Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > आगरा > मोटर्स ट्रांसपोर्ट के चक्का जाम से उद्योगों पर गहरा असर

मोटर्स ट्रांसपोर्ट के चक्का जाम से उद्योगों पर गहरा असर

चक्का जाम के पांचवे दिन भी नहीं हुई लोडिंग-अनलोडिंग व्यापारियों को करोड़ों का नुकसान, कच्चा माल बाहर से न आने पर रूका उत्पादन यदि हड़ताल लंबी चली तो त्यौहार पर बढ़ेगी महंगाई

मोटर्स ट्रांसपोर्ट के चक्का जाम से उद्योगों पर गहरा असर
X

आगरा। संजय गांधी ट्रांसपोर्ट नगर, नई दिल्ली में ऑल इण्डिया मोटर्स ट्रांसपोर्ट कॉग्रेज द्वारा मंगलवार को पांचवे दिन भी हड़ताल जारी रखी। जिसके कारण उद्योग-व्यापार पर गहरा असर दिखने लगा है। ऑल इण्डिया मोटर्स ट्रांसपोर्टर्स कांग्रेस के कार्यकारिणी सदस्य, व आगरा में ट्रांसपोर्टस एसो. के अध्यक्ष वीरेंद्र गुप्ता आगरा से इस हड़ताल में सक्रिय रूप से भाग ले रहे हैं।

उन्होंने बताया कि मंगलवार पांचवे दिन भी कारखानों से कोई भी लोडिग़-अनलोडिंग न होने से व्यापारियों को करोड़ों का नुकसान हो रहा है। कच्चा माल बाहर से न आने के कारण उत्पादन गतिविधि प्रभावित हो रही है तथा माल बाहर न जाने से उत्पादन से गोदाम भर चुके हैं। हड़ताल में मांग की गई है कि व्यापारियों, ट्रांसपोर्टरों एवं आम जनता के हितों को ध्यान रखते हुए सरकार को शीघ्र समाधान की आवश्यकता है।

सरकार को चेतावनी दी गई है कि यदि यह हड़ताल लंबे समय तक खीच जाती है तो इसका असर राखी के त्यौहार पर पड़ेगा। उन्होंने सरकार से मांग करी है कि जनहित की मांगों जैसे डीजल एवं पैट्रोल की मूल वृद्धि हो कम करना, मूल्य में जीएसटी को शामिल करना, टॉल फ्री की मांग आदि को शीघ्र मान लेना चाहिए। ट्रांसपोटर्स सरकार को राजस्व देना चाहते है किन्तु प्रणाली में परिवर्तन की मांग कर रहे है। जिससे उनके वाहन बैरियर पर न रोंकें जाए।

वर्जन

ऑल इण्डिया मोटर्स ट्रांसपोर्टर्स द्वारा जो मांगे हैं, वह उचित हैं। सरकार को यह मांगें जनहित में शीघ्र मान लेना चाहिए, जिससे उद्योग एवं व्यापार को हो रहे नुकसान से बचा जा सके।

राजीव तिवारी, अध्यक्ष नेशनल चैम्बर, आगरा।

Updated : 2018-07-25T16:56:53+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top