Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > लखनऊ > कांग्रेस ने बृजलाल खाबरी को बनाया प्रदेश अध्यक्ष, कहा- सभी को साथ लेकर चलेंगे

कांग्रेस ने बृजलाल खाबरी को बनाया प्रदेश अध्यक्ष, कहा- सभी को साथ लेकर चलेंगे

कांग्रेस ने बृजलाल खाबरी को बनाया प्रदेश अध्यक्ष, कहा- सभी को साथ लेकर चलेंगे
X

लखनऊ।कांग्रेस की उत्तर प्रदेश इकाई को शनिवार को नया अध्यक्ष मिल गया। पार्टी की अंतरिम राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने बसपा से कांग्रेस में आये बृजलाल खाबरी के नाम पर मुहर लगा दी। इसके साथ ही छह क्षेत्रीय अध्यक्षों की भी घोषणा की गई है। क्षेत्रीय अध्यक्षों में पूर्व मंत्री नसीमुद्दीन सिद्दीक़ी, पूर्व विधायक अजय राय, नकुल दुबे, विधायक विरेंद्र चौधरी, अनिल यादव (इटावा) और योगेश दीक्षित का नाम शामिल है।

कांग्रेस संगठन को प्रभावी बनाने की दृष्टि से उत्तर प्रदेश को छह क्षेत्रों में बांटा गया है- पश्चिम, ब्रज, अवध, बुंदेलखंड, प्रयाग और पूर्वांचल। हर क्षेत्र में प्रभारी के रूप में राष्ट्रीय सचिवों की तैनाती महासचिव प्रियंका गांधी ने पहले ही कर दी है। अब हर क्षेत्र में एक अध्यक्ष भी होगा।नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष खाबरी 2016 में बसपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए थे। उन्हें संगठन का पुराना अनुभव है। वह बसपा के जोनल कोऑर्डिनेटर भी रह चुके हैं। वह जालौन-गरौठा से सांसद रहे हैं। इसके अलावा वे राज्यसभा सदस्य भी रह चुके हैं। उनके पास संगठन का एक लम्बा अनुभव है। सिर्फ़ इतना ही नहीं घोषित किए गए क्षेत्रीय अध्यक्षों में नकुल दुबे, अजय राय, नसीमुद्दीन सिद्दीक़ी और विरेंद्र चौधरी के पास भी चुनावी राजनीति का लम्बा अनुभव है। दूसरी तरफ़ योगेश दीक्षित और अनिल यादव के पास एनएसयूआई और यूथ कांग्रेस की मजबूत पृष्ठभूमि रही है।

बृजलाल खाबरी ने कहा कि मैं इस भूमिका के लिए तैयार हूं। कांग्रेस सभी को साथ लेकर चलती है। हम धर्म और जाति के आधार पर भेदभाव नहीं करते। दलित प्रदेश अध्यक्ष होने पर उन्होंने कहा कि पार्टी ने आज की जरूरत को ध्यान में रखकर निर्णय लिया है। प्रदेश में कांग्रेस को लेकर चुनौतियों पर उन्होंने कहा कि राजनीतिक हालात बदलते रहते हैं। पहले हम सत्ता में थे। अब नहीं हैं। ये लड़ाई देश और संविधान बचाने की है और हम सभी को साथ लेकर चलें। कांग्रेस ने बृजलाल खाबरी को प्रदेश अध्यक्ष बनाकर दलित समाज में मेसेज दिया है। वहीं प्रांतीय अध्यक्षों में दो ब्राह्मण, एक मुस्लिम, एक भूमिहार और दो पिछड़ी जाति से हैं। उल्लेखनीय है कि प्रदेश अध्यक्ष का पद विधानसभा चुनाव के बाद से ही खाली चल रहा था।

Updated : 2022-11-04T13:51:10+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top