Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > घिसे टायरों पर चढ़ा रखी थी रबड़, नहीं थी फिटनेस

घिसे टायरों पर चढ़ा रखी थी रबड़, नहीं थी फिटनेस

स्कूली बसों पर ताबड़तोड़ कार्रवाई, चला विशेष अभियान, डेढ़ दर्जन बसों के पंजीयन निलंबित, फिटनेस निरस्त

घिसे टायरों पर चढ़ा रखी थी रबड़, नहीं थी फिटनेस
X

ग्वालियर/स्वदेश वेब डेस्क। शासन-प्रशासन की सख्ती के बाद भी बस संचालक स्कूली बच्चों के जीवन से खिलवाड़ कर रहे हैं। वे सरेआम नियमों की धज्जियां उड़ाकर बसों का संचालन कर रहे हैं। मंगलवार को परिवहन विभाग की ताबड़तोड़ कार्रवाई में करीब डेढ़ दर्जन स्कूल बसों में विभिन्न प्रकार की खामियां सामने आईं। कुछ बसों ने तो स्पीड गवर्नर निकाल रखे थे और वह धड़ल्ले से बच्चों को बैठाकर दौड़ रही थीं। परिवहन विभाग ने बसों के पंजीयन निलंबित करने के साथ ही फिटनेस निरस्त कर दिए हैं। वहीं चालकों के लाइसेंस भी कुछ महीने के लिए निलंबित किए गए हैं। इस कार्रवाई से बस संचालकों की धड़कने बढ़ गई हैं और उन्होंने स्कूल में इसका विरोध भी किया।

क्षेत्रीय परिवहन अधिकारी एम.पी. सिंह के नेतृत्व में मंगलवार को परिवहन अमले ने जब बसों की जांच-पड़ताल शुरू की तो फटी हुई सीटें और खिड़कियों से जालियां गायब मिलीं। दो बसें तो ऐसी थीं, जो धक्के से स्टार्ट हुईं। परिवहन विभाग द्वारा औचक कार्रवाई की गई। इससे स्कूल बस संचालकों और स्कूल प्रबंधन में हड़कंप मच गया। मंगलवार को सुबह शिवपुरी लिंक रोड पर स्कूली बसों को चैक करने के लिए परिवहन विभाग का अमला सुबह सात बजे ही पहुंच गया था। परिवहन विभाग की टीम ने शिवपुरी लिंक रोड और निजी स्कूलों में पहुंचकर सभी बसों को चैक करते हुए कार्रवाई की। तीन घण्टे चली इस चैकिंग में आधा सैकड़ा से ज्यादा वाहनों के खिलाफ कार्रवाई कर वाहनों के दस्तावेज जब्त कर लिए गए। इस दौरान स्कूल संचालकों को समझाइश दी गई कि वह बच्चों के जीवन के साथ खिलवाड़ न करें। अमले ने जैसे ही बसों को तेज स्पीड से आते देखा तो रोकने की कोशिश की, लेकिन कई बस चालक बसों को रोकने की बजाय स्कूल में बच्चों को लेकर पहुंच गए। अधिकारियों ने भी इन बसों का पीछा कर स्कूल में ही चैकिंग शुरू कर दी। इस दौरान अधिकांश बसों में स्पीड गवर्नर बंद मिले तो कुछ बसें ऐसी थीं, जिनकी फिटनेस निरस्त होने के बाद भी वह बच्चों को लाने व ले जाने का काम कर रही हैं। कई बसों में निर्धारित संख्या से ज्यादा बच्चे मिले। परिवहन विभाग इनके परमिट निरस्त करने की कार्रवाई करने की तैयारी कर रहा है।

स्कूलों में पहुंचने पर कार्रवाई का किया विरोध

चैकिंग के दौरान कई बस चालक अपने वाहनों से स्कूल पहुंचे। जब जिला परिवहन अधिकारी एम.पी. सिंह, एआरटीओ रिंकू सिंह, प्राची शर्मा, अजीत बाथम ने स्कूलों में पहुंचकर वाहनों को चैक करना शुरू किया तो कई बस चालकों ने विरोध जताया, लेकिन पुलिस के मौके पर पहुंचने से यह विरोध कुछ ही देर में शांत हो गया।

इनका कहना है

स्कूलों में बच्चों को ले जाने वाली करीब डेढ़ दर्जन बसों की जांच-पड़ताल की गई। इनमें कई खामियां एवं गड़बडिय़ां मिलीं। यह नियमों का पालन नहीं कर रही थीं, इसलिए पंजीयन निलंबित, फिटनेस निरस्त करने के साथ ही चालकों के लाइसेंस भी निलंबित किए गए हैं।

-एम.पी. सिंह

जिला परिवहन अधिकारी, ग्वालियर

बसों में यह मिली कमियां, हुई कार्रवाई

-एमपी 07 एफ 0901 बस की भौतिक स्थिति व टायर खराब। दो माह के लिए पंजीयन व चालक का लाइसेंस निलंबित, फिटनेस निरस्त।

-एमपी 06 पी 0182 बस की भौतिक स्थिति ठीक नहीं थी, दोनों टायर खराब थे। दो माह के लिए पंजीयन निरस्त एवं लाचक का लाइसेंस दो माह के लिए निलंबित।

-एमपी 07 पी 0121 के दोनों टायर खराब थे और स्थिति ठीक नहीं थी। फिटनेस निरस्त।

-एमपी 07 पी 0582 में डबल गेट नहीं मिला। स्थिति खराब थी। फिटनेस निरस्त।

-एमपी 06 बी 1758 नम्बर की बस 65 कि.मी. प्रति घण्टे की गति से चल रही थी, फिटनेस निरस्त एवं दो माह के लिए पंजीयन निलंबित।

-एमपी 09 एफए 3585 में डबल गेट, इमरजेंसी गेट नहीं थे। भौतिक स्थिति खराब मिली। दो माह के लिए पंजीयन निलंबित, फिटनेस निरस्त।

-एमपी 07 एफ 1105 इमरजेंसी गेट नहीं मिला। पंजीयन व फिटनेस निरस्त।

-एमपी 07 एफ 0915 इमरजेंसी गेट नहीं मिला, टायर खराब। पंजीयन, फिटनेस निरस्त, चालक का लाइसेंस निलंबित।

-एमपी 07 एफ 0 871 इमरजेंसी गेट नहीं, टायर खराब। पंजीयन, फिटनेस निरस्त, चालक का लाइसेंस निलंबित।

-एमपी 07 पी 0289 के टायर खराब, भौतिक स्थिति खराब। फिटनेस निरस्त।

-एमपी 07 पी 1630 नम्बर की बस 75 कि.मी. प्रति घण्टे की गति से चल रही थी। फिटनेस निरस्त।

-एमपी 07 पी 1299, परमिट समाप्त। पंजीयन निलंबित, फिटनेस निरस्त।

-एमपी 33 एफ 0109 का चालक बच्चों को उतारकर भाग गया। चालक का लाइसेंस तीन माह के लिए निलंबित।

-एमपी 06 बी 1767 के टायर खराब। चालक का लाइसेंस तीन माह के लिए निलंबित।

-केए 04 बी 7545 के टायर खराब, अनुबंध गलत। परमिट निलंबित, फिटनेस निरस्त।

Updated : 2018-09-19T20:09:37+05:30
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top