Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > उन्नाव दुष्कर्म मामले में योगी का सख्त रुख, कहा - फास्ट ट्रैक कोर्ट से दोषियों को कड़ी सजा दिलायेंगे

उन्नाव दुष्कर्म मामले में योगी का सख्त रुख, कहा - फास्ट ट्रैक कोर्ट से दोषियों को कड़ी सजा दिलायेंगे

- उन्नाव दुष्कर्म पीड़ित युवती की मौत के बाद लोगों में आक्रोश - बसपा प्रमुख ने की पीड़ित परिवार को समुचित न्याय दिलाने की मांग - कांग्रेस ने बताया सरकार की विफलता

उन्नाव दुष्कर्म मामले में योगी का सख्त रुख, कहा - फास्ट ट्रैक कोर्ट से दोषियों को कड़ी सजा दिलायेंगे

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने उन्नाव की रेप पीड़ित की मौत पर अत्यंत दुख जताया है। उन्होंने परिवार के प्रति गहरी संवेदना व्यक्त करते हुए कहा कि इसमें सभी आरोपित गिरफ्तार हो चुके हैं। उन्होंने कहा कि फास्ट ट्रैक कोर्ट से दोषियों को कड़ी सजा दिलवायेंगे। उन्होंने परिवार की सुरक्षा के लिए भी सभी आवश्यक कदम उठाये जाने की बात कही है।

इस मामले में बसपा प्रमुख मायावती ने जहां पीड़ित परिवार को समुचित न्याय दिलाने की मांग की है वहीं कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष अजय कुमार लल्लू ने इसे प्रदेश सरकार की विफलता बताई है। कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी पीड़ित परिजनों से मिलने के लिए लखनऊ से उन्नाव के लिए निकल चुकी हैं।

बसपा प्रमुख मायावती ने ट्वीट किया है कि जिस उन्नाव रेप पीड़ित को जलाकर मारने की कोशिश की गई, उसकी कल रात दिल्ली में हुई दर्दनाक मौत अति कष्टदायक है। इस दुख की घड़ी में बीएसपी पीड़ित परिवार के साथ है। यूपी सरकार पीड़ित परिवार को समुचित न्याय दिलाने हेतु शीघ्र ही विशेष पहल करे। यही इंसाफ का तकाजा और जनता की मांग है।

उन्होंने दूसरे ट्वीट में लिखा है कि इस किस्म की दर्दनाक घटनाओं को यूपी सहित पूरे देशभर में रोकने हेतु राज्य सरकारों को चाहिए कि वे लोगों में कानून का खौफ पैदा करे तथा केन्द्र भी ऐसी घटनाओं के मद्देनजर दोषियों को निर्धारित समय के भीतर ही फांसी की सख्त सजा दिलाने का कानून जरूर बनाएं।

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी शुक्रवार से लखनऊ में ही थीं। शनिवार को दोपहर वे उन्नाव के लिए निकल चुकी हैं। वहां जाकर पीड़ित परिवार से मिलकर उन्हें सांत्वना देंगी और उन्हें ढाढंस बधाएंगी। उन्होंने ट्वीट किया है कि उन्नाव की पिछली घटना को ध्यान में रखते हुए सरकार को तत्काल पीड़ित को सुरक्षा क्यों नहीं दी गई? जिस अधिकारी ने उसकी एफआईआर दर्ज करने से मना किया, उस पर क्या कार्रवाई हुई? उप्र में रोज रोज महिलाओं पर जो अत्याचार हो रहा है, उसको रोकने के लिए सरकार क्या कर रही है ? मैं ईश्वर से प्रार्थना करती हूं कि उन्नाव पीड़ित युवती के परिवार को इस दुख की घड़ी में हिम्मत दें। यह सबकी नाकामयाबी है कि हम उसे न्याय नहीं दे पाये। सामाजिक तौर पर हम सब दोषी हैं लेकिन यह उत्तर प्रदेश में खोखली हो चुकी कानून व्यवस्था को भी दिखाता है।

Updated : 2019-12-07T19:18:05+05:30
Tags:    

Swadesh Digital ( 0 )

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top