Top
Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > सोशल मीडिया पर फैल रहे घृणा संदेश की शिकायत के लिए WhatsApp नंबर, Email ID जारी

सोशल मीडिया पर फैल रहे घृणा संदेश की शिकायत के लिए WhatsApp नंबर, Email ID जारी

सोशल मीडिया पर फैल रहे घृणा संदेश की शिकायत के लिए WhatsApp नंबर, Email ID जारी

नई दिल्ली। दिल्ली विधानसभा समिति ने उत्तर-पूर्वी दिल्ली साम्प्रदायिक हिंसा के बारे में सोशल मीडिया पर फैल रहे घृणा संदेश के संबंध में शिकायत दर्ज कराने के लिए व्हाट्सएप नंबर और ईमेल आईडी जारी की है। आम आदमी पार्टी के विधान पार्षद एवं दिल्ली विधानसभा की शांति एवं सौहार्द समिति के प्रमुख सौरभ भारद्वाज ने पत्रकारों को बताया कि लोगों को सोशल मीडिया पर अगर कोई भी घृणा संदेश दिखे, तो वे व्हाट्सएप नंबर 8950000946 और ईमेल पता डीवीएसकमिटी एट दी रेट दिल्लीगॉव डॉट इन (dvscommittee@delhigov.in) पर शिकायत कर सकते हैं। भारद्वाज ने बताया कि उत्तर- पूर्वी दिल्ली के हिंसा प्रभावित इलाकों के छह विधानसभा क्षेत्रों में गुरुवार (5 मार्च) को शांति सभाएं की जाएगी। स्थानीय धार्मिक नेता और विधायक इन बैठकों में हिस्सा लेंगे।

वहीं दूसरी ओर, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने मंगलवार (3 मार्च) को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की और उनसे हिंसा प्रभावित उत्तर पूर्व दिल्ली की स्थिति पर चर्चा की। केजरीवाल ने मोदी से हिंसा के लिये जिम्मेदार लोगों पर कड़ी कार्रवाई करने का आग्रह किया चाहे वे किसी भी दल के हों। हाल ही में दिल्ली विधानसभा चुनाव में जीत के बाद आम आदमी पार्टी के लगातार तीसरी बार सत्ता में आने के पश्चात प्रधानमंत्री मोदी से केजरीवाल की यह पहली मुलाकात है। केजरीवाल ने संसद भवन स्थित प्रधानमंत्री कार्यालय में मोदी से मुलाकात की जो करीब आधे घंटे चली।

बैठक के बाद केजरीवाल ने संवाददाताओं से कहा कि पिछले कुछ दिनों में दिल्ली पुलिस ने अफवाहों पर लगाम लगाने में तत्परता से काम किया है और रविवार (1 मार्च) को स्थिति को नियंत्रित करने में काफी सक्रिय रही। उन्होंने कहा, ''दिल्ली पुलिस ने स्थिति को नियंत्रित करने के लिये सक्रियता से काम किया। अगर दिल्ली उसी प्रकार से हिंसा के दौरान सजग रहती तो काफी लोगों को बचाया जा सकता था।" प्रधानमंत्री मोदी और केजरीवाल की मुलाकात को दिल्ली हिंसा की पृष्ठभूमि में काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है जिसमें 45 से ज्यादा लोगों की मौत हो गई और 200 लोग घायल हो गए। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने भी इस बात पर सहमति व्यक्त की कि दिल्ली में ऐसी हिंसक घटनाएं नहीं दोहरायी जानी चाहिए।

यह पूछे जाने पर कि क्या बैठक में भाजपा नेताओं के विवादास्पद बयानों के बारे में भी चर्चा हुई, केजरीवाल ने कहा कि इस पर विशेष रूप से कोई चर्चा नहीं हुई। दिल्ली के मुख्यमंत्री ने मोदी से हिंसा में शामिल लोगों पर कड़ी कार्रवाई करने का आग्रह किया चाहे वे कितने भी प्रभावशाली क्यों न हों। उन्होंने कहा, ''मैंने उनसे कहा कि यह सुनिश्चित किया जाना चाहिए कि राष्ट्रीय राजधानी में ऐसी हिंसा फिर न हो। मैंने प्रधानमंत्री से अपील की कि हिंसा के दोषियों को नहीं बख्शा जाना चाहिए, चाहे वे किसी दल के हों।" गौरतलब है कि केजरीवाल ने गत 25 फरवरी को गृह मंत्री अमित शाह से मुलाकात की थी।



Updated : 3 March 2020 2:17 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top