Home > राज्य > मध्यप्रदेश > अन्य > पन्ना में बाघ की फांसी लगाकर हत्या, शिकारियों ने पेड़ से लटकाया शव

पन्ना में बाघ की फांसी लगाकर हत्या, शिकारियों ने पेड़ से लटकाया शव

वन विभाग ने शिकारियों की तलाश में कुत्ते छोड़े

पन्ना में बाघ की फांसी लगाकर हत्या, शिकारियों ने पेड़ से लटकाया शव
X

पन्ना। मप्र का पन्ना जिला यूं तो अपनी हीरों की खदानों के लिए प्रसिद्ध है लेकिन फिलहाल ये बाघों की मौत के लिए चर्चा में बना हुआ है। जिले में लगातार बाघों की मौत की घटनाएं सामने आ रही हैं। इस कड़ी में विक्रमपुर में नर्सरी के पास एक पेड़ से एक वयस्क नर बाघ का शव क्लच वायर से पेड़ पर लटका हुआ मिला। वन विभाग और पन्ना टाइगर रिजर्व की टीम मौके पर पहुंच गई है।

पन्ना टाइगर रिजर्व के संचालक ने बताया की ये घटना घटना उत्तर वन मंडल क्षेत्र के पन्ना रेंज के लक्ष्मीपुर से विक्रमपुर के जंगल की है। जहां कुछ अज्ञात शिकारियों ने एक बाघ को पेड़ से टांगकर मार दिया। बाघ का शव मिलने की सूचना मिलने पर हमारी टीम मौके पर पहुंची। बाघ का शव बेहद ही खराब हालत में पेड़ से लटका हुआ मिला और उससे बदबू भी आ रही थी। अनुमान लगाया जा रहा है कि बाघ की मौत 5-6 दिन पहले ही हो चुकी थी। उन्होंने कहा की शिकारियों की खोज के लिए डॉग स्क्वॉड की मदद भी ली जा रही है।

बता दें की भारतीय बाघ अनुमान रिपार्ट 2018 के अनुसार देश में सबसे ज्यादा बाघ मप्र में पाए जाते है। जसिके चलते मप्र को टाइगर स्टेट का दर्जा दिया गया है। वर्तमान में सरकारी आंकड़ों के अनुसार यहां बाघों की संख्या 526 है। मध्य प्रदेश में कान्हा, बांधवगढ़, सतपुड़ा, पेंच, और संजय दुबरी टाइगर रिजर्व सहित कई बाघ अभयारण्य हैं। इस घटना से पहले 9 नवंबर को भी एक बाघिन मृत अवस्था मिली थी।

Updated : 11 Dec 2022 5:14 PM GMT
Tags:    
author-thhumb

स्वदेश डेस्क

वेब डेस्क


Next Story
Top