Latest News
Home > खेल > क्रिकेट > भारत का टेस्ट सीरीज जीतने का सपना टूटा, इंग्लैंड ने आखिरी मैच में 7 विकेट से हराया

भारत का टेस्ट सीरीज जीतने का सपना टूटा, इंग्लैंड ने आखिरी मैच में 7 विकेट से हराया

भारत और इंग्लैंड के बीच पिछले साल 5 मैचों की टेस्ट सीरीज खेली गई थी, तब कोरोना मामलों के चलते पांचवां टेस्ट नहीं हो सका था, जो अब खेला गया, जिसे इंग्लैंड ने जीतकर श्रृंखला 2-2 से बराबरी कर ली।

भारत का टेस्ट सीरीज जीतने का सपना टूटा, इंग्लैंड ने आखिरी मैच में 7 विकेट से हराया
X

बर्मिंघम।जो रूट (नाबाद 142) और जॉनी बेयरस्टो (नाबाद 114) के बेहतरीन नाबाद शतकों की बदौलत इंग्लैंड ने पांचवें और अंतिम टेस्ट मैच में 378 रनों के विशाल लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत पर सात विकेट से ऐतिहासिक जीत दर्ज की। इस जीत के साथ ही इंग्लैंड ने पांच मैचों की श्रृंखला में 2-2 से बराबरी कर ली है। रूट ने 173 गेंदों पर 19 चौकों और एक छक्के की बदौलत नाबाद 142 और बेयरस्टो ने 145 गेंदों पर 15 चौके और 1 छक्के की बदौलत नाबाद 114 रन बनाए।

यह जीत इंग्लैंड के लिए इसलिए भी खास है, क्योंकि इंग्लैंड ने एजबेस्टन में कभी भी 300 से ज्यादा रनों के लक्ष्य को हासिल नहीं किया था। भारत और इंग्लैंड के बीच पिछले साल 5 मैचों की टेस्ट सीरीज खेली गई थी, तब कोरोना मामलों के चलते पांचवां टेस्ट नहीं हो सका था, जो अब खेला गया, जिसे इंग्लैंड ने जीतकर श्रृंखला 2-2 से बराबरी कर ली।

इस मैच में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी भारतीय टीम ने ऋषभ पंत (146) और रवींद्र जडेजा (104) के बेहतरीन शतकों की बदौलत अपनी पहली पारी में 410 रन बनाए थे। इंग्लैंड की ओर से जेम्स एंडरसन ने 5, मैटी पॉट्स ने 2 व बेन स्टोक्स, जो रूट और क्रिस ब्रॉड ने 1-1 विकेट लिया। जवाब में इंग्लैंड की टीम ने अपनी पहली पारी में जॉनी बेयरस्टो (106) के शतक की बदौलत 284 रन बनाए। भारत की तरफ से मोहम्द सिराज ने चार, जसप्रीत बुमराह ने 3, मोहम्मद शमी ने दो और शार्दुल ठाकुर ने एक विकेट लिया। पहली पारी के आधार पर भारत को 132 रनों की बढ़त मिली।इसके बाद भारत ने अपनी दूसरी पारी में चेतेश्वर पुजारा (66) और ऋषभ पंत (57) के अर्धशतकों की बदौलत 245 रन बनाए और 377 रनों की कुल बढ़त हासिल की व इंग्लैंड के सामने 378 रनों का लक्ष्य रखा।

रूट और बेयरस्टो ने खेली ऐतिहासिक पारी -

भारत द्वारा मिले 378 रन के विशाल लक्ष्य का पीछा करने उतरी इंग्लैंड की टीम को एलेक्स लीस (56) और जैक क्रॉली (46) ने शानदार शुरूआत दिलाई और पहले विकेट के लिए 107 रन की शतकीय साझेदारी की। इस साझेदारी को जसप्रीत बुमराह ने जैक क्रॉली को बोल्ड करके तोड़ा। क्रॉली ने 76 गेंदों में सात चौके की मदद से 46 रन बनाए। इसके बाद बुमराह ने ओली पोप को खाता भी नहीं खोलने दिया और विकेटकीपर ऋषभ पंत के हाथों कैच आउट करा दिया। पोप के आउट होने ते बाद लीस दुर्भाग्यशाली तरीके से रन आउट होकर पवेलियन लौटै। लीस ने 65 गेंदों में आठ चौके की मदद से 56 रन बनाए।

इसके बाद जो रूट और जॉनी बेयरस्टो ने मोर्चा संभाला और भारतीय गेंदबाजों को विकेट के लिए तरसा दिया। दोनों ने चौथे विकेट के लिए नाबाद 269 रनों की साझेदारी कर इंग्लैंड को सात विकेट से ऐतिहासिक जीत दिला दी। रूट ने 173 गेंदों पर 19 चौकों और एक छक्के की बदौलत नाबाद 142 और बेयरस्टो ने 145 गेंदों पर 15 चौके और 1 छक्के की बदौलत नाबाद 114 रन बनाए। भारत की तरफ से जसप्रीत बुमराह ने दो विकेट लिए।

पांच मैचों की श्रृंखला के शुरुआती चार टेस्ट मैचों का हाल -

भारत और इंग्लैंड के बीच इस श्रृंखला का पहला मैच 4 अगस्त 2021 को नॉटिंघम में खेला गया था, जो ड्रॉ पर खत्म हुआ था। मैच में एकमात्र शतक जो रूट ने जड़ा था। इसके बाद दूसरा टेस्ट लॉर्ड्स में हुआ था, जिसमें टीम इंडिया ने 151 रनों से जीत दर्ज की थी। इसमें प्लेयर ऑफ द मैच केएल राहुल ने 129 रनों की पारी खेली थी। इसके बाद तीसरा टेस्ट लीड्स में हुआ, जिसमें इंग्लैंड ने वापसी करते हुए पारी और 76 रनों से जीत दर्ज की थी। चौथा टेस्ट द ओवल में खेला गया, जिसमें रोहित शर्मा के शतक के बदौलत भारतीय टीम ने 157 रनों से जीत दर्ज की थी।

भारतीय टीम ने 15 साल पहले आखिरी बार इंग्लैंड में जीती थी टेस्ट श्रृंखला -

बता दें कि इससे पहले आखिरी बार भारत ने 2007 में राहुल द्रविड़ की कप्तानी में इंग्लैंड को उसी के घर में टेस्ट श्रृंखला में शिकस्त दी थी। उस श्रृंखला में भारत ने पहला और तीसरा टेस्ट मैच ड्रॉ करवाया था। जबकि नॉटिंघम के ट्रेंट ब्रिज में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच को भारतीय टीम ने 7 विकेट से जीता था। इस तरह भारत ने 1-0 से श्रृंखला अपने नाम की थी।

Updated : 5 July 2022 2:28 PM GMT
Tags:    

स्वदेश वेब डेस्क

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top