Top
Home > राज्य > जेल से पाक में करता था फोन, दूसरे जेल भेजा गया आतंकी आफताब अंसारी

जेल से पाक में करता था फोन, दूसरे जेल भेजा गया आतंकी आफताब अंसारी

जेल से पाक में करता था फोन, दूसरे जेल भेजा गया आतंकी आफताब अंसारी
X

कोलकाता। अमेरिकन सेंटर हमले का मास्टरमाइंड आतंकी आफताब अंसारी को अलीपुर सेंट्रल जेल से निकालकर प्रेसीडेंसी जेल में भेज दिया गया है। बुधवार को सेंट्रल जेल प्रबंधन के सूत्रों के हवाले से इसकी पुष्टि की गई है।

पिछले महीने 30 अगस्त को उसके सेल से तीन स्मार्टफोन और 33 सिम कार्ड बरामद हुए थे। इसके बाद जब जांच की गई तो पता चला कि जेल में बैठकर ही वह पाकिस्तान के आतंकी संगठनों से लगातार संपर्क में था। कई बार उसने अलीपुर सेंट्रल जेल से पाकिस्तान के आतंकी आकाओं को फोन किया था। इसके बाद बिना देरी किए अलीपुर सेंट्रल जेल प्रबंधन ने उसे वहां से हटाकर प्रेसिडेंट जेल में रखने का निर्णय लिया है। मंगलवार शाम को ही उसे चुस्त सुरक्षा व्यवस्था के बीच प्रेसिडेंसी सेंट्रल जेल पहुंचा दिया गया है। उसे जेल के 1/2 नंबर सेल के सात नम्बर कमरे में रखा गया है।

बुधवार को बताया गया है कि कारागार विभाग के डीजी अरुण कुमार ने प्रेसिडेंसी जेल का दौरा कर जेलर और अन्य प्रबंधकों के साथ विशेष बैठक की है एवं दैनिक तौर पर आफताब अंसारी के सेल की तलाशी लेने का निर्देश दिया गया है। साथ ही उस पर विशेष निगरानी रखने और उससे मिलने-जुलने और मेलजोल बढ़ाने वाले कैदियों पर भी निगरानी का निर्देश दिया गया है।

2002 में गिरफ्तारी के बाद आफताब को सबसे पहले प्रेसिडेंसी जेल में ही रखा गया था। 2005 के अप्रैल महीने में उसे अलीपुर सेंट्रल जेल में ट्रांसफर कर दिया गया था। वहां सेल नंबर एक में उसे रखा गया था एवं उसके बाद लगातार वह वहीं रह रहा था। उस सेल को उसने अपना स्थायी ठिकाना बना लिया था। वहां से वह लगातार आतंकी संगठनों के संपर्क में बना रहा। 2012 में एक बार एक मामले की सुनवाई के लिए उसे दिल्ली ले जाया गया था एवं फिर उसे वापस लाकर उसी सेल में रख दिया गया था।

पिछले महीने उसके सेल से तीन मोबाइल फोन और 33 सिम कार्ड बरामद होने के बाद उन नम्बरों से किए गए फोन का रिकॉर्ड जब निकाला गया तो पता चला कि वह जेल में बैठकर लगातार पाकिस्तानी आतंकियों से संपर्क में था। उसके बाद ही उसे प्रेसिडेंसी जेल में एक बार फिर ट्रांसफर कर दिया गया है।

दुबई से पकड़ा गया था आफताब अंसारी

कोलकाता में 22 जनवरी 2002 में अमेरिकन सेंटर पर हुए हमले का मास्टरमाइंड अंसारी को दुबई से पकड़ा गया था और उसे नौ फरवरी 2002 को भारत लाया गया था। वह आतंकी समूह आसिफ रजा कमांडो फोर्स से जुड़ा हुआ था जिसके कथित रूप से हरकत उल-जेहादी ए इस्लाम से संबंध थे। निचली अदालत ने आफताब अंसारी को सजा-ए-मौत दी थी लेकिन सुप्रीम कोर्ट ने मई 2010 में आफताब अंसारी की मौत की सजा रद्द कर दी थी एवं जेल में रखने की सजा सुनाई। उसके बाद से वह लगातार अलीपुर जेल में बंद है।

इस मामले में आफताब अंसारी के साथ सादिक शेख को भी गिरफ्तार किया गया था। सादिक ने कबूल किया था कि आफताब अंसारी के कहने पर ही उसने अमेरिकन सेंटर पर हमला किया था। इस हमले में छह पुलिसकर्मियों की मौत हो गई थी।

Updated : 2018-09-12T19:36:55+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top