Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > इंदौर > इंदौर में लोकायुक्त ने मारा छापा, निगम कर्मचारी निकला करोड़ों का मालिक

इंदौर में लोकायुक्त ने मारा छापा, निगम कर्मचारी निकला करोड़ों का मालिक

इंदौर में लोकायुक्त ने मारा छापा, निगम कर्मचारी निकला करोड़ों का मालिक
X

इंदौर। इंदौर लोकायुक्त की टीम ने सोमवार सुबह छापामार कार्रवाई करते हुए इंदौर नगर निगम के कर्मचारी असलम खान के घर से नकदी समेत लाखों का सामान जब्त किया है। लोकायुक्‍त ने कर्मचारी के अशोका कॉलोनी में पांच घरों में एक साथ कार्रवाई शुरू की। प्रारंभिक जांच में उसके पास से कई संपत्तियों के दस्तावेज और लाखों का कैश मिला।

लोकायुक्त एसपी दिलीप सोनी ने बताया कि असलम खान के खिलाफ आई शिकायत के आधार पर सोमवार सुबह यह कार्रवाई की गई। लोकायुक्‍त ने असलम के मुख्य आवास 129 के अलावा अशोका कॉलोनी के साथ चार अन्‍य ठिकानों पर भी दबिश दी। लोकायुक्‍त की कार्रवाई में देवास और महू के आसपास जमीनें, दो दुकानें, चार घरों के दस्तावेज और 10 लाख रुपए का कैश और लाखों की ज्वेलरी मिली है। इसके अलावा एक फ्लैट और तीन मंजिला मकान की भी जानकारी मिली। तीन चार पहिया वाहन भी खड़े मिले, जिसमें एक एसयूवी, एक सिडान कार और एक क्लासिक जीप है। साथ में तीन दो-पहिया वाहन भी हैं।

एसपी सोनी ने बताया कि असलम नगर निगम में बेलदार है, नगर निगम में मात्र 18 हजार रुपए महीने की पगार मिलती है। इसके बाद भी उसका बंगला आलीशान है। एसपी सोनी ने बताया कि भवन अनुज्ञा शाखा में उसका खासा दखल है। कई आला अफसरों से सेटिंग के कारण हालांकि सस्पेंड कई बार हुआ, पर कुछ ही समय में बहाल भी हो जाता था। असलम के निलंबन का कारण हर बार यही रहा कि वह भवन निर्माताओं से सांठगाठ कर नक्शे पास करवाता है। बहाल होने के बाद भी असलम बाज नहीं आया और शिकायतें फिर आने लगीं।

Updated : 2018-08-07T07:27:48+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top