Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > अन्य > महागठबंधन प्रत्याशी रामजीलाल सुमन की फिसली जुबान, कहा-जिन्ना ने नहीं, वीर सावरकर ने किया था हिंदुस्तान का बंटवारा

महागठबंधन प्रत्याशी रामजीलाल सुमन की फिसली जुबान, कहा-जिन्ना ने नहीं, वीर सावरकर ने किया था हिंदुस्तान का बंटवारा

महागठबंधन प्रत्याशी रामजीलाल सुमन की फिसली जुबान, कहा-जिन्ना ने नहीं, वीर सावरकर ने किया था हिंदुस्तान का बंटवारा
X

सादाबाद। सादाबाद के छाबी मियां बाग में आयोजित सपा के कार्यकर्ता सम्मेलन में पूर्व केंद्रीय मंत्री और हाथरस लोकसभा क्षेत्र से महागठबंधन के प्रत्याशी रामजीलाल सुमन की जुबान भाषण देने के दौरान फिसल गई। उन्होने कहा कि लोगों ने संसद के केंद्रीय कक्ष में हिंदू मुस्लिम की बात करने वाले और अंग्रेजों से माफी मांगने वाले वीर सावरकर की तस्वीर लगा रखी है, लेकिन हिंदुस्तान पाकिस्तान की बात करने वाले वीर सावरकर थे, जिन्ना नहीं। सावरकर ने कई बार अंग्रेजों से माफी मांगी, जब वह अंडमान निकोबार की जेल में बंद थे।

उन्होने तीन तलाक के मुद्दे पर प्रधानमंत्री मोदी पर व्यक्तिगत टिप्पणी करते हुए कहा कि मोदी ने क्यों अपनी बीबी से तलाक नहीं लिया। रामजी लाल सुमन ने कहा कि, भाजपा के पास समाज को तोडने वाली ताकत, राजनीति का आधार, भूख प्यास, बेबसी, गरीबी, लाचारी बेरोजगारी जैसे राजनीति के मुद्दे नहीं हैं। इनकी राजनीति के मुद्दे गाय, गंगा, तीन तलाक और लव जेहाद हैं। राजस्थान में हजारों गाय दलदल में फंस कर मर गई, लेकिन कोई मंत्री या मुख्यमंत्री देखने तक नहीं पहुंचा। 20 हजार करोड़ रूपया खर्च हो गया, लेकिन गंगा का एक कोना भी साफ नहीं हुआ। उन्होने कहा कि तीनों दल यदि अकेले अकेले अकेले लड़ते तो भाजपा को नहीं हरा सकते थे, इसलिए तीनों का गठबंधन हुआ। अजित सिंह कहते थे कि सरकार किसान विरोधी है। मायावती कहतीं थीं कि दलित विरोधी सरकार है। अखिलेश कहते थे कि हमारे देश के धर्म निरपेक्ष क्षेत्र को भाजपा समाप्त कर रही है। तीनों की विचारधारा मेल खाई और गठबंधन बन गया।

Updated : 2019-04-07T21:44:14+05:30

स्वदेश आगरा

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top