Top
Home > राज्य > दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने पटरी उखाड़ी, पेड़ भी गिराकर रोका रेल मार्ग

दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने पटरी उखाड़ी, पेड़ भी गिराकर रोका रेल मार्ग

दंतेवाड़ा में नक्सलियों ने पटरी उखाड़ी, पेड़ भी गिराकर रोका रेल मार्ग
X

जगदलपुर। राष्ट्रपति के बस्तर दौरे के दौरान नक्सलियों ने दंतेवाड़ा जिले में बड़ी वारदात को अंजाम देते हुए बुधवार की रात भांसी-कमालूर रेलवे स्टेशनों के बीच पेड़ गिराकर करीब 100 मीटर रेलवे पटरी उखाड़ दी थी। इस बीच विशाखापटनम से किरन्दुल लौट रहे पैसेंजर के ड्राइवर ने वक्त रहते ट्रेन रोक लिया, जिससे सभी यात्री बाल-बाल बच गए और बड़ा हादसा टल गया।

पुलिस सूत्रों के अनुसार नक्सलियों ने कामालूर एवं भांसी रेलवे स्टेशन के मध्य पोल क्रमांक 433-18 के बीच लगभग 20 मीटर पटरी उखाड़ दी थी और टे्रक पर पेड़ गिरा दिया था। टे्रन के चालक ने सूझबूझ का परिचय देते हुए गाड़ी रोक दी, जिससे गंभीर घटना टल गयी।

नक्सलियों ने मौकाए वारदात पर बेनर और पोस्टर भी लगाए हैं। भैरमगढ़ एरिया कमेटी की सचिव सुमित्रा द्वारा जारी बेनर में पुलिस की सर्जिकल स्ट्राईक का विरोध करते हुए तमेनार मुठभेड़ में मारे गए शहीद साथियों के आदर्शों पर चलने का आव्हान किया गया है।

पटरी उखड़ जाने के कारण आधी रात को पैसेंजर दंतेवाड़ा रेलवे स्टेशन पहुंची। सुबह फोर्स के साथ रेलवे कर्मचारी मरम्मत कार्य में जुट गए हैं। देर शाम तक रेल यातायात बहाल होने की उम्मीद जतायी जा रही है। आधी रात में पैसेंजर के दंतेवाड़ा वापस होने से बचेली, किरंदुल के मुसाफिरों को परेशानी का सामना करना पड़ा। कई ने तो ट्रेन व रेलवे स्टेशन में ही रात गुजारी। वहीं कुछ पैदल बस स्टैंड पहुंच अपनी सुविधा से गंतव्य तक पहुंचे। इधर, रात में सभी मालगाडिय़ों का परिचालन रोक दिया गया।

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों भी नक्सलियों ने पटरी उखाड़ कर मालगाड़ी को नुकसान पहुंचाया था। दो दिन की कड़ी मशक्कत के बाद आवाजाही पटरी पर लौटी थी। रेलवे ने सुरक्षा के मद्देनजर घटना स्थल पर 10 किमी प्रति घंटा की स्पीड से तेन चलाने के निर्देश दिए हैं। बुरात को भी पैसेंजर 10 किमी प्रति घंटा की स्पीड से दौड़ रही थी, लिहाजा एक बड़ा हादसा टल गया।

Updated : 2018-07-27T19:33:45+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top