Top
Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > कांग्रेस का सूपड़ा साफ होगा मध्य प्रदेश में: अनिल जैन

कांग्रेस का सूपड़ा साफ होगा मध्य प्रदेश में: अनिल जैन

कांग्रेस का सूपड़ा साफ होगा मध्य प्रदेश में: अनिल जैन

नई दिल्ली। पिछले साल यानी तीन महीने पहले मध्य प्रदेश में भाजपा ने विधानसभा चुनाव में कांग्रेस से मामूली अंतर से शिकस्त खाई हो पर लोकसभा चुनाव में वह दोगुने जोश से कांग्रेस को पटकनी देने को तैयार है। लोकसभा चुनाव के लिए भाजपा ने महासचिव अनिल जैन को मध्य प्रदेश का प्रभार सौंपा है। प्रदेश संगठन में कसावट लाते हुए वे कार्यकर्ताओं के साथ चुनाव को लेकर रायशुमारी कर रहे हैं। श्री जैन प्रदेश में विजय संकल्प की शुरूआत करके लौटे हैं। प्रदेश की 29 सीटों पर रायशुमारी करने के बाद उन्होंने अपनी रिपोर्ट पार्टी की संसदीय बार्ड की बैठक को सौंपी है। अनिल जैन विधानसभा चुनाव की इस हार को हार नहीं मानते, सिर्फ आंकड़ों के खेल में पीछे होने से सत्ता से वंचित रह गई हो पर जनता का पार्टी के प्रति भरोसा बरकरार है। इसी भरोसे को आधार मानकर पार्टी इस बार सभी 29 सीटों को जीत कर प्रदेश में इतिहास बना लेना चाहती है। श्री जैन ने पार्टी मुख्यालय में आहूत वरिष्ठ नेताओं के साथ बैठक के दौरान व्यस्ततम समय में स्वदेश से बातचीत में कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नेतृत्व में पार्टी पूरी तरह एकजुट है। कार्यकर्ताओं में उमड़ते जोश व बड़े हुए उत्साह को देखते उन्हें भरोसा है कि मध्य प्रदेश में पार्टी सभी 29 सीटों पर कब्जा जमाएगी।

पार्टी मुख्यालय में 19 मार्च को होने वाली चुनाव समिति की बैठक में उम्मीदवारों के नामों पर अंतिम मुहर लगनी है। भाजपा उम्मीदवारों के नामों की घोषणा को लेकर जल्दबाजी में नहीं है। उसे कांग्रेस की ओर से जारी किए जाने वाली सूची का इंतजार है। संसदीय बोर्ड में 75 वर्ष की उम्र पार कर चुके नेताओं को टिकट दिए जाने का मसला कई तरह के सवाल पैदा कर रहा है। प्रदेश में इंदौर से आठ बार चुनाव जीतने वाली सुमित्रा महाजन और वरिष्ठ नेता बाबूलाल गौर चुनाव लड़ने की इच्छा रखते हैं। इनकी उम्मीदवारी को लेकर हालांकि पार्टी ने स्थिति साफ नहीं की है। सुमित्रा महाजन का हालिया बयान बताता है कि वे फिलहाल अभी इंदौर की चाभी किसी दूसरे को नहीं सौंपना चाहती। विधानसभा चुनाव में टिकट न मिलने से वरिष्ठ नेत्री कुसुम मेहदेले खजुराहो सीट से टिकट मांग रही हैं। इसी तरह 71 वर्षीय नेता जयंत मलैया दमोह से चुनाव लड़ना चाहते हैं। यहां से सांसद प्रहलाद सिंह पटेल हैं जो होशंगाबाद से टिकट मांग रहे हैं। विधानसभा चुनाव हार चुके अंतर सिंह आर्य खरगोन सीट से टिकट मांग रहे हैं। सागर से सांसद 74 वर्षीय लक्ष्मीनारायण यादव फिर यहां से चुनाव लड़ना चाहते हैं तो मंदसौर से 71 वर्षीय रघुनंदन शर्मा चुनाव लड़ने के इच्छुक बताए जा रहे हैं।

इन सवालों पर कटाक्ष करते हुए अनिल जैन ने कहा कि चुनाव समिति की बैठक के बाद ही तय होगा कि किस कार्यकर्ता को कहां से टिकट दिया जा रहा है। फिलहाल पार्टी विधानसभा चुनाव में मिली हार का बदला कांग्रेस का सूपड़ा साफ करके लेगी।

Updated : 13 March 2019 5:30 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top