Top
Home > Lead Story > पीएम मोदी ने भोजपुरी में बोल जीता मिर्जापुर का दिल, कहा आस्था की धरती का चौतरफा विकास हमारी प्रतिबद्धता

पीएम मोदी ने भोजपुरी में बोल जीता मिर्जापुर का दिल, कहा आस्था की धरती का चौतरफा विकास हमारी प्रतिबद्धता

पीएम मोदी ने भोजपुरी में बोल जीता मिर्जापुर का दिल, कहा आस्था की धरती का चौतरफा विकास हमारी प्रतिबद्धता
X

मिर्जापुर/वाराणसी। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अन्तिम दिन रविवार को भी मिर्जापुर में भोजपुरी से अपने सम्बोधन की शुरूआत कर लोगों का दिल जीत लिया। आजमगढ़, वाराणसी के बाद चंदईपुर में आयोजित विशाल जनसभा में प्रधानमंत्री ने लोगों से सीधे जुड़ने के लिए अपने खास अंदाज में कहा 'हमरे बदे गर्व का बात बा कि जगत जननी मां विन्ध्यवासिनी के गोदी में आइल बानी। आप लोग इतनी देर से हमके जोहत रहला, एकरे खातिर पांव छुकर प्रणाम करत बानी। हमके विश्वास हो गयल कि मां विन्घ्यवासिनी क कृपा हमके बा। साथ ह आप लोगन क कृपा ऐसे ही बनल रही। प्रधानमंत्री ने पूर्वांचल में आमजन से सीधे जुड़ने के साथ लोगों को गौरव बोध का भी एहसास कराया।

कहा कि यह पूरा क्षेत्र दिव्य और अलौकिक है। विंध्य पर्वत और भागीरथी के बीच बसा यह क्षेत्र बरसों से अपार संभावनाओं का केंद्र रहा है। इन्हीं संभावनाओं और विकास कार्यों के बीच मुझे आपका आशीर्वाद प्राप्त करने का सौभाग्य मिला है। मार्च में जब मैं यहां सोलर प्लांट का उद्घाटन करने आया था तब मेरे साथ फ्रांस के राष्ट्रपति भी थे। तब स्वागत माता की तस्वीर और चुनरी से हमारा स्वागत हुआ और मैंक्रो अभिभूत हो गए। मां की महिमा को जानकर प्रभावित हुए। आस्था की धरती का चौतरफा विकास हमारी प्रतिबद्धता है।

प्रधानमंत्री ने सभा में साफ कर दिया कि पूर्वांचल के इस पिछड़े में विकास की गंगा बहाने के साथ रोजगार, स्वास्थ्य और परिवहन सेवाओं के विस्तार के लिए भी संकल्पित है।

कहा कि पूरा क्षेत्र दिव्य अलौकिक है, यहां सदियों से अपार सम्भावनाओं का केन्द्र रहा है, इसके बावजूद पिछली सरकारों ने क्षेत्र को उपेक्षित रखा। लोगों को सोनेलाल पटेल के सपने को याद दिलाकर किसानों, दलितों व पिछड़ों को साधते हुए कहा कि बाण सागर परियोजना के बाद जिले की अटकी परियोजनाओं में से सरयू नहर परियोजना और मध्य गंगा सागर परियोजना पर भी अब तेजी से काम चल रहा है।

प्रधानमंत्री ने सपा बसपा के महागठबंधन के प्रति लोगों को आगाह कर कहा कि बरसों पहले जो सुविधा आपको मिलनी चाहिए थी, वो तो मिली नहीं, देश को भी आर्थिक नुकसान हुआ। 300 करोड़ की बाणसागर परियोजना यदि तब बन जाती तो अब साढ़े तीन हजार करोड़ रुपये न खर्च होता। फिर खुद सवाल पूंछा इसमें पैसे की बर्बादी है कि नहीं, आपको हक से वंचित रखा गया की नहीं? जो लोग आज किसानों के लिए घडिय़ाली आंसू बहाते हैं उनसे पूछना चाहिए कि ऐसी सिंचाई परियोजनाएं उन्हें क्यों नजर नहीं आईं।

पूरे देश में, कई राज्यों में ऐसी अटकी, लटकी और भटकी परियोजनाएं हैं। प्रधानमंत्री ने आजमगढ़ में पूर्वांचल एक्सप्रेस वे,वाराणसी में पेरीशेरेबल कार्गो सेंटर, रेलवे सहित अन्य विकास कायो को गति देने की बात कही। भरोसा दिया कि मिर्जापुर में बनने वाले मेडिकल कालेज में पांच सौ बेड का अस्पताल बनेगा तो उनकी स्वास्थ्य सम्बन्धी समस्याओं में आसानी रहेगी। प्रधानमंत्री ने लोगों को 'आयुष्मान योजना और बीमा योजना' से जुड़ने का आह्वान कर इन योजनाओं का लाभ लेने की अपील भी लोगों से की। माना जा रहा हैं कि मिशन 2019 फतह में प्रधानमंत्री का यह अंदाज मिल का पत्थर साबित होगा।

Updated : 2018-07-15T21:25:35+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top