Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से सीएम योगी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से की बात

हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से सीएम योगी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से की बात

हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से सीएम योगी ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग से की बात
X

लखनऊ। हाथरस गैंगरेप केस और जबरन अंतिम संस्कार को लेकर मचे घमासान के बीच सीएम योगी आदित्यनाथ ने पीड़ित परिवार से बात की। सीएम योगी ने पीड़िता के पिता से विडियो कॉलिंग के जरिए बात की। इस दौरान उन्होंने दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का आश्वासन दिया। साथ ही सरकार की तरफ से पीड़िता के परिवार को 25 लाख रुपये के मुआवजे का ऐलान किया गया है।

अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी ने जानकारी देते हुए बताया, 'मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने हाथरस के पीड़ित परिवार से वीडियो कॉलिंग से बात की। लड़की के पिता ने मुख्यमंत्री से आरोपियों के खिलाफ कठोरतम कार्रवाई की मांग की। मुख्यमंत्री ने लड़की के पिता से बात करते हुए दोषियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई का भरोसा दिया और प्रशासन को हर संभव मदद के निर्देश दिए।'

गैंगरेप पीड़िता की मौत और देर रात को हुए अंतिम संस्कार को लेकर लोगों में काफी आक्रोश है। वहीं राज्य की योगी सरकार विपक्ष के निशाने पर है। देर रात हुए अंतिम संस्कार को लेकर विपक्ष का कहना है कि पुलिस ने साक्ष्य को मिटाने के लिए परिजनों की गैरमौजूदगी में अंतिम संस्कार कर दिया। वहीं पुलिस और प्रशासन ने इन आरोपों को खारिज कर दिया है।

एडीजी प्रशांत कुमार ने कहा कि मंगलवार सुबह पीड़िता की मृत्यु हो गई थी। देर रात पोस्टमार्टम के बाद जब शव पहुंचा तो परिवार वालों की सहमति से और उनकी उपस्थिति में अंतिम संस्कार कराया गया था। प्रशांत कुमार ने काह कि कुछ महिलाओं द्वारा आरोप लगाए हए हैं, परंतु सत्य यही है कि उनकी उपस्थिति से और सहमति से ही अंतिम संस्कार कराया गया था। शांति व्यवस्था के लिए वहां पुलिस उपस्थित थी। एडीजी ने कहा कि पीड़िता की डेड बॉडी खराब हो रही थी, इसलिए घर के लोगों ने सहमति जातई थी कि रात को ही अंतिम संस्कार कर देना उचित होगा।

रात में किए गए अंतिम संस्कार पर हाथरस के जिला अधिकारी ने कहा कि रात को करीब 12:45 बजे पीड़िता का शव लाया गया। मेरी पीड़िता के पिता और भाई से बात हुई थी और उन्होंने सहमति दी थी कि रात को ही अंतिम संस्कार ​कर दिया जाए। करीब एक से सवा घंटे तक शव वाहन उनके घर पर खड़ा रहा और अंतिम संस्कार के दौरान परिजन वहां पर उपस्थित थे। उन्होंने बताया कि करीब 3 बजे पीड़िता का अंतिम संस्कार किया गया।

Updated : 2020-09-30T18:55:52+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top