Top
Home > धर्म > राजयोग में बंधेगे रक्षा सूत्र, बढ़ेगा बहनों का सौभाग्य

राजयोग में बंधेगे रक्षा सूत्र, बढ़ेगा बहनों का सौभाग्य

राजयोग में बंधेगे रक्षा सूत्र, बढ़ेगा बहनों का सौभाग्य
X

ग्वालियर। इस वर्ष रक्षाबंधन के त्यौहार पर गुरु की पंचम दृष्टि चन्द्रमा पर रहेगी, जो निश्चित रूप से राजयोग का फल प्रदान करेगी। इसके अलावा सूर्य-चन्द्रमा की प्रतियुति होना भी शुभ है। ज्योतिषाचार्य पं. सतीश सोनी के अनुसार इस बार राजयोग में राखी बांधना बहनों के लिए सौभाग्यशाली है। इस योग से जहां बहनों का सौभाग्य बढ़ेगा वहीं भाइयों को भी तरक्की मिलेगी। चार वर्ष बाद रक्षाबंधन पर भद्रा नहीं होने से बहनें सूर्योदय से शाम 5.12 बजे तक भाइयों को रक्षा सूत्र बांध सकेंगी। इस बार रक्षाबंधन पर पंचक रहेंगे, जो 25 अगस्त से प्रारंभ होकर 30 अगस्त तक रहेंगे। रक्षाबंधन के दिन दोपहर 12.35 बजे तक घनिष्ठ नक्षत्र रहेगा। उसके बाद संत निशा नक्षत्र प्रारंभ होगा। यह दोनों ही नक्षत्र पंचक कारक हैं। इस दिन पूरे 11 घण्टे राखी बांधने का समय रहेगा, लेकिन बीच में कुछ समय को छोडऩा होगा क्योंकि राहुकाल में राखी नहीं बांधी जाती है। राहुकाल का समय शाम को 4.30 से 6 बजे तक का रहेगा।

रक्षाबंधन का शुभ मुहूर्त:- 26 अगस्त को प्रात: 7.45 से दोपहर 12.28 तक और दोपहर 2.03 से 3.38 बजे तक।

चौघडिय़ा मुहूर्त:- प्रात: 7.45 से 9.18 तक चर मुहूर्त, 9.18 से 10.53 तक लाभ मुहूर्त, 10.53 से 12.28 तक अमृत मुहूर्त, दोपहर 2.03 से 3.38 तक शुभ मुहूर्त, शाम 6.48 से 8.13 तक शुभ मुहूर्त, रात्रि 9.38 से 11.03 तक चर मुहूर्त रहेगा।

राशि के अनुसार दें उपहार

रक्षाबंधन पर मेष राशि वाले लाल ड्रेस व धातु से बने उपहार, वृषभ-परफ्यूम व रेशमी कपड़े, मिथुन-खेल सामग्री व हरा पेन, कर्क-मोती की माला व चांदी से बनी वस्तुएं, सिंह-ताम्बे से बनी वस्तु, कन्या-कांसे की मूर्तियां, तुला-कपड़े व वाहन, वृश्चिक मिठाई, धनु-सोने के आभूषण, मकर मोबाइल व लेपटॉप, कुंभ-ब्रेस लेट और मीन राशि वाले सोने के आभूषण दे सकते हैं।

Updated : 2018-08-24T18:27:08+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top