Top
Home > राज्य > 100 साल की उम्र में भी यह परीक्षा पास करना चाहती हैं कार्तियानी अम्मा

100 साल की उम्र में भी यह परीक्षा पास करना चाहती हैं कार्तियानी अम्मा

100 साल की उम्र में भी यह परीक्षा पास करना चाहती हैं कार्तियानी अम्मा
X

तिरुवनंतपुरम। केरल में आयोजित साक्षरता परीक्षा में भाग लेने वाली 96 साल की कार्तियानी अम्मा का कहना है कि वह 100 साल की होने से पहले दसवीं की परीक्षा पास करना चाहती हैं। उन्होंने 5 अगस्त को आयोजित साक्षरता परीक्षा में भाग लिया था। जिसमें नागरिकों की साक्षरता की जांच की जाती है। जिसके बाद वह केरल राज्य में सबसे ज्यादा उम्र की परीक्षा देने वाली महिला बन गईं। उन्होंने छह महीने पहले राज्य साक्षरता मिशन के एक कार्यक्रम में नामांकन कराया था। इस परीक्षा को उन्होंने पास कर लिया और उन्हें योग्यता मुताबिक चौथी कक्षा में पढऩे के लिए भेजा गया। अम्मा की पढऩे लिखने में बहुत रुची है। परीक्षा में भाग लेने के बाद से ही वह रातों रात सोशल मीडिया पर मशहूर हो गईं।

उन्होंने कहा कि उन्हें उनकी बेटी ने प्रेरित किया था। उनकी बेटी ने 60 साल की उम्र में साल 2016 में दसवीं की परीक्षा पास की थी। जिससे उन्हें प्रेरणा मिली और वह इस अभियान से जुड़ीं। अम्मा ने आगे कहा, पैसों की तंगी के कारण मैं स्कूल नहीं जा पाई थी। मैंने अपने बच्चों की देखभाल की। जब मेरी बेटी ने दसवीं की परीक्षा पास की, मैंने भी वैसा ही करने का सोचा। मैं 100 साल की उम्र में दसवीं की परीक्षा पास कर लूंगी। इस परीक्षा में कुल 100 अंकों के सवाल पूछे गए थे। जिसमें लिखने, पढऩे और गणित की समझ का आंकलन किया गया था। अभियान की प्रेस रिलीज के मुताबिक पलक्कड़ जिले के 11,683 उम्मीदवारों ने परीक्षा में भाग लिया था। जानकारी के लिए बता दें केरल में साक्षरता मिशन अक्षरालक्ष नाम का अभियान चलाया जा रहा है। इसका उद्देश्य केरल राज्य में 100 फीसदी साक्षरता करना है।

Updated : 2018-08-13T17:52:13+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top