Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > निर्वाचन प्रशिक्षण से गायब 10 सेक्टर मजिस्ट्रेट को नोटिस जारी

निर्वाचन प्रशिक्षण से गायब 10 सेक्टर मजिस्ट्रेट को नोटिस जारी

जिला निर्वाचन अधिकारी ने दी चेतावनी , निर्वाचन कार्य को गंभीरता से लें

निर्वाचन प्रशिक्षण से गायब 10 सेक्टर मजिस्ट्रेट को नोटिस जारी
X

ग्वालियर/स्वदेश वेब डेस्क। कलेक्ट्रेट सभाकक्ष में विधानसभा निर्वाचन-2018 के तहत सेक्टर मजिस्ट्रेटों के लिए गुरुवार को प्रशिक्षण कार्यक्रम आयोजित किया गया। लेकिन इस प्रशिक्षण में 10 मजिस्ट्रेट सूचना के बाद भी उपस्थित नहीं हुए जिन्हे कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अशोक कुमार वर्मा के निर्देश पर नोटिस जारी किये गए। इसके साथ ही जिन सेक्टर मजिस्ट्रेट ने निर्देशों के बावजूद अपने क्षेत्रों के मतदान केंद्रों की भ्रमण रिपोर्ट नहीं सौंपी उन्हें चौबीस घंटे का अल्टीमेटम दिया गया है।

प्रशिक्षण के दौरान निर्वाचन की बारीकियों की जानकारी दी गई। इस मौके पर नई वीवीपैट मशीन का प्रशिक्षण भी प्रदान किया गया। लेकिन विधानसभा निर्वाचन-2018 में सेक्टर मजिस्ट्रेट के प्रशिक्षण में अनुपस्थित रहे 10 सेक्टर मजिस्ट्रेटों को जिला निर्वाचन अधिकारी द्वारा नोटिस जारी कर जवाब मांगा गया है। इसके साथ ही जिन सेक्टर मजिस्ट्रेटों द्वारा निर्देशों के बावजूद अपने-अपने क्षेत्र के मतदान केन्द्रों का भ्रमण कर रिपोर्ट प्रस्तुत नहीं की है, उन्हें 24 घंटे का अल्टीमेटम दिया गया है। चौबीस घंटे के पश्चात भी रिपोर्ट प्राप्त न होने पर संबंधित सेक्टर मजिस्ट्रेटों के विरुद्ध दण्डात्मक कार्रवाई की जायेगी। कलेक्टर एवं जिला निर्वाचन अधिकारी अशोक कुमार वर्मा ने सेक्टर मजिस्ट्रेटों के प्रशिक्षण में कहा है कि निर्वाचन कार्य में किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। लापरवाही पाए जाने पर संबंधित अधिकारी के विरूद्ध दण्डात्मक कार्रवाई की जायेगी।

कलेक्टर श्री वर्मा ने कहा कि सेक्टर मजिस्ट्रेट अपने-अपने क्षेत्र में जिला निर्वाचन अधिकारी एवं क्षेत्र के रिटर्निंग ऑफीसर का प्रतिनिधित्व करेंगे। निर्वाचन की सभी व्यवस्थाओं को सुचारू सम्पन्न कराने का दायित्व सेक्टर मजिस्ट्रेट का होगा। उन्होंने कहा कि संपत्ति विरूपण के तहत भी प्रभावी कार्रवाई हो, यह सेक्टर मजिस्ट्रेट सुनिश्चित करें।उन्होंने कहा कि मतदान केन्द्रों के निरीक्षण के दौरान सभी सेक्टर अधिकारी इस बात का विशेष ध्यान रखें कि मतदान केन्द्र पर दिव्यांगों के लिए रैम्प की उपलब्धता है कि नहीं। इसके साथ ही विद्युत, पेयजल एवं शौचालय की व्यवस्था भी सुनिश्चित की जायेंगी।

Updated : 2018-09-21T02:04:05+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top