Top
Home > राज्य > शिंदे के अंतिम संस्कार में गए सांसद चंद्रकांत खैरे के विरोध में की नारेबाजी

शिंदे के अंतिम संस्कार में गए सांसद चंद्रकांत खैरे के विरोध में की नारेबाजी

जनप्रतिनिधियों को लेकर मराठा समाज में गुस्सा उबला

शिंदे के अंतिम संस्कार में गए सांसद चंद्रकांत खैरे के विरोध में की नारेबाजी
X

मुंबई। औरंगाबाद में स्थित कायगांव में मराठा क्रांति मोर्चा के काकासाहेब शिंदे के अंतिम संस्कार में शामिल होने गए सांसद चंद्रकांत खैरे व विधायक सुभाष को मराठा समाज के गुस्से का शिकार होना पड़ा। यहां सांसद खैरे व विधायक सुभाष को देखते ही मराठा समाज का गुस्सा सातवें आसमान पर चढ़ गया| समाज के कार्यकर्ताओं ने खैरे के विरोध में जोरदार नारेबाजी शुरु कर दी| अपुष्ट जानकारी के अनुसार खैरे की गाड़ी पर पथराव भी किया गया है। यहां मराठा समाज की नाराजगी देख सांसद खैरे व विधायक सुभाष को बैरंग वापस लौटना पड़ा।

सोमवार को मराठा क्रांति मोर्चा के काकासाहेब शिंदे का शव लेने से उनके भाई अविनाश शिंदे ने इनकार कर दिया था। अविनाश शिंदे ने इस मामले की नैतिक जिम्मेदारी लेते हुए मुख्यमंत्री को इस्तीफा देने, मृतक परिवार को 50 लाख रुपये मुआवजा देने, मृतक के परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी देने का लिखित आश्वासन मिलने, इस घटना के जिम्मेदारों पर कार्रवाई होने के बाद ही काकासाहेब शिंदे का अंतिम संस्कार किए जाने की चेतावनी दी थी। इसके बाद औरंगाबाद के जिलाधिकारी उदय चौधरी ने गंगापुर ने तहसीलदार व पुलिस निरीक्षक सुनील विरला को जबरन छुट्टी पर भेज दिया है। मृतक के परिवार को 10 लाख रुपये की मदद व परिवार के एक सदस्य को सरकारी नौकरी दिए जाने का लिखित आश्वासन भी जिलाधिकारी उदय चौधरी ने दिया है। इसके बाद कायगांव में अविनाश शिंदे ने अपने भाई काकासाहेब शिंदे का अंतिम संस्कार किया। इस घटना से कायगांव परिसर शोक संतप्त था। लेकिन औरंगाबाद में मराठा समाज की ओर से बंद का आयोजन किया जा रहा है। जिलाधिकारी उदय चौधरी यहां मराठा समाज को समझाने का प्रयास कर रहे हैं।

Updated : 2018-07-24T18:35:39+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top