Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > साइकिल ट्रैक: भोपाल में हो चुका है फ्लॉप ग्वालियर में कब चलेंगी, किसी को पता नहीं

साइकिल ट्रैक: भोपाल में हो चुका है फ्लॉप ग्वालियर में कब चलेंगी, किसी को पता नहीं

साइकिल ट्रैक: भोपाल में हो चुका है फ्लॉप ग्वालियर में कब चलेंगी, किसी को पता नहीं
X

ग्वालियर, न.सं.

भोपाल में फ्लॉप होने के बाद भी ग्वालियर में साइकिल ट्रैक पर दो करोड़ रुपए खर्च किए जा चुके हैं, लेकिन अभी तक स्मार्ट सिटी के तहत शहर में चलने वाली साइकिलें ट्रैक पर दिखाई नहीं दे रही हैं, जबकि स्मार्ट सिटी के अधिकारियों का दावा है कि साइकिलों को जल्द ही शहर में चलाया जाएगा।

साइकिलिंग के लिए शहर में कुल 50 किलोमीटर लम्बा ट्रैक बनाने की योजना है। इसमें से 28 कि.मी. का सर्वे कर 11 कि.मी. ट्रैक बनाया जा चुका है। योजना के तहत जहां सडक़ है, वहां सिर्फ रंग-रोगन कर जगह को आरक्षित कर लिया गया है। शहर में बने डॉकिंग स्टेशनों को भी तैयार कर लिया गया है, लेकिन यहां पर इन दिनों रात के समय असामाजिक तत्वों का जमावड़ा लगा रहता है। बताया जा रहा है कि साइकिल चलाने की योजना तत्कालीन सीईओ विदिशा मुखर्जी के कार्यकाल में बनी थी, लेकिन अभी तक शहर में साइकिल नहीं चल पाई है। उधर माल गोदाम में रखी साइकिलें धूल खा रही हैं।

स्मार्ट सिटी के कार्यों पर नजर बनाए हुए है विपक्ष

प्रदेश में सत्ता परिवर्तन होते ही अब विपक्ष शहर में स्मार्ट सिटी के तहत होने वाले कार्यों पर पूरी तरह से नजर बनाए हुए है। बताया जा रहा है कि स्मार्ट सिटी के तहत शहर में जो भी काम हो रहे हैं, वह बिना योजना के हो रहे हैं, जिसके चलते अभी तक स्मार्ट सिटी के काम धरातल पर नहीं उतरे हैं।

पहले चरण में यहां से चलना है साइकिल

पहले चरण में ग्वालियर पूर्व विधासनभा क्षेत्र में लगभग एक करोड़ की राशि से ट्रैक बनाने के बाद उस पर विद्युत पोल व पेड़-पौधों जैसी कई बाधाएं निकलकर सामने आ गई हैं। महीनों तक अधिकारियों ने विद्युत पोल सहित अन्य बाधाएं हटाने के निर्देश दिए, लेकिन अभी तक न तो विद्युत पोल हटे हैं और न ही गड्ढों को भरा गया है।

पहले चरण में शुरू होनी है योजना

स्मार्ट सिटी के अधिकारियों ने बताया कि पहले चरण में शहर में 200 साइकिलें आ चुकी है। शहर में पूरे डॉकिंग स्टेशन बनने के बाद 300 साइकिलें और मंगाई जाएंगी, साथ ही 50 डॉकिंग स्टेशनों को बनाने का लक्ष्य रखा गया है। वहीं अभी आठ स्टेशनों पर स्मार्ट सिटी के अधिकारी पहले चरण में इस योजना को शुरू करेंगे, लेकिन स्मार्ट सिटी के किसी भी अधिकारी के पास इस सवाल का कोई जवाब नहीं है कि साइकिल कब और कहां से चलेंगी।

इन स्थानों पर तैयार हो चुके हैं डॉकिंग स्टेशन

अलकनंदा टॉवर

बीएसएनएल ऑफिस

आकशवाणी

महाराजा मानसिंह चौराहा

राजमाता चौराहा सिटी सेंटर

तानसेन होटल

न्यू कलेक्ट्रेट

न्यू हाईकोर्ट मार्ग

Updated : 2019-02-05T18:34:01+05:30

Naveen

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Next Story
Share it
Top