Top
Home > खेल > क्रिकेट > पाक के पूर्व कप्तान ने बीसीसीआई अध्यक्ष से मांगी मदद

पाक के पूर्व कप्तान ने बीसीसीआई अध्यक्ष से मांगी मदद

पाक के पूर्व कप्तान ने बीसीसीआई अध्यक्ष से मांगी मदद

नई दिल्ली। पाकिस्तान क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान और विकेटकीपर बल्लेबाज राशिद लतीफ ने भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) अध्यक्ष सौरव गांगुली से एक खास मामले में मदद मांगी है। लतीफ चाहते हैं कि भारत-पाकिस्तान द्विपक्षीय क्रिकेट रिश्तों को बहाल करने में गांगुली पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड (पीसीबी) की मदद करें। 2004 में भारत के पाकिस्तान दौरे पर जाने में गांगुली का बड़ा हाथ रहा था।

लतीफ ने कहा कि 2004 में जब सौरव गांगुली टीम इंडिया के कप्तान थे, तो उन्होंने बीसीसीआई की अनबन के बावजूद भारतीय टीम के पाकिस्तान दौरे में अहम भूमिका निभाई थी। लतीफ ने 'द नेशन्स' से कहा, 'एक क्रिकेटर और बीसीसीआई अध्यक्ष के तौर पर गांगुली पीसीबी चीफ एहसान मनि की मदद कर सकते हैं। जब तक भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय क्रिकेट सीरीज नहीं होगी, तब तक दोनों देशों के बीच सबकुछ ठीक नहीं होगा। दुनिया भारत और पाकिस्तान के बीच क्रिकेट देखना चाहती है।'

उन्होंने कहा, 'पीसीबी सीईओ वसीम खान को पाकिस्तान में टॉप क्रिकेट प्लेइंग देश को दौरे पर बुलाने के लिए पहल करनी चाहिए। इससे पाकिस्तान क्रिकेट और लोकल खिलाड़ियों को फायदा मिलेगा। 2004 में जब बीसीसीआई पाकिस्तान दौरे को लेकर विरोध कर रहा था, तो सौरव गांगुली ने बीसीसीआई और खिलाड़ियों से बात की थी। ये काफी यादगार दौरा रहा था। लंबे समय बाद भारत ने पाकिस्तान में जीत दर्ज की थी।' भारत ने पांच मैचों की सीरीज में 3-2 से जीत दर्ज की थी, इसके अलावा भारत ने तीन मैचों की टेस्ट सीरीज 2-1 से जीती थी। दोनों देशों के बीच राजनीतिक तनाव चलते दोनों टीमें बस बस आईसीसी टूर्नामेंट्स में खेलती हैं।

पाकिस्तान में हाल ही में करीब 10 साल बाद टेस्ट क्रिकेट की वापसी हुई है। पाकिस्तान ने श्रीलंका के खिलाफ घरेलू टेस्ट सीरीज 2-0 से अपने नाम की थी। लतीफ ने कहा, '10 साल बाद श्रीलंकाई टीम का पाकिस्तान दौरे पर आना राहत की बात थी। पाकिस्तानी क्रिकेट और यहां की आवाम लंबे समय से पाकिस्तान में इंटरनेशनल क्रिकेट की वापसी की राह देख रही थी। देश के कई स्टेडियम भी इंटरनेशनल मैच नहीं होने से काफी मुश्किल झेल चुके हैं।'

Updated : 3 Jan 2020 2:05 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top