Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > आगरा > 'अक्षर मिश्रा' की पुस्तक से जीवंत हो उठा 'बाल साहित्य'

'अक्षर मिश्रा' की पुस्तक से जीवंत हो उठा 'बाल साहित्य'

- प्रिल्यूड पब्लिक स्कूल के छात्र की पुस्तक का विमोचन

आगरा। हर व्यक्ति के अंदर प्रतिभा छिपी होती है, बस उसे अभिव्यक्त करने के लिए उचित वातावरण का मिलना आवश्यक होता है। ऐसी ही प्रतिभा का धनी है प्रिल्यूड पब्लिक स्कूल का कक्षा चार का अक्षर मिश्रा। गुरूवार को प्रिल्यूड पब्लिक स्कूल परिसर में अक्षर मिश्रा की पुस्तक 'डजन स्परिंग टेल्स' का विमोचन हुआ। उसके द्वारा विद्यालय की विभिन्न गतिविधियों और कार्यां को कहानियों के माध्यम से रोचक तरीके से एकत्र किया गया है। इस आयोजन का मूल उद्देश्य अन्य छात्रों को भी प्रेरित करना है।



पर्यावरण के प्रति अपनी सजगता को अभिव्यक्त करते हुए विद्यालय की परंपरा का निर्वहन करते हुए सभी अतिथिगणों का विद्यालय के निदेशक डॉ. सुशील गुप्ता एवं श्याम बंसल ने नवांकुर भेट कर उनका स्वागत किया। ज्ञान के प्रकाश स्वरूप दीप प्रज्वलन के उपरांत विद्यालय की प्राचार्या याचना चावला ने सभी अतिथियों से अक्षर मिश्रा का परिचय कराया। उन्होंने अक्षर मिश्रा की सृजनात्मकता की प्रशंसा करते हुए उसकी इस उपलब्धि पर उसको बधाई व शुभकामनाएँ दीं। उन्होंने यह भी कहा अक्षर का यह प्रयास भविष्य में अन्य छात्रों को प्रेरित करेगा। अक्षर को बचपन से ही किताबों से लगाव था और अब तक वह 250 किताबें पढ़ चुका है। उसका अपना किताबों का संग्रह हैं। इस अवसर पर अमित शंकर (लेखक और ग्रेट इंडियन लिट्ररी फेस्टिवल के संस्थापक) मुख्य अतिथि, गौरव शर्मा लाखी (लेखक) सलीम आरिफ (लेखक, निदेशक और डिजाइनर) विशिष्ट अतिथि थे। डॉ. शिवानी चतुर्वेदी (स्त्री रोग विशेषज्ञ एवं बुक क्लब की संस्थापक) सभापति के रूप में उपस्थित थी। कार्यक्रम में अक्षर मिश्रा के पिता विख्यात शिक्षाविद् शब्द मिश्रा व माता एड. नम्रता मिश्रा भी उपस्थित रहीं। कार्यक्रम का संचालन शिक्षिका मोना काबरा ने किया।

Updated : 11 April 2019 3:32 PM GMT

स्वदेश आगरा

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top