनिटाइज किया जाएगा। स्कूल को सेनिटाइज करने की प्रक्रिया में एक से दो दिन का समय लगेगा। उन्होंने कहा कि एक रूम को सेनिटाइज करने में एक घंटे से अधिक का वक्त लगेगा। मेडिकल टीम ने स्कूल को ट्रिटमेंट के बारे में बता दिया है।

बता दें कि इटली से लौटने के बाद कोरोना वायरस से संक्रमित व्यक्ति ने नोएडा के कई लोगों को पार्टी दी थी। यह पार्टी आगरा में की गई थी। जैसे ही प्रशासन को इस बात की जानकारी तो फैसला लिया गया कि पार्टी में शामिल सभी लोगों की निगरानी की जाएगी। वहीं दूसरी ओर इस व्यक्ति के बच्चे जिस स्कूल में पढ़ते थे उसे भी बंद कर दिया गया है, हालांकि स्कूल कब तक बंद रहेगा इस बात की जानकारी नहीं दी गई है।

आगरा में इटली से लौटे एक ही परिवार के 13 सदस्यों की जांच कराई गई है। इनके साथ दिल्ली में रहने वाले रिश्तेदार भी इटली गए थे। उनमें कोरोना संक्रमण की पुष्टि हुई है। खबर लगते ही स्वास्थ्य विभाग हरकत में आ गया। सोमवार को जिला अस्पताल में इन्हें भर्ती करके जांच के नमूने लिए गए हैं।

खंदारी क्षेत्र में रहने वाले जूता कारोबारी दो भाइयों के परिवार इटली घूमने गए थे। उनके साथ दिल्ली में रहने वाले रिश्तेदार भी थे। सभी रविवार को लौटकर आए हैं। एयरपोर्ट पर उतरते ही सभी की थर्मल स्क्रीनिंग कराई गई थी। सूत्रों के मुताबिक इनमें से दिल्ली के रिश्तेदार में संक्रमण की पुष्टि हुई है। इसके बाद स्वास्थ्य विभाग में खलबली मच गई। आगरा को खबर की गई।

आलमनगर निवासी रेलवे से रिटायर राशिद अपनी पत्नी के साथ ईरान व इराक जियारत पर गए हुए हैं। फ्लाइट न होने की वजह से वह भारत वापसी नहीं कर पा रहे हैं। मौलाना सैफ अब्बास के भांजे मौलाना सैय्यद अली अब्बास भी ईरान के कुम में अपने परिवार के साथ हैं। मौलाना सैफ अब्बास ने बताया कि कोरोना वायरस के डर से जायरीन अपने होटलों में कैद हैं। धीरे-धीरे उनके पैसे भी कम हो रहे हैं। उन्होंने विदेश मंत्रालय को पत्र लिखकर ईरान व इराक में रह रहे छात्र व जायरीन को भारत वापस लाने की मांग की है। उन्होंने बताया कि लखनऊ के करीब 50 से अधिक परिवार के लोग ईरान में है। यहां पर उनके परिवारवाले उनकी चिंता में परेशान है।

इमाम ए जुमा मौलाना कल्बे जव्वाद के सुपत्र भी ईरान के कुम में रह कर इस्लामी तालीम हासिल कर रहे हैं। मौलाना कल्बे जवाद ने कहा कि उन्होंने विदेश मंत्रालय को पत्र लिख मांग की है कि जो छात्र वहां से आने की इच्छा रखते हो उनकी मदद की जाए। साथ ही जो जायरीन ईरान व इराक में फंसे हुए हैं। उनको फौरन वहां से निकाला जाए। साथ ही उनकी पूरी मदद की जाए।

Updated : 3 March 2020 9:54 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top