Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > अन्य > नगर पालिका द्वारा किए जा रहे स्वच्छता के प्रयासों पर बदनुमा दाग बन चुके है खाली प्लॉट

नगर पालिका द्वारा किए जा रहे स्वच्छता के प्रयासों पर बदनुमा दाग बन चुके है खाली प्लॉट

प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छ भारत के संकल्प को पूरी करने जहां नगर पालिका भरपूर मशक्कत करने में लगी हुई है, वहीं प्रशासन इसको लेकर गैर जिम्मेदाराना रवैया अपना रहा है।

नगर पालिका द्वारा किए जा रहे स्वच्छता के प्रयासों पर बदनुमा दाग बन चुके है खाली प्लॉट

नगर पालिका करा रही नाले-नालियों की सफाई प्रशासन का नहीं खाली प्लॉटों की ओर ध्यान

बारिश के मौसम में मुसीबत को और बढ़ाएंगे कॉलोनियों में पड़े खाली प्लॉट

गुना । प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के स्वच्छ भारत के संकल्प को पूरी करने जहां नगर पालिका भरपूर मशक्कत करने में लगी हुई है, वहीं प्रशासन इसको लेकर गैर जिम्मेदाराना रवैया अपना रहा है। यहंा तक की शहर की अधिकांश कॉलोनियों में गदंगी फैला रहे खाली प्लॉटों तक की ओर प्रशासन ध्यान नहीं दे रहा है, जबकि नगर पालिका द्वारा बारिश से पूर्व कराई जा रही नाले-नालियों की सफाई अंतिम दौर में भी पहुँच चुकी है। इसके चलते पूरे साल परेशानी का सबब बनने वाले खाली प्लॅाट बारिश के मौसम में नागरिकों की ओर मुंसीबत बढ़ाने तैयार है। गुरुवार को दिन पर हुई बारिश से यह खाली प्लॉट तालाब में तब्दील होकर संक्रामक बीमारियों को न्यौता दे रहे है।

अधिकांश कॉलोनियों में पड़े हुए है खाली प्लॉट

शहर की अधिकांश कॉलोनियों में खाली प्लॉट पड़े हुए है। जिनका न तो प्लॉट धारक ने भराव कराया है और न उसके चारों और दीवार बनवाई गई है। जिससे इन खाली प्लाटों में कहीं कचरे का ढेर, कहीं गंदा पानी भरा हुआ है तो कहीं सुआर आदि के अवास का ठिकाना यह खाली पड़े प्लाट बन गए हैं।शहर की सोनी कॉलोनी, भार्गव कॉलोनी, सिसौदिया कॉलोनी, त्रिमूर्ति कॉलोनी, दुर्गा कॉलोनी, विन्ध्याचल कॉलोनी, कर्नलगंज, और शिवाजीनगर में दर्जनों खाली प्लॅाट पड़े हुए हैं। कॉलोनी के कुछ लोग अपने घरों से निकलने वाला कचरा इन्हीं खाली प्लाटों में डालते हैं। इसके साथ ही अपने घरों का गंदा पानी भी लोग इन्ही खाली प्लॉटों निकाल रहे है। इसके चलते प्लॉटों में जहां गदंगी के ढेर जमा हो रहे है तो कुछ प्लॉट तलैया में भी तब्दील हुए पड़े है। इसके चलते जहां कॉलोनियों में गदंगी फैल रही है तो संक्रामक बीमारियो को भी एक तरह से न्यौता दिया जा रहा है। इसके बाद ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

भरने लगा है बारिश का पानी

मानसून का गुरुवार को पहला दिन था, इस बीच दिन भर रिमझिम बारिश का दौर चलता रहा। इसके चलते इन खॉली प्लॉटों में पानी भर गया। इससे इन प्लॉटों ने किसी छोटे-मोटे तालाब का रुप ले लिया। नागरिकों ने बताया कि ऐसी स्थिति हर साल बारिश के दिनों में बनती है। इतना ही नहीं, चूंकि कुछ लोगों ने इन प्लॉटों को कचरा फेंकने के स्थान के साथ ही अपने घर का गंदा पानी भी निकाल रखा है, इससे इन प्लाटों में लंबे समय से पानी सड़ रहा है, जिससे कॉलोनियों में मच्छरों की तदाद बढ़ गई है, वहीं सूआर आदि भी इस सड़े पानी में निकल कर यहां वहां गलियों में घूमते रहते हैं। जिसके चलते संक्रमित बीमारियां फैलने की आशंका बलबती हो गई हैं। नागरिकों ने बताया कि इसके साथ ही प्लॉट में पानी भरा रहने से आसपास के घरों में सीलन आदि हो जाती है और उसके मकान की दीवार ढहने की कगार पर पहुंच जाती है। गौरतलब रहे कि इस प्रकार की कई घटनाएं बारिश में सामने आती है। जिसमें खाली प्लाटों में पानी निकासी नहीं होने के कारण पानी भरा रहता है और वह मकानों की दीवारों का नुकसान पहुंचा कर दीवारों को कमजोर कर देता है।

होनी चाहिए जुर्माने की कार्रवाई

लोगों का मानना है कि खाली प्लॉट धारक पर निर्माण न करने या फिर प्लॉट के चारों ओर दीवार खड़ी पानी निकासी का इंतजाम नहीं करने पर जुर्माने की कार्रवाई करनी चाहिए। यह काम प्रशासन को करना चाहिए। कारण नगर पालिका द्वारा पूरे शहर में सफाई कराई जाती है और फिर यह ऐसा काम है, जो बिना प्रशासन के संभव नहीं है। प्रशासन प्रत्येक कॉलोनी में खाली प्लॉटों को चिन्हित कराए और इस पर चारों ओर दीवार खड़ी कर पानी निकासी का इंतजाम करने के लिए प्लाट धारक पर दबाव बनाए। ऐसा नहीं करने पर जुर्माने की कार्रवाई की जानी चाहिए। इसके लिए प्रशासन नपा का सहयोग भी ले सकता है। इसके साथ ही लोगों को भी अपने आसपास खाली प्लॉटों में कचरा नहीं फेंकने एवं गंदा पानी नहीं छोडऩे के लिए जागरुक किया जाना चाहिए।

नपाध्यक्ष ने किया कॉलोनियों का निरीक्षण

नपा द्वारा बारिश पूर्व की जा रही नाले-नालियों की सफाई अंतिम दौर में है। इस दौरान कई जगह नाले-नालियों पर अतिक्रमण होने के कारण नपा अमले को सफाई में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। लोगों ने नालियों के ऊपर चबूतरे बना लिए है। नपाध्यक्ष राजेन्द्र सलूजा ने आज विभिन्न कॉलोनियों का निरीक्षण कर सफाई व्यवस्था का जायजा लिया। इस दौरान सफाईकर्मियों को निर्देशित भी किया गया। इसके साथ ही नपाध्यक्ष द्वारा प्रतिदिन सफाई व्यवस्था की समीक्षा की जा रही है। उल्लेखनीय है कि स्वच्छता में शहर को बेहतर ूबनाने के लिए हर संभव प्रयास किया जा राह है। कचरा गाडिय़ां जहां नियमित घर-घर दस्तक देने के साथ बाजार में पहुंच रहीं है तो नियमित सफाई कार्य में भी गति लाई गई है। इसके साथ ही विभिन्न वार्डों में नगर पालिका द्वारा जागरुकता कार्यक्रम का आयोजन भी किया जा रहा है। जिसमें शहर को स्वच्छ और सुंदर बनाने नागरिकों से सहयोग का आग्रह किया जा रहा है।



Updated : 2018-06-29T20:04:25+05:30

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top