Top
Home > खेल > क्रिकेट > भारत और वेस्टइंडीज के दूसरे वनडे पर संशय

भारत और वेस्टइंडीज के दूसरे वनडे पर संशय

एमपीसीए का मेजबानी से इंकार

भारत और वेस्टइंडीज के दूसरे वनडे पर संशय

इंदौर/स्वदेश वेब डेस्क। बीसीसीआई के साथ मैच के पासों को लेकर चल रहे विवाद के चलते मध्यप्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन (एमपीसीए) ने इंदौर में भारत और वेस्टइंडीज के बीच दूसरे एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट मैच को आयोजित करने से इंकार कर दिया है। बीसीसीआई के कार्यक्रम के अनुसार यह मैच इंदौर में 24 अक्टूबर को होना निर्धारित है।

मध्यप्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन (एमपीसीए) की शनिवार रात को हुई प्रबंध समिति की बैठक में इस बात का फैसला हुआ। एमपीसीए ने इस बारे में बीसीसीआई को अवगत करा दिया है। मामला यह था कि बीसीसीआई इस मैच में एमपीसीए से 1300 पास चाह रहा था और एमपीसीए ने शीर्ष न्यायालय के आदेशानुसार बोर्ड को इतने पास देने में असमर्थता जताई थी। एमपीसीए ने इस मामले में बोर्ड को अपना रुख स्पष्ट करने के लिए दो बार स्मरण पत्र भेजा था। बीसीसीआई द्वारा साफ जवाब न आने पर मैच की तैयारी के लिए पर्याप्त समय न होने का हवाला देकर एमपीसीए ने अब मैच की मेजबानी से इंकार कर दिया। बीसीसीआई के संविधान के अनुसार स्टेडियम की कुल दर्शक क्षमता के 90 प्रतिशत टिकट आम जनता के लिए उपलब्ध होने चाहिए। इसके तहत एमपीसीए के पास 10 प्रतिशत टिकट ही पास के लिए उपलब्ध हैं। होलकर स्टेडियम की दर्शक क्षमता 27000 है इसके अनुसार एमपीसीए के पास 2700 मुफ्त टिकट (पास) ही रहेंगे। बीसीसीआई अपने स्पॉन्सरों के लिए पास मांगता है जो विवाद की मुख्य जड़ है। बीसीसीआई इनमें से करीब आधे पास मांग रहा है जो देना संभव नहीं हैं। एमपीसीए सचिव मिलिंद कनमडीकर ने कहा कि पैवेलियन की दर्शक क्षमता 7000 है और इसमें 700 पास ही रहेंगे। यदि हमने बीसीसीआई को 5 प्रतिशत पास दे दिए तो हमारे पास 350 पास ही बचेंगे जबकि हमें अपने सदस्यों, सरकारी अधिकारियों को और पास देना होते हैं।

Updated : 2018-10-03T03:40:22+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top