Top
Home > स्वदेश विशेष > कोरोना : भारत में धीमी शुरुआत के साथ अब तेजी से बढ़ रहे हैं आकड़ें

कोरोना : भारत में धीमी शुरुआत के साथ अब तेजी से बढ़ रहे हैं आकड़ें

कोरोना : भारत में धीमी शुरुआत के साथ अब तेजी से बढ़ रहे हैं आकड़ें

नई दिल्ली/ वेबडेस्क कोरोना वायरस वैश्विक स्तर पर फ़ैल रहा है। यह वायरस चीन से निकल कर पूरे विश्व में तेजी से फैला है। Covid -19 वायरस चीन से निकलकर अमेरिका, इटली, दक्षिण कोरिया ईरान, ब्रिटेन, आदि देशों के बाद भारत में कहर बरपा रहा है। विश्व के लगभग सभी देशो में कोरोना अपनी उपस्थिति दर्ज करा चूका है। इस बीमारी की वजह से अब तक लाखों लोग संक्रमित हो चुके है, जबकि हजारों लोगों की मौत हो गई है। इस वायरस द्वारा विश्व स्तर पर मचाये जा रहे कोहराम और हजारों की तादाद में मरने वालो की संख्या देख विश्व स्वस्थय संगठन ने इसे महामारी घोषित कर दिया हैं।

भारत में इस वायरस के संक्रमितों की संख्या अन्य देशों की तरह ही बहुत ही तेजी से बढ़ रहे है।

- देश में 29 फरवरी इस बीमारी के मरीजों की संख्या महज 3 थी।

- एक महीने में बढ़कर 1251 पर पहुंच गई है।

साथ ही, इस महामारी से देश में 102 लोग पूरी तरह से ठीक हो गए हैं, वही अब तक 32 लोगों की मौत हो चुकी है।

- सबसे ज्यादा संक्रमितों की संख्या महाराष्ट्र में है। वही केरल दूसरे नंबर है जहां सेबसे ज्यादा मरीज है। आंकड़ों के हिसाब से पिछले एक महीने पहले तक देश में सिर्फ 3 ही मरीज थे। शुरूआती पहले हफ्ते में मरीजों की संख्या में बहुत धीरे बढ़ोत्तरी हुई और

- 05 मार्च तक यह आकड़ा 30 पर पहुचं गया था। पहले पांच दिनों में जहां मरीजों की संख्या में 10 गुना बढ़ोतरी हुई थी।

वही अगले पांच दिनों में इस संख्या में दोगनी गति से इजाफा हुआ और यह संख्या 10 मार्च आते-आते यह आकड़ा 65 पर पहुँच गया। कोरोना संक्रमितों की संख्या अगले पांच दिनों में बढ़कर यह संख्या 15 मार्च तक बढ़कर 113 हो गई। इसके बाद लगातार यह आकड़ा तेजी से बढ़ता चला गया। इसके बाद आने वाले सभी हफ्तों में यह संख्या दोगनी गति से बढ़ती चली गई। 20 मार्च तक यह संख्या बढ़कर 258 हो गई। 20 - 25 मार्च में लगभग - 20% की बढ़ोतरी हुई है जिसमे 657 मामले सामने आये। उसके बाद 25- 30 मार्च के बीच लगभग - 50 % की दर से बढ़ोत्तरी हुई। 30 मार्च तक यह आकड़ा बढ़कर 1328 पर पहुंच गया।

कोरोना के लक्षण -

कोरोना संक्रमितों में बुखार, सूखी खांसी, बदन में दर्द, गले में खराश और सिर दर्द भी हो सकता है।विशेषज्ञों के अनुसार कुछ मामलों में मरीजों ने डायरिया की शिकायत की। वही कुछ मामलों में कोरोना पीड़ितों ने गंध समझने में ना आनेकी शिकायत की। कई मामलों में में कुछ मरीजों में कोरोना संक्रमित होने के बाद भी उसमे कोई लक्षण नज़र ही नहीं आता और यह भी पता नहीं चलता कि वह संक्रमित है। डब्लूएचओ के बताये अनुसार 88 फीसदी संक्रमितों में बुखार, 68 फीसदी को खांसी और कफ, 38 फीसदी को थकान, 18 फीसदी को सांस लेने में तकलीफ, 14 फीसदी को शरीर और सिर में दर्द, 11 फीसदी को ठंड लगना और 4 फीसदी में डायरिया के लक्षण मिले हैं।

क्या है वायरस -

विज्ञान के अनुसार वायरस सजीव एवं निर्जीव के बीच की कड़ी है, जीवन के ठीक पहले की उत्पत्ति है। विशेषज्ञों के अनुसार जब सृष्टि का निर्माण हुआ होगा तब जिस जीव की उत्पत्ति हुई होगी, इसकी संरचना वायरस के सामान ही होगी। वायरस अनुकूल परिस्थिति में कई सालों तक जीवित रह सकता है, वही प्रतिकूल परिस्थितियों में वह नष्ट हो जाते है। लेकिन यदि वायरस किसी जीव के संपर्क में आ जाये तो वह अपने आकर को बढ़ा लेता है।

(आंकड़ें 30 मार्च तक के)

महाराष्ट्र: महाराष्ट्र में सर्वाधिक 231 मामले सामने आये है। वर्तमान में 198 एक्टिव केस हैं और 25 लोग इस बीमारी से ठीक हो चुके हैं। जबकि आठ लोगों की मौत हो चुकी है।

केरल: केरल में कोरोना वायरस मरीजों की संख्या 222 है। केरल में 19 लोग इस बीमारी से ठीक हो चुके हैं, जबकि दो लोगों की मौत हो चुकी है।

दिल्ली: दिल्ली में अब तक 95 मरीज सामने आए हैं। यहां इस महामारी से अब तक 2 लोगों की मौत हो चुकी है, वहीं 6 लोग ठीक हुए हैं।

आंध्र प्रदेश: इस राज्य में अब तक 24 मामले सामने आए हैं, जिनमें से एक मरीज के ठीक होने के बाद उसे अस्पताल से छुट्टी दे दी गई है।

अंडमान-निकोबार: यहां 9 मामले दर्ज किए गए हैं।

बिहार:बिहार में अब तक 16 मामले दर्ज किए गए हैं। यहां एक की मौत भी हो चुकी है।

चंडीगढ़: केंद्रशासित प्रदेश चंडीगढ़ में कोरोना वायरस के 8 केस सामने आए हैं।

गोवा: गोवा में कोविड-19 के पांच मरीज सामने आए हैं।

गुजरात: यहां अब तक 75 मामले सामने आ चुके हैं। इस राज्य में दूसरे नंबर पर सबसे ज्यादा 6 मौते हुई है।

हरियाणा: हरियाणा में 54 केस सामने आए हैं, जिनमें से 18 लोग स्वस्थ हो चुके हैं।

हिमाचल प्रदेश: यहां 4 मरीज मिले है, जिसमें से एक की मौत हो चुकी है।

जम्मू और कश्मीर: जम्मू-कश्मीर में कोरोना के 52 मामले सामने आ चुके हैं।

कर्नाटक: कर्नाटक में अब तक 91 पॉजिटिव केस दर्ज हुए हैं। पांच लोगों के ठीक होने के साथ ही तीन लोगों की मौत भी हुई है।

लद्दाख: लद्दाख में अब तक 16 मरीज मिले है।

मध्य प्रदेश प्रदेश में कोरोना के 50 मरीज है, यहां तीन लोगो की अब तक मौत हो चुकी है।

मणिपुर: इस राज्य में कोरोना वायरस का अब तक एक ही मरीज मिला है।

मिजोरम: यहां भी एक ही मरीज है।

ओडिशा: ओडिशा में कोरोना से संक्रमित 3 मरीज मिले है।

पंजाब: पंजाब में कोरोना संक्रमितों की संख्या 40 है।

राजस्थान: यहां कोरोना वायरस के अब तक 62 मरीज हैं।

तमिलनाडु: इस राज्य में 74 पॉजिटिव मामले सामने आ चुके हैं।

तेलंगाना: तेलंगाना में मरीजों की संख्या 73 है।

उत्तराखंड: उत्तराखंड में अब तक 9 मामले सामने आए हैं, जिनमें से 2 लोग ठीक हुए है। ।

उत्तर प्रदेश: यूपी में 93 केस आ चुके हैं। हालांकि, इनमें से 11 लोग पूरी तरह से स्वस्थ हुए है।

पश्चिम बंगाल: बंगाल में 24 संक्रमितों के मामले सामने आये है।

Updated : 2020-04-02T12:52:36+05:30
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top