Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > डेंगू हुआ विकराल, आंच नेपाल दूतावास तक

डेंगू हुआ विकराल, आंच नेपाल दूतावास तक

तोड़ा 9 साल का रिकॉर्ड मरीजों की संख्या 788

डेंगू हुआ विकराल, आंच नेपाल दूतावास तक
X

ग्वालियर। जिले में डेंगू विकराल रूप लेता जा रहा है। डेंगू ने इस बार पिछले 9 वर्ष का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया है। इसके साथ ही डेंगू की रोकथाम को लेकर सरकारी विभागों पर भी सवाल उठने लगे हैं। आयुर्वेद महाविद्यालय में अध्ययनरत नेपाल के छात्रों की नेपाल दूतावास को भेजी शिकायत ने डेंगू का मामला और गरमा दिया है। इस शिकायत के बाद नेपाल दूतावास ने महाविद्यालय के प्राचार्य से जवाब भी मांगा है। इस बीच मानव अधिकार आयोग ने भी जिलाधीश व मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को डेंगू की बढ़ती संख्या को लेकर नोटिस जारी करते हुए चार सप्ताह के अंदर जबाव मांगा है।

डेंगू विकराल रूप लेता जा रहा है बावजूद इसके मलेरिया विभाग और नगर निगम प्रशासन की ओर से कोई ठोस कदम नहीं उठाए जा रहे हंै। बहरहाल जिले में डेंगू के मरीजों की संख्या 788 पहुंच गई है। शासकीय आयुर्वेद महाविद्यालय में एनआरआई कोटे से नेपाली छात्रों के लिए छह सीटें हैं। यहां पढ़ रहे नेपाली छात्र महाविद्यालय के छात्रावास में नियमित साफ. सफाई न होने, छात्रावास तक जाने वाले मार्ग में बिजली के इंतजाम न होने की शिकायतें पहले भी महाविद्यालय प्रबंधन से कर चुके हैं लेकिन महाविद्यालय प्रबंधन ने इसे गंभीरता से नहीं लिया। बहरहाल इस बार मामला गंभीर है। ग्वालियर में जिस तेजी से पांव पसार रहा है उससे महाविद्यालय के नेपाली छात्र घबराए हुए हैं। ऐसे में उन्होंने अपनी शिकायत नेपाली दूतावास को भेजी है।

बताया जा रहा है नेपाली दूतावास से इस मामले की जानकारी आईसीसीआर को दी गई। आईसीसीआर के डायरेक्टर ने बुधवार को महाविद्यालय के प्राचार्य डॉ. महेश शर्मा को फोन पर नेपाली छात्रों द्वारा की गई शिकायत से अवगत कराया। इसके बाद हरकत में आए कॉलेज प्रशासन ने पहलेे नेपाली छात्रों को बुलाकर पहले तो नाराजगी जताई और कहा कि इस मामले की शिकायत उनसे करनी थी। बहरहाल बाद प्राचार्य और अस्पताल अधीक्षक डॉ. सीपी शर्मा ने बुधवार को छात्रावास की व्यवस्थाएं देखी व सफाई करवाई।

चिकनगुनिया ने भी पैर पसारे

अब चिकनगुनिया ने भी अपने पैस पसारना शुरू कर दिए हैं। चिकनगुनिया के भी एक साथ सात मरीज सामने आए हैं। गजराराजा चिकित्सा महाविद्यालय के माइक्रोबायोलॉजी विभाग में बुधवार को 130 डेंगू के संदिग्ध एवं 14 चिकनगुनिया के संदिग्ध मरीजों की जांच की गई। जांच रिपोर्ट में 72 को डेंगू और सात मरीजों को चिकनगुनिया होने की पुष्टि हुई है । जिसमें डेंगू के शहर से 41 लोग शामिल हैं। इसी तरह शहर के चिकनगुनिया तीन मरीजों की पुष्टि हुई है। अन्य मरीज भिण्ड से हैं। अगर 2009 से लेकर 2017 तक का रिकार्ड देखा जाए तो डेंगू के इतने मरीज अब तक सामने नहीं आए थे। लेकिन इस बार अक्टूबर में ही 788 डेंगू के मरीज सामने आ चुुके हैं।

Updated : 2018-11-01T16:27:39+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top