Top
Home > राज्य > 2019 में शिवसेना को अकेले चुनाव लड़ने पर होगा नुकसान

2019 में शिवसेना को अकेले चुनाव लड़ने पर होगा नुकसान

2019 में शिवसेना को अकेले चुनाव लड़ने पर होगा नुकसान
X

मुंबई/स्वदेश वेब डेस्क। मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने सोमवार को मुंबई में पत्रकारों को बताया कि 2019 में होने वाले चुनाव में अगर शिवसेना अकेले लड़ती है तो उसे नुकसान उठाना पड़ सकता है। इसका खामियाजा एनडीए गठबंधन को भी उठाना पड़ सकता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि राजनीतिक स्थितियां बदलती रहती हैं। इसी वजह से उत्तर प्रदेश में कभी भी साथ न आने वाले दल समाजवादी पार्टी व बहुजन समाजवादी पार्टी ने चुनावी तालमेल किया है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी ने पिछला चुनाव राज्य में कांग्रेस को छोडक़र अलग लड़ा था, लेकिन इस बार कांग्रेस व राकांपा साथ मिलकर चुनाव लड़ने की तैयारी कर रही हैं।

मिली जानकारी के अनुसार रविवार को शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने फिर से लोकसभा व विधानसभा चुनाव अकेले दम पर लड़ने की घोषणा की है। इसी तरह शिवसेना के वरिष्ठ नेता सुभाष देसाई ने भी अलग चुनाव लड़ने की बात कल एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए की है। शिवसेना की ओर से शिवाजी पार्क पर होने वाली शिवसेना की दशहरा रैली में पार्टी की भूमिका घोषित की जाने वाली है, लेकिन उसके पहले ही पार्टी की ओर अकेले चुनाव लड़ने की घोषणा कर माहौल बनाने का प्रयास जारी है।

इस बीच मिली जानकारी के अनुसार रविवार को एक अखबार में शिवसेना व भाजपा के अलग चुनाव लड़ने व कांग्रेस व राकांपा के साथ चुनाव लड़ने पर राज्य की 48 सीटों में से 36 सीटें कांग्रेस व राकांपा को मिलने की संभावना जताई गई है। इसी तरह भाजपा शिवसेना एक साथ व कांग्रेस व राकांपा को एकसाथ मिलकर चुनाव लड़ने से भाजपा गठबंधन को 36 सीटें मिलने का अंदाज जताया गया है। इसे देखते हुए भाजपा की ओर से शिवसेना को मनाने का प्रयास जारी है।

Updated : 2018-10-08T19:25:25+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top