Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > गोलीकांड : लखनऊ में पुलिस की गोली से मारे गए विवेक का अंतिम संस्कार, बड़े भाई ने दी मुखाग्नि

गोलीकांड : लखनऊ में पुलिस की गोली से मारे गए विवेक का अंतिम संस्कार, बड़े भाई ने दी मुखाग्नि

गोलीकांड : लखनऊ में पुलिस की गोली से मारे गए विवेक का अंतिम संस्कार, बड़े भाई ने दी मुखाग्नि
X

लखनऊ/स्वदेश वेब डेस्क। राजधानी लखनऊ में पुलिस की गोली से मारे गए विवेक तिवारी का अंतिम संस्कार रविवार को भैंसाकुंड के बैकुंठ धाम में किया गया। बड़े भाई राजेश तिवारी ने चिता को मुखाग्नि दी। बैकुंठ धाम में सुरक्षा के कड़े प्रबंध किए गए थे। राज्य के विधि एवं न्याय मंत्री ब्रजेश पाठक एवं चिकित्सा शिक्षा मंत्री आशुतोष टंडन ने पीड़ित परिवार को न्याय दिलाने का आश्वासन दिया है।

लखनऊ में शुक्रवार रात करीब पौने दो बजे पुलिसकर्मियों ने एप्पल कम्पनी के एरिया सेल्स मैनेजर विवेक तिवारी की गोली मार हत्या कर दी थी। हत्या की चश्मदीद गवाह सना ने सिपाही प्रशांत व संदीप के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था। पुलिस ने आरोपियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया है।

इस प्रकरण में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने मीडियाकर्मियों से बातचीत में कहा था कि यह दुर्घटना है, एनकाउंटर नहीं। इसके बाद से ही मृतक की पत्नी कल्पना तिवारी अपनी मांग को लेकर धरने पर बैठ गई थीं। उनका कहना था कि मुख्यमंत्री खुद यहां आएं और इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपें।

मुख्यमंत्री ने कहा कि घटना के आरोपितों को जेल भेज दिया गया है और जररूत पड़ी तो सीबीआई जांच कराई जाएगी। इसके बाद भी पीड़ित परिवार मुख्यमंत्री को बुलाने पर अड़ा हुआ था। जिला प्रशासन की ओर से पहुंचे जिलाधिकारी कौशल राज शर्मा के काफी मनाने के बाद परिवार शव का अंतिम संस्कार करने के लिए राजी हो गया।

डीएम के मुताबिक, मृतक की पत्नी को एक माह के भीतर नगर निगम में नौकरी व परिवार की आर्थिक सहायता के लिए 25 लाख रुपये का आश्वासन पत्र दिया गया है। जबकि पीड़िता ने मुख्यमंत्री को पत्र लिखा था, इसमें उसकी मांग थी कि सरकार उसे पुलिस में नौकरी और परिवार की आर्थिक स्थिति को देखते हुए एक करोड़ रुपये मुआवाजा दे। देर रात जिला प्रशासन के आश्वासन पत्र के बाद परिवार के लोग शव का अंतिम संस्कार करने के लिए राजी हो गये थे।

विवेक हत्याकांड में एसआईटी गठित

पुलिस महानिदेशक ओमप्रकाश सिंह ने इस मामले की जांच के लिए लखनऊ के पुलिस महानिरीक्षक सुजीत पांडे के नेतृत्व में विशेष जांच दल (एसआईटी) गठित किया है। इसमें पुलिस अधीक्षक (अपराध) और पुलिस अधीक्षक (ग्रामीण) को शामिल किया गया है। इसके अलावा जिलाधिकारी ने भी इसकी मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दिए हैं।


Updated : 2018-09-30T20:29:37+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top