Top
Home > राज्य > ममता बोली - बाहरी लोग फैला रहे हैं पश्चिम बंगाल में हिंसा

ममता बोली - बाहरी लोग फैला रहे हैं पश्चिम बंगाल में हिंसा

ममता बोली - बाहरी लोग फैला रहे हैं पश्चिम बंगाल में हिंसा
X

कोलकाता। राज्य के विभिन्न पंचायतों में बोर्ड गठन के दौरान विभिन्न जिलों में व्यापक हिंसा के दौरान तृणमूल की आपसी गुटबाजी में तीन और भारतीय जनता पार्टी के दो कार्यकर्ताओं की मौत पर पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ने चौकाने वाला दावा किया है। उन्होंने मंगलवार की सुबह तृणमूल छात्र परिषद के समावेश में जाने से पहले मंत्रिमंडल की बैठक के बाद कहा कि राज्य में हिंसा फैलाने में बाहरी लोगों का हाथ है। उन्होंने कहा कि उन्हें इंटेलिजेंस की सूचना मिली है कि बंगाल की सीमा से लगे झारखंड से भारतीय जनता पार्टी ने बाहरी लोगों को पुरुलिया जिले में लाया था और उन्हीं लोगों ने पुलिस के जवानों पर हमला किया। एक पुलिसकर्मी की हालत गंभीर है और उसे आईसीयू में भर्ती कराया गया है। उन्होंने दावा किया कि पश्चिम बंगाल से आने वाले भाजपा उम्मीदवारों और नेताओं को केंद्रीय रिजर्व पुलिस फोर्स एस्कॉर्ट कर ला रहे थे और उन्हीं की शह पर राज्य के विभिन्न क्षेत्रों में हिंसा हो रही है। ममता ने दावा किया कि सोमवार को पुरुलिया और झारग्राम में हुई हिंसक घटना के पीछे इन्हीं लोगों का हाथ है। उन्होंने कहा कि मैंने मंत्रिमंडल के साथ बैठक कर राज्यभर के तृणमूल नेताओं को निर्देश दिया है कि किसी भी तरह से हिंसा पर नियंत्रण किया जाए। ममता ने कहा 'मैं हिंसा का समर्थन नहीं करती। किसी की भी मौत दुखद होती है। तृणमूल के तीन लोगों की मौत हुई है जबकि भाजपा के दो।' उन्होंने पूछा कि इस तरह की घटनाएं क्यों हो रही हैं? यह नहीं होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि राज्य की 20 जगहों पर हिंसा की घटनाएं सामने आ रही हैं। यहां बाहरी लोगों की मौजूदगी की जानकारी मिली है। मैंने अपने सभी नेताओं को हिंसक घटनाओं पर लगाम लगाने की हिदायत दी है। मुख्यमंत्री ने दावा किया कि झारखंड से भारतीय जनता पार्टी ने मिदनापुर की धनरुआ में लोगों को घुसाया है। इंटेलिजेंस की टीम मैंने इसके पीछे लगाई है। साक्ष्य मिलने के बाद इसके खिलाफ कर कार्रवाई की जाएगी

Updated : 2018-08-28T19:59:54+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top