Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > अखिलेश यादव के करीबी पूर्व विधायक नहीं दे सके 23 करोड़ का हिसाब, केस दर्ज

अखिलेश यादव के करीबी पूर्व विधायक नहीं दे सके 23 करोड़ का हिसाब, केस दर्ज

अखिलेश यादव के करीबी पूर्व विधायक नहीं दे सके 23 करोड़ का हिसाब, केस दर्ज
X

File photo

लखनऊ। आय से अधिक संपत्ति के मामले में चल रही जांच में 23 करोड़ रुपये हिसाब न दे पाने के चलते गरौठा विधानसभा क्षेत्र के पूर्व विधायक बुरी तरह फंस गए हैं। इसका संतुष्ट जबाव न दे पाने के कारण पूर्व विधायक दीप नारायण सिंह यादव के खिलाफ आय से अधिक संपत्ति के मामले में सतर्कता अधिष्ठान विभाग ने मुकदमा दर्ज करा दिया है।

सतर्कता विभाग अधिष्ठान झांसी से शम्भू तिवारी ने रिपोर्ट दर्ज कराते हुए बताया कि दीप नारायन सिंह यादव निवासी बुढावली हाल निवासी शिवाजी नगर झांसी पर आरोप था कि वह दो बार विधायक रह चुके हैं और इस दौरान उन्होंने अवैध कार्य के द्वारा अरबों खरबों की संपत्ति एकत्रित की है। इस पर शासन के निर्देश पर खुली जांच कराई गई। जिसने सतर्कता अधिष्ठान विभाग ने माना कि विधायक के ज्ञात व वैध श्रोतों से उनके द्वारा कुल 14 करोड़ 30 लाख 31 हजार 444 रुपये अर्जित किए गए। जबकि उनके द्वारा व्यय की गई राशि 37 करोड़ 32 लाख 55 हजार 844 रुपया बताया गया। जब उनसे पूंछा गया कि वह शेष 23 करोड़ 02 लाख 24 हजार 400 रुपये कहां से लाए तो वह कोई संतुष्टि भरा जबाब नहीं दे सके और न ही वह इसका कोई प्रमाण दिखा सके।

एफआईआर में बताया गया कि 23 करोड़ से अधिक आय के अनुपात में अधिक व्यय किया गया जो उनकी ज्ञात व वैध श्रोतो से अर्जित आय से अनानुपातिक है। इस अनानुपातिक व्यय का परिसंपत्तियों के अर्जन के संबंध में दीपनारायण सिंह यादव द्वारा कोई संतोषजनक स्पष्टीकरण प्रस्तुत नही किया गया। इस पर सतर्कता विभाग ने उनके खिलाफ भ्रष्टाचार अधिनियम के तहत मुकदमा दर्ज कराया और कार्रवाई शुरू कर दी है।

हमारा नेता बेदाग, हो निष्पक्ष जांच -

इस संबंध में समाजवादी पार्टी के निवर्तमान जिलाध्यक्ष महेश कश्यप ने बताया कि हमारे नेता बेदाग है। अगर निष्पक्ष जांच हो तो दूध का दूध पानी का पानी हो जाएगा। यदि उन्होंने व्यापार किया है तो उन्होंने टैक्स भी भरा है। बावजूद इसके कोई विपक्ष में सशक्त रूप से खड़ा न रह सके इसलिए भारतीय जनता पार्टी सपा को तोड़ने में जुटी है।

Updated : 2022-08-06T00:13:30+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top