Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > स्क्रीन पर देख सकेंगे पल-पल का रुझान

स्क्रीन पर देख सकेंगे पल-पल का रुझान

11 दिसम्बर को होने वाली मतगणना के लिए प्रशासन बना रहा योजना, चुनाव आयोग के निर्देश पर विभिन्न स्थलों पर लगेंगी बड़ी एलसीडी स्क्रीन

ग्वालियर। विधानसभा चुनाव के लिए 28 नवम्बर को वोट डाले जाने के बाद प्रत्याशियों की धड़कनें तेज हो गई हैं। उन्हें अब सिर्फ 11 दिसंबर इंतजार है। 11 दिसंबर का दिन कई प्रत्याशियों की किस्मत का फैसला लेकर आएगा। इस दिन शहर के विभिन्न स्थलों पर बड़ी-बड़ी एलसीडी स्क्रीन लगाई जाएंगी, जहां पर हर कोई पल-पल के रुझान की जानकारी लाइव देख सकेगा। कुछ ऐसी ही योजना प्रशासन ने आयोग के निर्देश पर बनाई है।

विगत 28 नवम्बर को मतदान होने के साथ ही प्रत्याशियों की किस्मत ईवीएम मशीनों में कैद हो गई है। यह ईवीएम मशीनें कड़ी सुरक्षा के बीच एमएलबी कॉलेज के स्ट्रांग रूम में रखी गई हैं। अब तो सिर्फ 11 दिसम्बर को परिणाम आने का इंतजार है। मतगणना की जानकारी लोगों तक पहुंचाने के लिए चुनाव आयोग द्वारा शहर के विभिन्न स्थानों पर बड़ी एलसीडी स्क्रीन लगाने की योजना है। इन पर मतणगना के ताजा रुझान व आंकड़े प्रदर्शित किए जाएंगे। मतगणना स्थल महारानी लक्ष्मीबाई उत्कृष्ट महाविद्यालय के आस-पास सबसे अधिक यह स्क्रीन लगाई जाएंगी क्योंकि रुझान जानने के लिए प्रत्याशियों, उनके समर्थक सहित अन्य लोग भी यहां अधिक संख्या में जुटेंगे, इसलिए लोगों को पल-पल के रुझान की जानकारी मिल सके। इसके लिए प्रशासन ने यह व्यवस्था की है।

आयोग की वेबसाइट पर भी देख सकेंगे परिणाम

मतगणना स्थल के बाहर बड़ी स्क्रीनों के अलावा चुनाव आयोग की वेबसाइट पर भी सजीव परिणाम देखने की सुविधा उपलब्ध कराई गई है। मोबाइल के माध्यम से भी सजीव नतीजे देखे जा सकेंगे। वहीं महाविद्यालय परिसर के अंदर मीडिया व प्रत्याशियों के लिए अलग से व्यवस्था की गई है। मतगणना स्थल पर अन्य लोगों का प्रवेश वर्जित रहेगा।

प्रत्याशी भी रख रहे ईवीएम पर निगाहें

एमएलबी महाविद्यालय के स्ट्रांग रूम में कड़ी सुरक्षा एवं पहरे के बीच रखी गईं ईवीएम मशीनों में प्रत्याशियों की किस्मत कैद है। मशीनों की सुरक्षा की जिम्मेदारी पैरामिलिट्री फोर्स, एसएएफ एवं जिला पुलिस बल के हाथों में जरूर सौंपी गई है, लेकिन इस पर प्रत्याशियों की भी कड़ी नजर है। प्रत्याशी एवं उनके एजेंट स्ट्रांग रूम पर कड़ी नजर रखे हुए हैं

सीसीटीवी से भी नजर

एमएलबी कॉलेज के मुख्य भवन में अलग-अलग क्षेत्रों के लिए अलग-अलग स्ट्रांग रूम बनाए गए हैं। यहीं पर संबंधित क्षेत्रों की ईवीएम मशीनें रखी गई हैं। इसकी सुरक्षा शस्त्रधारी जवानों के कंधों पर जरूर है, लेकिन सीसीटीवी कैमरे से भी इन पर नजर रखी जा रही है। यहां के कुछ हिस्सों पर गुप्त तरीके से सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, ताकि यहां पर आने वाले लोगों पर पैनी नजर रखी जा सके।

20 से 25 राउण्ड में होगी मतगणना

मतगणना में सबसे पहले डाकमत पत्रों की गिनती होगी। उसके बाद ईवीएम की सील खुलेगी और उनमें पड़े मतों की गिनती होगी। इसमें हर विधानसभा की मतगणना दो-दो कमरों में होगी। इसके साथ ही हर कमरे में सात-सात टेबलें लगाई जाएंगी, साथ ही एक टेबल पर हर पार्टी का एक एजेंट भी बैठेगा। मतगणना 20 से 25 राउण्ड में की जाएगी। इससे पूर्व सभी मतगणना अधिकारी अपने-अपने टेबल पर बैठ जाएंगे। टेबल पर एक गणना निरीक्षक, एक गणना सहायक, एक माइक्रो ऑब्जर्वर और एक ग्रुप डी कर्मचारी तैनात रहेंगे। इनके आलवा वहां रिजर्व स्टाफ भी मौजूद रहेगा।

Updated : 2018-12-01T21:41:19+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top