Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > एसपी साहब, पूरा शहर जाम में फंसा है

एसपी साहब, पूरा शहर जाम में फंसा है

एसपी साहब, पूरा शहर जाम में फंसा है
X

    • पड़ाव चौराहे पर जाम से सबसे अधिक परेशानी

      ग्वालियर, न.सं.

      महानगर के स्मार्ट सिटी योजना में शामिल होने के बाद नगरवासियोंं को शहर के प्रमुख मार्गों पर लगने वाले जाम से छुटकारा मिलने की उम्मीद थी, लेकिन सडक़ों पर लगने वाले जाम से अब आमजन भी परेशान है। हालत यह है कि नगर का सबसे व्यस्तम पड़ाव चौराहा तथा पुल पर अब दिन हो या रात जाम लगना आम हो गया है, जबकि शहर की यातायात व्यवस्था सुधारने के नाम पर पुलिस व प्रशासन के अधिकारी आए दिन सिर जोडक़र बैठते हैं, लेकिन उसके बाद भी सडक़ों पर लगने वाले जाम से छुटकारा नहीं मिल पा रहा है। पड़ाव चौराहे के अलावा जिंसी नाला, रॉक्सी पुल, सराफा बाजार, दौलतगंज, नई सडक़, हनुमान चौराहा, इंदरगंज, हजीरा चौराहा, किलागेट, मुरार आदि इलाकोंंं में भी दिन में कई बार जाम लग रहा है। पड़ाव के आसपास जाम लगने से सबसे अधिक परेशानी रेलवे स्टेशन तथा बस स्टैण्ड जाने वाले यात्रियों को हो रही है। कई बार तो जाम मे फंसने से लोगों की ट्रेन तक छूट जाती है। पड़ाव थाने के बाहर जाम लगने के बाद भी पुलिस के जवान नजर नहीं आते हैं। चौराहोंं पर यातायात व्यवस्था संंभालने के लिए खड़े होने वाले पुलिस के जवान भी शायद जाम लगने का इंतजार करते हैं। वैसे यातायात पुलिस के जवान मोबाइल चलाने में अधिक व्यस्त नजर आते हैं। शहर की सडक़ों पर जाम लगने का दूसरा कारण सडक़ों पर अतिक्रमण तथा वाहनों की पार्किंग है, लेकिन नगर निगम तथा पुलिस इस समस्या का समाधान करने में सुस्त नजर आ रही है। फिलहाल जाम लगना स्मार्ट सिटी की सबसे बड़ी समस्या बन गई है।

      काम नहीं आया जनप्रतिनिधि, पुलिस व प्रशासनिक अधिकारियों का गणित

      घर से निकलने वाले हर व्यक्ति को आज शहर की सडक़ों पर जाम की समस्या से आए दिन जूझना पड़ रहा है। सडक़ों का चौड़ीकरण होने के बाद भी समस्या तस की तस है। शहर के अधिकतर क्षेत्रों में जाम के कारण हालात बदतर हो चले हैं। जनप्रतिनिधि, पुलिस और प्रशासनिक अधिकारी जाम से मुक्ति दिलाने के लिए प्रयासरत हैं, लेकिन अभी तक उनके उपाय कारगर नहीं हो सके हैं। मुरार में बारादरी चौराहा पर हुरावली, गरम सडक़, थाटीपुर, श्री टाकीज और गंज वाले पांच रास्तों से वाहनों का आवागमन होता है। पांच दिशाओं से वाहन आने के कारण यहां सुबह से ही जाम लगा रहता है। दोपहर में जाम के हालात बदतर हो जाते हैं। जाम में वाहनों के फंसने के कारण आए दिन लोगों से झगड़ा होना आम बात है। सबसे ज्यादा जाम यात्री वाहनों के कारण लगता है। सडक़ पर टेम्पो बेतरतीब ढंग से खड़े हो जाते हैं। इसके बाद मुरार के बाजारों में भी जाम की समस्या लगातार बनी रहती है। थाटीपुर चौराहा और कुम्हरपुरा में भी वाहनों की लम्बी कतारें लगने के कारण सुबह से जाम के हालात बन जाते हैं। स्टेशन बजरिया और पड़ाव पुल पर सुबह से वाहनों की लाइनें लगना रोज की समस्या है। पड़ाव पुल पर वाहनों का लोड अब दिन प्रतिदिन बढ़ता जा रहा है। रेलवे स्टेशन चौराहा पेट्रोल पम्प पर टेम्पो स्टैण्ड होने से भी जाम लगना प्रमुख समस्या है।

      जागरूकता से मिलेगी राहत

      शहर की सडक़ों पर दो और चार पहिया वाहन कहीं पर भी खड़े मिल जाएंगे। इस कारण भी रास्ते अवरुद्ध हो जाते हैं। शिन्दे की छावनी, जयेन्द्रगंज इन्दरगंज, दाल बाजार, स्टेशन बजरिया, फालका बाजार, दौलतगंज, ऊंटपुल, छप्पर वाला पुल आदि ऐसे स्थान हैं, जहां लोग सडक़ों पर अपने वाहन खड़े कर देते हैं। लोगों की जागरुकता के अभाव के कारण भी जाम लगना एक समस्या है। ऐसे में लोगों को जागरुक करने की जरूरत है कि वे अपने वाहन सडक़ों पर कहीं भी खड़े न करें। सडक़ों पर खड़े ऐसे वाहनों को जब्त कर जुर्माने की कार्रवाई करने की भी पहल की जाना चाहिए है।

Updated : 2019-02-03T11:31:58+05:30

Naveen

Swadesh Contributors help bring you the latest news and articles around you.


Next Story
Share it
Top