Top
Home > राज्य > उत्तरप्रदेश > कुम्भनगरी में बारिश, जनजीवन अस्त-व्यस्त

कुम्भनगरी में बारिश, जनजीवन अस्त-व्यस्त

कुम्भनगरी में बारिश, जनजीवन अस्त-व्यस्त

कुम्भनगरी (प्रयागराज)। उत्तर प्रदेश के प्रयागराज जनपद में बसे कुम्भनगरी में शुक्रवार सुबह आफत की बारिश हुई। पानी की तेज बौछार के साथ ओला वृष्टि होने से पूरा जनजीवन अस्त व्यस्त हो गया। प्रयागराज जनपद में बसी कुम्भनगरी में बीते दो दिन पहले बारिश की शुरुआत हुई थी । उस दिन हल्की बारिश के साथ इंद्रदेव ने श्रद्धालुओं पर अमृत वर्षा की थी। जिसकेे कारण गुरुवार को शर्दी बढ़ गई।

शुक्रवार सुबह से ही बारिश इस कदर हुई कि तेज बौछारों के साथ कुछ मिनट तक ओले भी आसमान से गिरते रहे। कुम्भ नगरी में लगे ज्यादातर सभी टेंटों में पानी भर गया। सुबह-सुबह हुई बारिश लोगों के लिये परेशानी का सबब बन गया। कुछ देर के लिये शिवरों की विद्युत व्यवस्था भी जवाब दे गई । इससे सूर्योदय के बाद भी लोग अंधेरे का सामना करते नजर आये। तेज बारिश के चलते शिवरों के टेंट से पानी अन्दर आने पर लोग अपना सामान समेटने में लग गये। रही सही कसर बारिश के बाद चलने वाली तेज ठण्डी हवाओं ने पूरी कर दी।

मौसम की अचानक करवट बदलने के बाद मौसम विभाग द्वारा संभावना जताई जा रही है, कि अब आगामी कुछ दिनों तक कड़ाके की ठण्ड रह सकती है। इस चेतावनी ने कुम्भ में आये लाखों साधु संतों और कल्पवासियों की चिंता बढ़ा दी है।

वाहनों की आवाजाही में हुई परेशानी

तड़के सुबह हुई बारिश ने जहां एक ओर कुम्भनगरी में संतों और श्रद्धालुओं को परेशानी में डाल दिया वहीं दूसरी ओर सड़कों पर आने जाने वाले वाहनों को भी मुश्किल का सामना करना पड़ा। जो जहां था तेज बारिश और ओलावृष्टि होने के चलते या तो अपनी गति को धीमा कर दिया या थमने को मजबूर हो गया। चार पहिया वाहनों के सीसे पर जमी धुंध और ओलों को हटाने में कार के वाइपर भी नाकाम होते नजर आने लगे। (हि.स.)

Updated : 25 Jan 2019 12:15 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top