Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > आगरा > कांग्रेस समर्थक युवाओं ने ताजमहल में की प्रधानमंत्री के खिलाफ नारेबाजी

कांग्रेस समर्थक युवाओं ने ताजमहल में की प्रधानमंत्री के खिलाफ नारेबाजी

- राहुल गांधी जिंदाबार और चौकीदार चोर के नारों से गूंजा ताजमहल

कांग्रेस समर्थक युवाओं ने ताजमहल में की प्रधानमंत्री के खिलाफ नारेबाजी
X
ताजमहल में बैनर लेकर प्रदर्शन करते कांग्रेस समर्थक युवा।

- राहुल संदेश यात्रा के तहत पहुंचे थे ताजमहल
-12 छात्रों को हिरासत में लिया और माफीनाम लिखवाकर छोड़ दिया

आगरा। सोमवार शाम ऐतिहासिक इमारत ताजमहल में प्रधानमंत्री मुर्दाबाद के नारे गूंज उठे। राहुल संदेश यात्रा के तहत ताजनगरी पहुंचे कांग्रेसियों ने राफेल मामले पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अनिल अंबानी का ताजमहल से विरोध जताया। इस दौरान बैनर और पोस्टर के साथ ताजमहल के अंदर प्रधानमंत्री मोदी के खिलाफ जमकर नारेबाजी भी की गई। ताजमहल के सेंट्रल टैंक पर भाजपा के खिलाफ प्रदर्शन किया गया। इससे सुरक्षा एजेंसियों के होश उड़ गए। जब तक कांग्रेसियों को रोका जाता, तब तक उनके प्रदर्शन का उद्देश्य पूरा हो चुका था। ताजमहल के अंदर विरोध-प्रदर्शन की सूचना मिलते ही भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (एएसआई) और केन्द्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ) कर्मियों के होश उड़ गए। एसआईआई और सीआईएसएफ के अधिकारी मौके पर पहुंच गए। विरोध प्रदर्शन कर रहे सभी लोगों को हिरासत में ले लिया।

जेपीसी की मांग

ताजमहल पर प्रदर्शन कर रहे कांग्रेसी मृत्युंजय ने बताया कि राफेल डील में सुप्रीम कोर्ट से क्लीन चिट मिलने के बाद बीजेपी आज 200 शहरों में एक साथ प्रेस वार्ता कर सरकार की पीठ थपथपाने का काम कर रही है। इसी के विरोध में ताजमहल पर विरोध प्रदर्शन किया जा रहा है। राफेल डील में जांच होने के बाद प्रधानमंत्री और अंबानी बंधु की कलई खुल जाएगी। इसी कारण जेपीसी जांच से सरकार बच रही है।

12 छात्रों को लिया हिरासत में

बताया जाता है कि ताजमहल के अंदर केंद्र सरकार और प्रधानमंत्री के खिलाफ विरोध प्रदर्शन करने वाले कांग्रेस के छात्र संगठन एनएसयूआई से जुड़े हुए हैं। ताजमहल में विरोध प्रदर्शन करने वाले छात्रों का कहना था कि राफेल मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को साफ सुथरा बता रही है। इस पूरे मामले पर जेपीसी द्वारा जांच की जानी चाहिए, जिससे दूध का दूध और पानी का पानी हो जाए। बलिया से राहुल गांधी संदेश यात्रा शुरू की गई थी आगरा में 21वां पड़ाव है। ताजमहल में विरोध प्रदर्शन करने वाले सभी 12 छात्रों को हिरासत में लेने के बाद पुलिस को भी मौके पर बुलाया गया बाद में सभी छात्रों से माफीनामा लिखवा कर उन्हें वहीं से छोड़ दिया गया।

Updated : 2019-01-05T14:38:38+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top