Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर हुए जेल से रिहा, बोले - बीजेपी को सत्ता से उखाड़ फेंकना ही उनका लक्ष्य

भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर हुए जेल से रिहा, बोले - बीजेपी को सत्ता से उखाड़ फेंकना ही उनका लक्ष्य

भीम आर्मी के चीफ चंद्रशेखर हुए जेल से रिहा, बोले - बीजेपी को सत्ता से उखाड़ फेंकना ही उनका लक्ष्य
X

सहारनपुर/स्वदेश वेब डेस्क। सहारनपुर में बीते वर्ष 2017 में हुई जतीय हिंसा के मुख्य आरोपी और भीम सेना के मुख्य सदस्य चन्द्रशेखर उर्फ रावण को यूपी सरकार ने जेल से रिहा कर दिया है। इस फैसले यह माना जा रहा है कि इस कदम के जरिए केन्द्र और यूपी में भाजपा की सरकार एससी/एसटी वर्ग को अपने साथ जोड़ने का प्रयास कर रही है।

सहानपुर में 9 मई 2017 को शब्बीरपुर गांव से हुई जातीय हिंसा ने जनपद के अलावा पूरे प्रदेश को दहला कर रख दिया था। पुलिस ने भीम सेना के मुखिया चन्द्रशेखर उर्फ रावण को इसका जिम्मेदार ठहराया और राष्ट्रीय सुरक्षा कानून (रासूका) के तहत कार्रवाई कर जेल में डाल दिया। 16 माह से जेल में कैद भीम आर्मी के मुखिया को यूपी सरकार ने गुरुवार की रात करीब 2ः24 मिनट पर जेल से रिहा कर दिया। चन्द्रशेखर की रिहाई के दौरान काफी समर्थक जेल के बाहर जमा रहे। जेल के चारों तरफ कड़ी सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। सरकार ने भीम आर्मी के नेता चंद्रशेखर पर लगी रासुका को भी हटा लिया गया हैं।

दोबारा किसी आरोप में फंसायेगी सरकार

जेल से रिहा होने पर चन्द्रशेखर उर्फ रावण का उनके समर्थकों ने कारागार के बाहर भव्य स्वागत किया। मीडिया से मुखातिब होते हुए उन्होंने कहा कि योगी सरकार मुझसे डर गई थी। मुझे पूरा भरोसा है कि अगले 10 दिनों में दोबारा सरकार मुझे किसी न किसी आरोप में फंसाने की पूरा प्रयास करेगी।

सपा नेता व प्रवक्ता सुनील साजन ने चन्द्रशेखर की समय से पहले रिहाई पर कहा कि उनकी गिरफ्तारी भाजपा पर भारी पड़ने लगा था। कहा कि पिछड़े व दलितों को फर्जी मुकदमें में फंसाया जा रहा है। भीम आर्मी के सामने बीजेपी का दांव उल्टा पड़ गया। अन्तत: योगी सरकार को भीम आर्मी के सामने नतमस्तम होना पड़ा।

Updated : 2018-09-14T18:18:37+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top