Top
Home > राज्य > राजस्थान : 45 लाख फर्जी वोटर मामले को लेकर कांग्रेस जाएगी सुप्रीम कोर्ट

राजस्थान : 45 लाख फर्जी वोटर मामले को लेकर कांग्रेस जाएगी सुप्रीम कोर्ट

राजस्थान : 45 लाख फर्जी वोटर मामले को लेकर कांग्रेस जाएगी सुप्रीम कोर्ट
X

नई दिल्ली। कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को राजस्थान में 45 लाख फ़र्ज़ी मतदाताओं को हटाने की माँग को लेकर चुनाव आयोग में शिकायत करने के बाद अब सर्वोच्च न्यायालय का दरवाजा खटखटाने का फैसला किया है।

कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि राजस्थान में बड़ी संख्या में फ़र्ज़ी मतदाता पत्र बनवाये गये हैं। इसके अलावा अन्य राज्यों से भी एेसी ही ख़बरें आ रही हैं। एक ही नाम के कई मतदाता पहचान पत्र पाये गये हैं । पार्टी ने चुनाव आयोग से माँग की है कि आगामी चुनाव पूर्व इनकी जाँच करवा कर कार्रवाई की जाए।

कांग्रेस प्रतिनिधिमंडल में शामिल संगठन महासचिव अशोक गहलोत, राजस्थान प्रदेश प्रभारी अविनाश पांडे, प्रदेश अध्यक्ष सचिन पायलट, मोहन प्रकाश, भँवर जितेन्द्र सिंह, सीपी जोशी समेत चारों ने चुनाव आयोग से मिलने के बाद संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मध्यप्रदेश और राजस्थान में धड़ल्ले से बोगस वोटर बनाये जा रहे हैं।

कांग्रेस प्रवक्ता विवेक तन्खा ने कहा कि प्रजातंत्र वोटर लिस्ट पर निर्भर करता है। चुनाव आयोग के आंकड़ों के मुताबिक 2013 से 14 से 70 लाख मतदाता बढ़ गए जबकि हर साल आैसतन 5 लाख मतदाता ही बढ़ रहे हैं। प्रजातंत्र में वास्तविक तरीके से तो हर साल केवल 3 - 4 प्रतिशत मतदाता ही बढ़ सकते हैं। केवल मध्य प्रदेश में ही 65 लाख फर्जी वोटर थे, जिनकी शिकायत के बाद आयोग ने 24 लाख वोटरों को हटा दिया है।

कांग्रेस के संगठन महामंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि इस देश मे एक वोट से कोई नेता चुनाव हार जाता है। एक वोट से सरकार गिर जाती है। बोगस वोटर बनाना बहुत बड़ा मुद्दा है। एक एक वोट महत्वपूर्ण है । एक वोट से सीपी जोशी चुनाव हारे थे और एक वोट से वाजपेयी सरकार चली गयी थी । इस देश मे केवल दो ही लोग राज कर रहे है, ऐसे लोगों को हम आगे जीतने नहीं देंगे नहीं तो देश मे लोकतंत्र नहीं बचेगा।

इस मसले पर कांग्रेस नेता और राजस्थान अध्यक्ष सचिन पायलट ने कहा कि चुनाव आयोग में कांग्रेस ने अपनी तरफ से शिकायत की है। चुनाव आयोग ने हमे उचित कार्रवाई करने का आश्वासन दिया है लेकिन चुनाव आयोग को मामले में स्वतः संज्ञान लेना चाहिए। क्योंकि यहां मामला केवल कुछ वोटरों का नहीं है। यहां लाखो की संख्या में वोटर बोगस बनाये गए हैं जबकि नियम के अनुसार कोई भी पार्टी एक बार मे केवल 10 बोगस वोटरों को ही वोटर लिस्ट से हटवा सकती है।

चुनाव आयोग पहुंचने से पहले भाजपा द्वारा विपक्ष के पास मुद्दा नहीं होने के सवाल पर गहलोत ने कहा कि सबसे बड़ा मुद्दा है 'अच्छे दिन कहाँ है?' गाँव से लेकर शहर में हर वर्ग भाजपा से ये सवाल पूछ रहा है ।

उन्होंने कहा कि भाजपा अब चाहे ईडी, सीबीआई और आयकर विभाग का कितना ही उपयोग कर ले, उससे कुछ हासिल नहीं होगा।

गहलोत ने अमित शाह के विधि आयोग को लिखे पत्र पर कहा कि ये केवल राजनीतिक फ़ायदे का स्टंट है। उन्होंने कहा कि भाजपा हार के डर से यह नाटक कर रही है।

गहलोत ने चुनौती देते हुए कहा कि भाजपा चाहे तो राजस्थान, मध्यप्रदेश और छत्तीसगढ़ समेत जिन राज्यों में चुनाव सम्भावित हैं, उनके साथ लोकसभा भंग कर चुनाव करवाये । उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी पूरी तरह से घबराये हुए हैं। अगर संविधान संसोधन कर वे एक चुनाव करवाना है तो करवायें, कांग्रेस पूरी तरह से तैयार है।

Updated : 2018-08-15T02:20:18+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top