Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > अन्य > उन्नत खेती से किसान यादव ने लाभ की पकड़ी रफ्तार

उन्नत खेती से किसान यादव ने लाभ की पकड़ी रफ्तार

केन्द्र एवं राज्य सरकार की पहल पर किसानों की खेती को फायदे का धंधा बनाने की दिशा में निरंतर कदम उठाए जा रहे है।

उन्नत खेती से किसान यादव ने लाभ की पकड़ी रफ्तार

भिण्ड | केन्द्र एवं राज्य सरकार की पहल पर किसानों की खेती को फायदे का धंधा बनाने की दिशा में निरंतर कदम उठाए जा रहे है। इससे प्रेरित होकर जिले के भिण्ड विकास खण्ड के ग्राम मातादीन का पुरा निवासी दिनेश यादव लाभ की रफ्तार पकड़ ली है। भिण्ड विकास खण्ड के मातादीन का पुरा निवासी किसान दिनेश यादव ने राज्य सरकार की उन्नत खेती की दिशा में मिले आवार्ड की जानकारी इंटरनेट से प्राप्त कर हरी सब्जी की उन्नत खेती की दिशा में कृषि विभाग के उप संचालक एसपी शर्मा एवं अधीनस्थ अधिकारियों से संपर्क कर हरी सब्जी पैदा करने का व्यावसाय शुरू किया। इस व्यावसाय से किसान प्रगति की राह पकड़ रहा है। साथ ही सब्जी की खेती में चार अन्य बेरोजगारों को रोजगार देने में सक्षम बन गया है।

किसान दिनेश यादव ने भिण्ड शहर की लगी सीमा के ग्राम मातादीन का पुरा में मौसम के अनुसार विभिन्न प्रकार की सब्जियों की खेती शुरू की। साथ ही अपनी हिम्मत को बरकरार रखते हुए सरसों, गेहूं की फसल के स्थान पर जैविक तरीके से हरी सब्जियां अधिक लाभ प्राप्त करने में सक्षम बन गए है। साथ ही शासन द्वारा प्रदत्त हरी सब्जी को मरने की दिशा में कीट नाशक दवाईयों का उपयोग कर सब्जियों को बचाने में सहायक बन रहे है। उनके पास मात्र छह बीघा भूमि उपलब्ध है। जिसमें उन्नत किश्म की सब्जियां पैदा कर भिण्ड शहर और अन्य स्थानों पर भी भिजवाकर उचित मूल्य का लाभ उठा रहे है। पूर्व में उनको सरसो, गेहूं की फसल पैदा करने से करीब तीन लाख रुपए का लाभ मिलता था। अब उनको करीबन छह लाख की आमदनी प्राप्त हो रही है।

किसान दिनेश यादव ने अपने खेत में बेलदार सब्जियों का उत्पादन जमीन से ऊपर करने के प्रयास किए जा रहे है। साथ ही अपनी छह बीघा के खेत की मेड़ों पर बांस-बलियां लगाकर बेले ऊपर चढ़ाकर सब्जियों की अधिक पैदावार लेने में सहायक बन रहे है। जिसमें तोरई, टिंडे, चचेड़ा आदि सब्जियों की उपज का हुनर अपने पिताजी से सीखकर सब्जी बैगन, अरबी, पालक, गोभी, टमाटर, मिर्च, धनिया, गाजर जैसी फसलों को पैदा करने में सहायक बन गए है। उन्होंने जैविक तरीके से उन्नत खेती की दिशा में अनुसंधान केन्द्र बनारस भी प्रशिक्षण प्राप्त किया था। इस प्रशिक्षण में जैविक तरीके से सब्जियों की पैदावार लेने की दिशा में जानकारी प्राप्त कर सब्जी की खेती से होने वाली दुगनी आय प्राप्त करने के तरीके सीखे।

जिलाधीश आशीष कुमार गुप्ता द्वारा भी किसानों की खेती को फायदे का धंधा बनाने की दिशा में निरंतर कदम उठाए जा रहे है। जिससे भी प्रेरणा किसान दिनेश यादव ने ली है। साथ ही ग्रीष्मकाल सब्जी फसले लेने में सहायक बन रहे है। यादव ने बताया कि केन्द्र एवं राज्य सरकार के माध्यम से खेती को फायदे का धंधा बनाने की दिशा में किए जा रहे प्रयासों का परिणाम है कि मैं उन्नत किश्म की सब्जी फसले उगाने में सहायक बना हूं।


Updated : 2018-06-29T21:01:11+05:30

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top