Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > आगरा > बंदरों का आतंक रोकने को खर्च किए जाएंगे 55 करोड़

बंदरों का आतंक रोकने को खर्च किए जाएंगे 55 करोड़

बंदरों का आतंक रोकने को खर्च किए जाएंगे 55 करोड़
X

आगरा। उत्पाती बंदरों पर लगाम लगाने के लिए तैयारी शुरू हो गई है। इन्हें पकडक़र 30 एकड़ क्षेत्र में रखा जाएगा। इस पर 55 करोड़ रुपये से अधिक खर्च करने की तैयारी है। वाइल्ड लाइफ एसओएस के इस प्रस्ताव पर मंडलायुक्त अनिल कुमार ने जिलाधिकारी एनजी रवि कुमार से रिपोर्ट मांगी है।

शहर में बंदरों का आतंक लगातार बढ़ता जा रहा है। तमाम क्षेत्रों के साथ ताजमहल व अन्य स्मारकों पर बंदर लोगों को अपना शिकार बना रहे हैं। स्थिति यह है कि देसी-विदेशी पर्यटकों का ताजमहल में भ्रमण करना मुश्किल हो गया है। पुरानी कालोनियों में बंदरों के झुंड ने लोगों का राह चलना मुश्किल कर दिया है। तमाम क्षेत्र ऐसे हैं, जहां लोगों ने अपने घरों की छतों पर जाना छोड़ दिया है। ताज और अन्य स्मारकों पर बंदरों के उत्पात से शहर की छवि देश ही नहीं विदेश में भी प्रभावित हो रही है। पिछले दिनों मंडलायुक्त ने बंदरों पर लगाम लगाने के लिए योजना तैयार करने को कहा था। इस पर वाइल्ड लाइफ एसओएस ने 55 करोड़ रुपये का प्रस्ताव तैयार किया है। इससे 30 एकड़ क्षेत्र में उत्पाती बंदरों के लिए रेस्क्यू सेंटर खोलने की योजना है। इसमें बंदरों को रखा जागा। मंडलायुक्त ने डीएम से इस पर उनकी रिपोर्ट तलब की है। उनकी हरी झंडी मिलते ही उत्पाती बंदरों पर लगाम लगाने की कवायद शुरू होगी।




Updated : 2019-01-21T20:59:33+05:30

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top