Top
Home > राज्य > अन्य > नई दिल्ली > भीषण आग पर काबू पाने के लिए अहमदाबाद फायर बिग्रेड ने बनाया रोबोट शेषनाग

भीषण आग पर काबू पाने के लिए अहमदाबाद फायर बिग्रेड ने बनाया रोबोट "शेषनाग"

इसका डिजाइन नगर निगम के मुख्य अग्निशमन अधिकारी ने किया तैयार

भीषण आग पर काबू पाने के लिए अहमदाबाद फायर बिग्रेड ने बनाया रोबोट शेषनाग

रोबोट वाहन शेषनाग 700 डिग्री तक के तापमान में कर सकता है काम

अहमदाबाद। गर्मी के मौसम में आग लगने की घटनाओं में अधिकांशता: वृद्धि हो जाती है। इसे देखते हुए अहमदाबाद फायर ब्रिगेड सेवा ने आग पर काबू पाने के लिए रोबोट सुविधाओं से युक्त एक विशेष वाहन 'शेषनाग' विकसित किया है। इससे फायरकर्मियों की तमाम परेशानियों का अंत हो जाएगा। इस वाहन को बनाने के लिए अहमदाबाद फायर ब्रिगेड सेवा ने एक करोड़ रुपये खर्च किए हैं।

अहमदाबाद नगर निगम के मुख्य अग्निशमन अधिकारी एमएफ दस्तूर ने बताया कि कारखानों या मकानों में बड़ी आग लगने के बाद आसपास अधिक तापमान होने से आग बुझाने का काम बहुत मुश्किल हो जाता है। उन्होंने बताया कि अभी कुछ दिन पूर्व सानंद की यूनीचर्म कंपनी में आग लगने से वहां का तापमान 700 डिग्री तक पहुंच था। इतना तापमान मानव शरीर सहन नहीं कर सकता है। ऐसी परिस्थितियों से निपटने के लिए अहमदाबाद फायर सेवा ने फायर रोबोट वाहन शेषनाग का प्रयोग किया गया था। यहां पहली बार रोबोट से आग पर काबू पाया गया। यह पहली घटना है जिसमें पहली बार किसी रोबोट ने देश में आग पर काबू पाया ।

दस्तूर ने बताया कि शेषनाग नाम का विशेष वाहन उच्च तापमान पर भी आग बुझाने में सक्षम है। उन्होंने बताया कि इस वाहन के बनाने पर एक करोड़ रुपये का खर्च आया है। वाहन के साथ अग्निशमन रोबोट 700 डिग्री के तापमान तक में काम कर सकता है। उन्होंने बताया कि एक तार रहित रिमोट द्वारा संचालित यह फायर रोबोट 200 मीटर की दूरी से संचालित किया जा सकता है। उच्च दबाव पंप को छोड़कर इसके सभी आइटम स्वदेशी आधार पर बनाए जाते हैं। यह दुनिया में अपनी तरह का पहला फायर रोबोट है, जिसमें ऐसी सभी विशेषताएं हैं। उन्होंने बताया कि यह छह पहियों वाला फायर रोबोट फायर टैंकर से 200 मीटर दूर तक जा सकता है। यह डेढ़ मीटर ऊंचे पोर्च जैसी संरचना पर भी आसानी से चढ़ सकता है। रोबोट चार नली पाइप से भी सुसज्जित है जिसमें प्रति मिनट 6 लीटर पानी की क्षमता है। उन्होंने कहा कि आग के करीब पहुंच कर 200 लीटर पानी प्रति मिनट चलाने में सक्षम है।

उल्लेखनीय है कि रोबोट की तरह काम करने "शेषनाग" वाहन को नवंबर 2019 में अहमदाबाद फायर ब्रिगेड में शामिल किया गया था। इस वाहन की परिकल्पना अहमदाबाद फायर ब्रिगेड के मुख्य अग्निशमन अधिकारी दस्तूर ने की थी और उन्होंने ने ही सुरक्षित और प्रभावी अग्निशमन के लिए कुछ अभिनव करने के लिए डिजाइन किया। फायर रोबोट को चांगोदर में एक 'स्वदेशी कंपनी' ने विकसित किया है। यह पूरी परियोजना स्वदेशी 'आधार पर बनाई गई है।

Updated : 1 July 2020 2:59 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top