Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > योगी आदित्यनाथ का सपा पर तंज, कहा - 5 साल पहले प्रदेश में दंगा, भ्रष्टाचार का माहौल था

योगी आदित्यनाथ का सपा पर तंज, कहा - 5 साल पहले प्रदेश में दंगा, भ्रष्टाचार का माहौल था

मुख्यमंत्री ने पीलीभीत, महराजगंज, गोरखपुर में की रैली

योगी आदित्यनाथ का सपा पर तंज, कहा - 5 साल पहले प्रदेश में  दंगा, भ्रष्टाचार का माहौल था
X

पीलीभीत/गोरखपुर। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज पीलीभीत और गोरखपुर में विभिन्न विकास परियोजनाओं का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया। मुख्यमंत्री ने समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा की पांच वर्ष पहले अराजकता, दंगा, गुंडागर्दी, भ्रष्टाचार का माहौल था। प्रदेश के युवाओं के सामने उनकी पहचान का संकट था।

आज प्रदेश में दंगा नहीं हो सकता है, क्योंकि दंगाइयों को मालूम है कि उनकी सात पीढ़िया भरपाई करते-करते थक जाएंगी। पहले की सरकार में जब भी नौकरी निकलती थी तो वह विवादित रहती थी। न्यायालय को रोक लगानी पड़ती थी। नौजवान ठगा सा रह जाता था। पीलीभीत की बांसुरी कभी भगवान कृष्ण बजाया करते थे, लेकिन पिछली सरकार ने इसे भुला दिया था। आज हमारी सरकार ने एक जनपद एक उत्पाद के माध्यम से उस बांसुरी को पूरी दुनिया में पहुंचा दिया।गरीब के हक का जो पैसा पहले सत्ता की जेब में जाता था वह हमारी सरकार में जेसीबी से निकाला जा रहा है। आपने पहाड़ देखा होगा लेकिन नोटों का पहाड़ भी आपको देखने को मिला होगा।

इससे पहले गोरखपुर में एक सभा को संबोधित किया। वहां उन्होंने कहा की आज फर्क साफ है, 2014 से पहले देश के अंदर वातावरण क्या था और 2014 के बाद इसमें कितना परिवर्तन हुआ है, यह किसी से छिपा हुआ नहीं है। उत्तर प्रदेश की पिछली सरकारें प्रदेश में दंगाइयों को प्रश्रय देती थीं, अराजकता को बढ़ावा देती थीं, प्रदेश को परिवारवाद की जागीर मानकर उत्तर प्रदेश को अराजकता की आग में झोंकने का काम कर रही थीं। पिछली सरकार में गरीब को आवास का पैसा नहीं मिलता था। इसका पैसा कहां जाता था, सब जानते हैं। भाजपा सरकार आने के बाद साढ़े चार वर्ष में 43 लाख गरीबों को आवास दिया गया।

सरकार तो वही है, चेहरे बदले हैं। 2017 से पहले गरीब का पैसा कहां जाता था ? उस समय की सरकार में जो बैठे हुए थे, गरीब का पैसा हड़प जाते थे। भारतीय जनता पार्टी ने जो कहा वो कर के दिखाया है। वो चाहे गरीब कल्याणकारी योजनाएं हों, हाइवे हों या स्वास्थ्य की सुविधाओं का हों, जनता तक पहुंचाया। साथ ही राष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर जो कहा था, वो भी किया। 2017 के बाद गोरखपुर में जो विकास हुआ उसने देश-दुनिया की गोरखपुर के प्रति धारणा को बदलने का काम किया है।



Updated : 2022-01-01T14:28:32+05:30

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top