Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > आगरा > वीवीपैट और बैलेट यूनिट में मिली गड़बड़ी

वीवीपैट और बैलेट यूनिट में मिली गड़बड़ी

वीवीपैट और बैलेट यूनिट में मिली गड़बड़ी
X

आगरा। आगरा में लोकसभा चुनाव के मतदान के लिए भेजी गईं ईवीएम (इलेक्ट्रानिक वोटिंग मशीन) और वीवीपैट (वोटर वेरीफाएबल पेपर ऑडिट ट्रेल) की एफएलसी (फस्र्ट लेवल चेकिंग) पूरी हो गई है। इसमें 180 वीवीपैट, 46 सीयू (कंट्रोल यूनिट) और 158 बीयू (बैलेट यूनिट) खराब निकली हैं। लोकसभा चुनाव से पहले इन मशीनों में इतनी बड़ी गड़बड़ी के पकड़े जाने के बाद अब इन्हें बदलवाने की तैयारी की जा रही है। स्थानीय निर्वाचन विभाग ने चुनाव आयोग को इसके बारे में अवगत करा दिया है।

बता दें कि आगामी लोकसभा चुनाव को लेकर प्रशासनिक स्तर पर तैयारियां शुरू कर दी गई हैं। इस बार जिले में नई ईवीएम से मतदान होगा। इसके लिए अत्याधुनिक एम-थ्री ईवीएम भेजी गई हैं। 6227 बीयू, 4677 सीयू और 4920 वीवीपैट को आगरा-फिरोजाबाद हाईवे स्थित मंडी समिति में रखा गया। यहां पिछले दिनों इनकी एफएलसी हुई। 15 से अधिक इंजीनियरों की टीम ने इनका परीक्षण किया। इसके बाद विभिन्न राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों के समक्ष इनसे वोट डालकर भी देखे गए। परीक्षण की लंबी प्रक्रिया से इनको गुजारा गया। ताकि मतदान के समय पर ईवीएम पर कोई सवाल न उठा सके। इस परीक्षण में कुछ ईवीएम और वीवीपैट खराब मिली हैं। सहायक जिला निर्वाचन अधिकारी भारत सिंह ने बताया कि एफएलसी पूरी हो चुकी है। कुछ वीवीपैट और बीयू, सीयू खराब निकली हैं। इनको बदलवाने की प्रक्रिया शुरू कर दी गई है।

क्या है वीवीपैट?

ईवीएम के जरिये आपने जिस प्रत्याशी को मतदान किया था, मतदान उसी को हुआ या नहीं, इसको देखने के लिए वीवीपैट के जरिये पर्ची निकाली जा सकती है। इसमें आप देख सकेंगे कि आपका मतदान सही हुआ है या नहीं। इस बार यह व्यवस्था जिले के हर बूथ पर होगी।

सपा ने किया था बहिष्कार

एफएलसी का सपा ने बहिष्कार किया था। पार्टी के प्रतिनिधि एक भी दिन प्रक्रिया में शामिल नहीं हुए। निवर्तमान जिलाध्यक्ष रामसहाय यादव का कहना था कि पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के निर्देश पर यह निर्णय लिया गया था। उनका कहना है कि पार्टी चाहती है कि बैलट पेपर से चुनाव हो।


Updated : 2019-03-08T00:01:07+05:30

Naveen

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Next Story
Share it
Top