Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > गृहमंत्री और मुख्यमंत्री ने लखनऊ में कई परियोजनाओं का शिलान्यास

गृहमंत्री और मुख्यमंत्री ने लखनऊ में कई परियोजनाओं का शिलान्यास

गृहमंत्री और मुख्यमंत्री ने लखनऊ में कई परियोजनाओं का शिलान्यास
X

लखनऊ। केन्द्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह और मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को कन्वेंशन सेंटर के अटल बिहारी बाजपेई सभागार में लोक निर्माण विभाग की 909 करोड़ रूपये की 326 परियोजनाओं का शिलान्यास किया। इस मौके पर उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य भी उपस्थित थे।

इस मौके पर बोलते हुए राजनाथ सिंह ने कहा कि अटल बिहारी बाजपेई की प्रेरणा से जो मैंने लखनऊ में किया उसकी चर्चा जरूर करूंगा। शहीद पथ की शुरूआत अटल जी ने किया था। निर्माण प्रारम्भ होते ही बड़े पैमाने पर विकास की गतिविधियां शुरू हुई। पिछले 15 वर्षों में प्रतिवर्ष आबादी बढ़ रही है। जनसंख्या के बढ़ते दबाव के कारण लखनऊ का विस्तार होना जरूरी है। आगामी 20 से 30 वर्षों के बाद कैसे हालात होंगे। इसको देखकर इन्फ्रास्ट्रक्चर तैयार किया जा रहा है।

राजनाथ सिंह ने कहा कि लखनऊ में विश्व स्तरीय सुविधाओं को उपलब्ध कराने की कोशिश हो रही है। आउटर रिंग रोट 104 किलोमीटर का है। इसमें करीब 20 किलोमीटर का काम पूरा हो चुका है। गोमतीनगर, चारबाग जंक्शन और आलमबाग में कार्य शुरू हो गया है।

राजनाथ सिंह पुराने लखनऊ में तीन फ्लाईओवर का शिलान्यास किया। 2.8 किमी लंबा पुल चरक चैराहा-हैदरगंज से विक्रम कॉटन मिल रोड तक दो लेन का होगा। 1.61 किमी. लंबाई का बांसमंडी से डीएवी कॉलेज के फ्लाईओवर होगा। तीसरा पुल 16.51 किमी लंबा होगा। हैदरगंज तिराहे होते हुए मीना बेकरी के बीच बनाया जाएगा।गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने तीनों फ्लाईओवर का शिलान्यास किया।

गृहमंत्री ने भूतल एवं परिवहन मंत्री से शहर के नौ मार्गो पर फ्लाईओवर के निर्माण की सिफारिश की थी ताकि शहर को ट्रैफिक जाम की समस्या से निजात दिलाई जा सके। इसमें से तीन को मंजूरी मिल गई है। फ्लाईओवर के बनने से आठ लाख से ज्यादा आबादी को जाम से राहत मिलेगी। खासकर बांसमंडी, नाका, हैदरगंज, विक्टोरिया स्ट्रीट, चारबाग, बाजार खाला, मेडिकल कॉलेज, अशर्फाबाद, राजाजीपुरम, ऐशबाग, आलमनगर, राजेंद्र नगर, मोतीनगर, नक्खास के लोगों को जाम से छुटकारा मिलेगा।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि प्रदेश के अन्दर गड्ढ़ामुक्त सड़कें बनाने का काम प्रदेश सरकार ने किया है। सरकार ने हर क्षेत्र में काम करने का प्रयास किया है। देश के सबसे बड़े राज्य की राजधानी लखनऊ की पहचान सबसे स्वच्छ और सबसे व्यस्थित शहर के रूप में हो। लखनऊ के विकास में सरकार कोई कोर कसर नहीं छोड़ेगी। सरकार हर क्षेत्र में बेहतर काम कर रही है। सरकार जो काम 12 महीने में करके दिखाया है वह काम पिछले 72 वर्षों में नहीं हुआ। राजमार्गों ने प्रदेश के विकास की गति को बढ़ाने का काम किया है। इस मौके पर उप मुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य, डा. दिनेश शर्मा, डा. रीता बहुगुणा जोशी, महानगर अध्यक्ष मुकेश शर्मा उपस्थित थे।

Updated : 2018-08-05T18:35:02+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top