Latest News
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > टीकाकरण के लिए घर-घर पहुंचेगी 'बुलावा पर्ची', हर रोज 10 लाख टीकाकरण का लक्ष्य

टीकाकरण के लिए घर-घर पहुंचेगी 'बुलावा पर्ची', हर रोज 10 लाख टीकाकरण का लक्ष्य

स्वास्थ्य केन्द्रों एवं अन्य भवनों पर स्थित टीकाकरण (स्टेटिक) केन्द्रों के माध्यम से भी टीका लगाया जाएगा।

टीकाकरण के लिए घर-घर पहुंचेगी बुलावा पर्ची, हर रोज 10 लाख टीकाकरण का लक्ष्य
X

लखनऊ। कोविड टीकाकरण की रफ़्तार में तेजी लाने के लिए सरकार हरसंभव कोशिश में जुटी है। इसी के तहत अब अगले महीने से घर के करीब ही केंद्र बनाकर लोगों के टीकाकरण की तैयारी है। इसके लिए लोगों को उसी तर्ज पर बाकायदा 'बुलावा पर्ची' भेजी जायेगी जैसे लोकसभा-विधानसभा व अन्य चुनाव में मतदान के लिए भेजी जाती है, जिसमें टीकाकरण की तिथि और स्थान का उल्लेख होगा। इसमें ग्राम प्रधान, लेखपाल, आशा एवं आंगनबाड़ी कार्यकर्ता, प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक, पंचायत सेक्रेटरी और युवक मंगल दल/महिला मंगल दल का भी सहयोग लिया जाएगा। समुदाय के सहयोग से ही प्रदेश में अगले महीने (जुलाई) से हर रोज 10 लाख से अधिक लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य तय किया गया है।


प्रदेश के अपर मुख्य सचिव-स्वास्थ्य अमित मोहन प्रसाद का कहना है कि जून माह में करीब एक करोड़ लोगों के टीकाकरण का लक्ष्य है और जिस रफ़्तार से टीकाकरण हो रहा है, उससे प्रतीत होता है कि लक्ष्य प्राप्त कर लिया जाएगा। अब अगले महीने से और अधिक ध्यान देने के साथ विस्तृत कार्ययोजना बनाने की जरूरत है ताकि हर दिन 10 लाख के टीकाकरण के लक्ष्य को प्राप्त किया जा सके। इसके तहत ग्रामीण क्षेत्रों के लिए विकास खंड को तथा शहरी क्षेत्र में शहरी निकाय को इकाई के रूप में लेकर कार्ययोजना बनानी है। इन इकाइयों को क्लस्टर्स में इस तरह से विभाजित किया जाएगा ताकि एक माह के अन्दर टीकाकरण टीमें सभी क्लस्टर्स में पहुँच जाएँ।


क्लस्टर में चल टीमों के द्वारा टीकाकरण के अतिरिक्त अस्पतालों/ आरोग्य व स्वास्थ्य केन्द्रों एवं अन्य भवनों पर स्थित टीकाकरण (स्टेटिक) केन्द्रों के माध्यम से भी टीका लगाया जाएगा। क्लस्टर में टीकाकरण करने वाली टीमों के समूह को क्लस्टर वैक्सीनेशन ग्रुप कहा जाएगा। राजस्व ग्राम में टीकाकरण के प्रति जागरूकता लाने और अनुकूल वातावरण बनाने वाली टीम को मोबिलाइजेशन टीम कहा जाएगा और किसी क्लस्टर के सभी राजस्व ग्रामों की टीमों के समूह को क्लस्टर मोबिलाइजेशन ग्रुप कहा जाएगा। इस बारे में सभी मंडलायुक्त, जिलाधिकारी, मंडलीय अपर निदेशक और मुख्य चिकित्सा अधिकारी को पत्र भेजा जा चुका है, जिसमें लक्ष्य को पाने के लिए क्या कदम उठाने हैं, उस बारे में विस्तार से बताया गया है।


अपर मुख्य सचिव का कहना है कि कार्ययोजना के मुताबिक़ प्रत्येक क्लस्टर के लिए टीकाकरण की तिथियों एवं स्थान पूर्व से ही घोषित कर दिए जायेंगे। इन सभी स्थलों पर वहीँ पर रजिस्ट्रेशन करने की सुविधा होगी और घर के नजदीक ही केंद्र बनाकर टीकाकरण किया जाएगा। इसके लिए उपयुक्त भवनों जैसे-पंचायत घर, विद्यालय भवन या अन्य परिसर का उपयोग होगा। क्लस्टर में टीकाकरण टीम के पहुंचने से पहले उस क्लस्टर की मोबिलाइजेशन टीम के द्वारा तीन दिन तक लोगों को वैक्सीन व वैक्सीनेशन के बारे में जानकारी देने के साथ ही संशय मिटाने का कार्य किया जाएगा। विकासखंड के राजस्व ग्रामों के मुताबिक़ क्लस्टर बनाए जायेंगे। यह भी ध्यान रखा जाएगा कि हर क्लस्टर में 18 साल से अधिक उम्र के लोगों की आबादी करीब-करीब समान हो ताकि चार से छह दिन में उन सभी का टीकाकरण किया जा सके। उसी के मुताबिक़ टीकाकरण टीम भी बनेंगी और भौगोलिक स्थिति का भी ख्याल रखा जाएगा। क्लस्टर के विभाजन में मतदाता सूची भी सहायक हो सकती है। उसी के मुताबिक़ आशा के माध्यम से लोगों के घरों पर बुलावा पर्ची मिलेगी, जिसमें टीकाकरण तिथि और स्थान का उल्लेख होगा।


हर राजस्व ग्राम में गठित होगी मोबिलाइजेशन टीम : क्लस्टर में टीकाकरण के लिए अनुकूल वातावरण तैयार करने के लिए हर राजस्व ग्राम में मोबीलाइजेशन टीम बनेगी, जिसमें ग्राम प्रधान, लेखपाल, आशा-आंगनबाड़ी, प्राथमिक विद्यालय के शिक्षक, पंचायत सेक्रेटरी और युवक मंगल दल/महिला मंगल दल के सदस्य शामिल होंगे। इनका काम टीकाकरण को लेकर बनी संशय की स्थिति को दूर करना और टीकाकरण के लिए प्रेरित करना होगा।


प्रतिकूल परिस्थिति के लिए होगी क्यूआरटी टीम : क्लस्टर में टीकाकरण के दौरान किसी प्रकार की प्रतिकूल घटना (एईएफआई) के प्रबन्धन के लिए दो क्विक रेस्पांस टीम (क्यूआरटी) लगायी जायेंगी। इन दो टीमों के समूह को क्लस्टर रेस्पांस टीम (सीआरटी) कहा जाएगा। टीम के पास वाहन की व्यवस्था होगी और जरूरी दवाएं भी मौजूद होंगी। टीकाकरण के बाद व्यक्ति में किसी भी प्रतिकूल परिस्थिति में 108 एम्बुलेंस को तत्काल बुलाया जाएगा और सम्बंधित को ब्लाक स्तरीय सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर पहुंचाया जाएगा।



सबसे ज्यादा जिला पंचायत अध्यक्ष पद भाजपा के प्रत्याशी जीतेंगे

- भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह के बयान पर छिड़ी बहस

स्वदेश संवाद/फ़ोटो सहित


लखनऊ। उत्तर प्रदेश भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह ने दावा किया है कि आगामी जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव में सबसे अधिक सफलता उनकी पार्टी के हाथ लगेगी। उन्होंने बुधवार को पत्रकारों से कहा कि प्रदेश में सबसे ज्यादा जिला पंचायत अध्यक्ष पद पर बीजेपी के प्रत्याशी चुनाव जीतेंगे। जिला पंचायत अध्यक्ष पद के चुनाव की अधिसूचना जारी हो चुकी है। नामांकन के दिन देखिए क्या क्या होता है। आप सभी को पता चल जाएगा।


स्वतंत्र देव ने कहा कि पहली बार भाजपा ने पंचायत चुनाव को इतनी मजबूती के साथ लड़ा। इस चुनाव को वैसे सत्ताधारी पार्टी का चुनाव माना जाता है लेकिन उसके बावजूद भी जब नतीजे आए तो निर्दलीयों की संख्या भाजपा पर भारी पड़ गई और अब यही वजह है कि पार्टी ने जिला पंचायत अध्यक्ष के चुनाव को जीतने के लिए कमर कस ली है। खास तौर से अब सरकार के मंत्रियों को भी निर्देश दिए गए हैं कि वह अपने प्रभार वाले जिलों में हर ब्लाक का दौरा करें। हालांकि इसके पीछे संगठन और अधूरे पड़े विकास कार्यों की समीक्षा करना बताया जा रहा है लेकिन इसकी एक वजह पंचायत चुनाव भी हैं। मुख्यमंत्री ने मंत्रिपरिषद की बैठक में मंत्रियों को ब्लाकों का दौरा करने का निदेर्श दिया तब उस पर मंत्रियों ने अमल करना भी शुरू कर दिया है।


राम मंदिर में जमीन घोटाले का आरोप लगाने वाली समाजवादी पार्टी पर निशाना साधते हुए कहा कि भगवान राम के अस्तित्व को नकारने वाले राम मंदिर पर सवाल उठा रहे है। जो राम से प्रेम नही करता है कृष्ण से प्रेम नही करता है राम के आस्तित्व को नकारता है। रामसेतु के अस्तित्व को नकारता है जो रामसेवको पर गोलियां चलवाते है वह राममंदिर की बात कर रहे है सच्चाई रामभक्तों के सामने आ चुकी है।


स्वतंत्र देव ने कहा कि कोरोना काल मे प्रदेश में जितने भी भाजपा कार्यकर्ताओं और उनके परिजनों ने अपनी जान गवाई है केन्द्रीय नेतृत्व के निर्देश पर उन सभी लोगो के घर जाकर शोक संवेदना व्यक्त कर श्रद्धांजलि देने का कार्यक्रम चल रहा है। इसी क्रम में इटावा में भी भाजपा की विधायक सावित्री कठेरिया के पति और क्षेत्रीय उपाध्यक्ष मानवेन्द्र सिंह के ताऊ का निधन हुआ था जिनके घर जाकर श्रद्धांजलि दी गई है। उन्होंने लोगो ने अपील करते हुए कहा कि कोरोना से आगे कैसे सुरक्षित रहना है इसके लिए ज्यादा से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगवाने के लिए जागरूक किया जा रहा है।

Updated : 17 Jun 2021 9:39 AM GMT
Tags:    

Swadesh Lucknow

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top