Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > विश्वविद्यालय के गौरव हैं भूतपूर्व छात्र: गोयल

विश्वविद्यालय के गौरव हैं भूतपूर्व छात्र: गोयल

विश्वविद्यालय के गौरव हैं भूतपूर्व छात्र: गोयल
X

कृषि विवि में दो दिवसीय एल्यूमिनी मीट व राजविजय फुलवारी का शुभारंभ

ग्वालियर, न.सं.

देश भर में कृषि, रक्षा, शोध आदि क्षेत्रों में नाम कमाने वाले भूतपूर्व कृषि छात्र राजमाता विजयाराजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय और इससे सम्बद्ध महाविद्यालयों के गौरव हैं। एल्यूमिनी मीट में एक साथ सबका मेल-मिलाप होना एक अविस्मरणीय पल है। यहां भूतपूर्व छात्र एक-दूसरे से अपने संघर्ष, सफलताओं एवं भविष्य की योजनाओं पर चर्चा करके एक उत्साहजनक वातावरण बना रहे हैं। यह बात मुख्य अतिथि के रूप में उपस्थित विधायक मुन्नालाल गोयल ने शनिवार को राजमाता विजयाराजे सिंधिया कृषि विश्वविद्यालय में पूर्व छात्रों की दो दिवसीय प्रथम एल्यूमिनी मीट एवं फल-फूल, शाक-सब्जी व परिरक्षित पदार्थों की प्रदर्शनी सह संगोष्ठी के शुभारंभ अवसर पर कही।

कार्यक्रम की अध्यक्षता कुलपति प्रो. एस.के. राव ने की। मंचासीन अतिथियों में आयोजन सचिव अधिष्ठाता छात्र कल्याण डॉ. एसपीएस तोमर, अधिष्ठाता डॉ. एम.पी. जैन एवं कुलसचिव डी.एल. कोरी मौजूद रहे। कार्यक्रम के प्रारंभ में आतंकी हमले में शहीद हुए जवानों को श्रद्धांजलि दी गई। कार्यक्रम संचालन डॉ. रश्मि वाजपेयी ने एवं आभार कुलसचिव डी.एल. कोरी ने व्यक्त किया। कार्यक्रम में अतिथियों द्वारा विभिन्न क्षेत्रों के सफलतम भूतपूर्व कृषि छात्रों का सम्मान एवं विभिन्न प्रकाशनों का विमोचन किया। इस अवसर पर पूर्व कुलपति द्वय डॉ. विजय सिंह तोमर एवं डॉ. ए.एस. तिवारी सहित विश्वविद्यालय के सभी अधिकारी, शिक्षक, वैज्ञानिक, कर्मचारी एवं वर्जीनिया से आए डॉ. पी.एस. देशमुख, डॉ. मंडलोई सहित देश भर से आए पूर्व छात्र मौजूद थेे।

विवि देश में प्राप्त कर चुका है दसवीं वरीयता: कुलपति

कार्यक्रम की अध्यक्षता कर रहे कृषि विवि के कुलपति प्रो. राव ने कहा कि कृषि महाविद्यालयों के शिक्षकों, वैज्ञानिकों, छात्रों एवं हमसे सम्बद्ध किसानों के साझा प्रयासों से आज राजमाता विजयाराजे सिंधिया कृषि विवि देश भर में 10वीं वरीयता प्राप्त कर चुका है। हमारी सफलता की यात्रा जारी है और इसमें हम अपने भूतपूर्व छात्रों को सहभागी बनाते हुए नए आयाम तय करना चाहते हैं।

50 यूनिट हुआ रक्तदान

एल्यूमिनी मीट के प्रारंभ में कृषि स्नातक संघ की ओर से रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। शिविर संयोजक डॉ. पी.डी. सिंह एवं सुधीर सिंह भदौरिया ने बताया कि शिविर में शिक्षकों एवं छात्रों ने कुल 50 यूनिट रक्तदान किया।

राजविजय फुलवारी का समापन आज

राजविजय फुलवारी के अंतर्गत 17 फरवरी रविवार को कृषि विवि परिसर स्थित कृषि संग्रहालय में फल-फूल, शाक-सब्जी प्रदर्शनी दोपहर एक बजे से आमजन के लिए खुली रहेगी। राजविजय फुलवारी का समापन रविवार को दोपहर 3.30 बजे कृषि संग्रहालय पर होगा। इस अवसर पर मुख्य अतिथि जीवाजी विश्वविद्यालय की कुलपति प्रो. संगीता शुक्ला होंगी। अध्यक्षता कृषि विवि के कुलपति प्रो. एस.के. राव करेंगे। फुलवारी के विजेताओं को अतिथियों द्वारा पुरस्कृत किया जाएगा।

Updated : 2019-02-17T15:00:50+05:30

Naveen

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Next Story
Share it
Top