Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > पांच दिनों तक होगी संगीत के सुरों की वर्षा, सांसद सिंधिया करेंगे तानसेन समारोह का उद्घाटन

पांच दिनों तक होगी संगीत के सुरों की वर्षा, सांसद सिंधिया करेंगे तानसेन समारोह का उद्घाटन

सितार वादक मंजू मेहता को दिया जाएगा राष्ट्रीय तानसेन अलंकरण, कार्यक्रम में जिले के सभी छह विधायक रहेंगे मौजूद

पांच दिनों तक होगी संगीत के सुरों की वर्षा, सांसद सिंधिया करेंगे तानसेन समारोह का उद्घाटन
X

ग्वालियर/स्वदेश वेब डेस्क। देश के प्रसिद्द और भव्य संगीत समारोह में से एक "तानसेन समारोह" के माध्यम से पांच दिनों तक संगीत सम्राट तानसेन की समाधि स्थल पर सुरों की बारिश होगी। देश दुनिया से आये कलाकार सुर, ताल और राग का ऐसा संगम पेश करेंगे जिससे ना सिर्फ संगीत रसिकों को बल्कि संगीत सम्राट की आत्मा को भी सुकून का अनुभव होगा।

25 दिसंबर को सुबह तानसेन की समाधि पर पहले ढोलीबुआ महाराज सम्राट तानसेन को हरिकथा सुनाएंगे उसके बाद यहाँ मीलाद पढ़ा जाएगा। हिन्दू- मुस्लिम एकता की गंगा-जमुनी तहजीब के ऐसे दर्शन और किसी समारोह में देखने को नहीं मिलते। तानसेन समारोह की शुरुआत सायंकालीन सभा के साथ होगी। कार्यक्रम का उद्घाटन सांसद एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया करेंगी। इस मौके पर वे सितार वादिका मंजू मेहता को 2017 -18 के लिए "राष्ट्रीय तानसेन सम्मान" से अलंकृत करेंगे। मंच पर ही इस साल का राजा मानसिंह तोमर राष्ट्रीय सम्मान श्री संकटमोचन प्रतिष्ठान वाराणसी और नटरंग प्रतिष्ठान नई दिल्ली को दिया जाएगा। समारोह में कांग्रेस विधायक प्रद्युम्न सिंह तोमर, मुन्नालाल गोयल, प्रवीण पाठक, लाखन सिंह, इमरती देवी और भाजपा विधायक भारत सिंह कुशवाह भी मौजूद रहेंगे।

इस बार के समारोह में कुल नौ संगीत सभायें होंगी। पहली 7 संगीत सभायें संगीत सम्राट तानसेन की समाधि परिसर में भव्य एवं आकर्षक मंच पर सजेंगी। समारोह की आठवीं एवं प्रात:कालीन सभा तानसेन की जन्म स्थली बेहट में झिलमिल नदी के किनारे सजेगी। किला परिसर स्थित गूजरी महल के समीप समारोह की नौवीं एवं आखिरी संक्षिप्त संगीत सभा 29 दिसम्बर को सायंकाल आयोजित होगी। उल्लेखनीय है कि शास्त्रीय संगीत के महान पोषक राजा मानसिंह तोमर की प्रेयसी मृगनयनी गूजरी महल में ही संगीत सम्राट तानसेन से संगीत का प्रशिक्षण प्राप्त करती थीं। इसी बात को ध्यान में रखकर गूजरी महल परिसर में समारोह की अंतिम संगीत सभा आयोजित की जा रही है। जिसकी शुरुआत दो वर्ष पूर्व ही मध्यप्रदेश के पूर्व शिक्षा मंत्री जयभान सिंह पवैया ने कराई है। इस समारोह में पिछले साल की भांति विश्व संगीत को शामिल किया गया है। समारोह में इस बार ईरान, आर्मीनिया और जर्मनी आदि देशों के जानेमाने कलाकार अपनी प्रस्तुति देंगे। तानसेन समारोह की प्रात:कालीन संगीत सभाएं प्रात: 10 बजे और सायंकालीन सभाएं सायंकाल 7 बजे शुरू होंगी।

Updated : 24 Dec 2018 2:16 PM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top