Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > विश्व स्तरीय एनजीओ के इशारे पर भाजपा प्रत्याशियों को हराया गया

विश्व स्तरीय एनजीओ के इशारे पर भाजपा प्रत्याशियों को हराया गया

कांग्रेस ने बसपा उम्मीदवार खड़े कर रचा षड्यंत्र: पवैया

विश्व स्तरीय एनजीओ के इशारे पर भाजपा प्रत्याशियों को हराया गया
X

ग्वालियर, विशेष प्रतिनिधि। प्रदेश सरकार में कैबिनेट मंत्री रहे ग्वालियर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा के उम्मीदवार जयभान सिंह पवैया ने गुरुवार की शाम अपने सरकारी निवास पर भाजपा कार्यकर्ताओं की एक अहम बैठक लेकर उन्हें अगले पांच साल तक इस क्षेत्र में कांग्रेस द्वारा किए गए वायदों पर नजर रखने के लिए कहा।

वहीं यह भी कहा कि एक विश्व स्तरीय एनजीओ ने एस्ट्रोसिटी एक्ट को लेकर आमजनों को भड़काने का काम किया, जिससे भाजपा के खिलाफ हवा बनी। वहीं कांग्रेस ने बसपा के प्रत्याशी उतरवाकर उन्हें खरीद लिया, जिससे भाजपा का परंपरागत वोट बैंक प्रभावित हुआ। एक बड़े कांग्रेस नेता ने कांग्रेस प्रत्याशी को जिताने के लिए जमकर पैसा बहाया। इन बातों को हम भांप नहीं पाए और यही हार का कारण बना। श्री पवैया ने कहा कि कांग्रेस ने चुनाव पूर्व महिलाओं को 2500 रुपए पेंशन, जेसी मिल के श्रमिकों को 7 हजार रुपए पेंशन और बेरोजगारों को 10 हजार रुपए देने की बात कही थी। अब कार्यकर्ताओं को घर-घर जाकर यह पता करना होगा कि यह सुविधाएं उन्हें मिल रही हैं या नहीं? उन्होंने कहा कि मुझे भी पांच साल तक किसी न किसी कारण चैन से बैठने नहीं दिया गया। मेरा घर तक घेरा गया, इसलिए अब बारी अपने कार्यकर्ताआओं की है, जो उपनगर ग्वालियर की समस्याओं पर निगरानी रखें और कांग्रेस द्वारा की गई घोषणाओं पर नजर रखें। यह देखें कि उनके वायदे पूरे हो रहे हैं या नहीं? श्री पवैया ने कहा कि कोई परिणाम अंतिम नहीं होता।

मैंने पहले भी कई चुनाव लड़े हैं, जो जीते और हारे हैं। अब हमें चौकीदार की भूमिका में रहना होगा। श्री पवैया ने वहां पहुंचे पत्रकारों से चर्चा में कहा कि मैं भितरघात के मामले में किसी नेता पर टिप्पणी नहीं करूंगा, लेकिन यह बात सही है कि कुछ बड़े नेताओं और शासकीय पदों पर बैठे लोगों ने भाजपा के लिए काम नहीं किया, लेकिन पार्टी के उचित फोरम पर यह बात जरूर रखूंगा। उन्होंने जनता द्वारा उन्हें दिए गए मत के लिए आभार भी माना।

Updated : 14 Dec 2018 10:45 AM GMT
Tags:    

Swadesh Digital

स्वदेश वेब डेस्क www.swadeshnews.in


Next Story
Share it
Top