Top
Home > राज्य > मध्यप्रदेश > ग्वालियर > माफियाओं के खिलाफ मुख्यमंत्री के बयान से ग्वालियर में हड़कंप

माफियाओं के खिलाफ मुख्यमंत्री के बयान से ग्वालियर में हड़कंप

- किसी भी क्षण हो सकती है कार्रवाई, संभागीय आयुक्त और आईजी ने दिए संकेत

माफियाओं के खिलाफ मुख्यमंत्री के बयान से ग्वालियर में हड़कंप

ग्वालियर, विशेष प्रतिनिधि। मुख्यमंत्री कमलनाथ द्वारा प्रदेशभर में भू माफियाओं और अन्य अवैध तरीकों से किए जा रहे अपराधियों के खिलाफ पुलिस एवं प्रशासनिक अधिकारियों को खुला हैंड देकर कार्रवाई के निर्देश से अवैध धंधों में लिप्त माफियाओं में खलबली मच गई है। उनके इस बयान के बाद शहर में बस एक ही चर्चा है कि अब किस माफिया के खिलाफ प्रशासन का पंजा चलेगा। इसमें जिस शख्स का नाम मुख्यमंत्री के द्वारा लिया गया है, उसके नाम को लेकर भी तरह-तरह की चर्चाएं हैं। मुख्यमंत्री कमलनाथ के इन प्रयासों को प्रदेश में सकारात्मकता से लिया जा रहा है। इन्दौर में इसकी शुरुआत हो चुकी है। ग्वालियर भी कार्रवाई की हद में है। बेशक यह कार्रवाई होनी चाहिए पर मुख्यमंत्री कमलनाथ को यह ध्यान में रखना होगा कि कार्रवाई दुराग्रह एवं पूर्वाग्रह से ग्रसित न हो। वहीं संभागीय आयुक्त एमबी ओझा और एडीजी एवं पुलिस महानिदेशक ग्वालियर जोन राजाबाबू सिंह ने भी यह संकेत दिए हैं कि ग्वालियर में माफियाओं के खिलाफ किसी भी क्षण कार्रवाई की जा सकती है।

उल्लेखनीय है कि कमलनाथ की प्रदेश सरकार को एक साल पूरा होने जा रहा है, ऐसे में रिपोर्ट कार्ड की बात आने पर अब ऐसे लोगों के खिलाफ खुलकर कार्रवाई को तैयारी है, जिन्होंने पिछले कुछ वर्षों में अवैध तरीके से अकृत संपत्ति अर्जित की है। इन लोगों ने अधिकारियों एवं सत्ताधारी लोगों के साथ मिलकर जमकर बारे न्यारे किए। यद्यपि प्रदेश में कांग्रेस की सरकार आने के बाद भी कुछ ऐसा ही चल रहा था, किंतु अब प्रदेश सरकार के मुखिया के जागने से ऐसे लोगों में खलबली है, क्योंकि उन्हें लग रहा था कि पूर्व की तरह इस सरकार में भी वह सत्ताधारी एवं प्रशासनिक अधिकारियों को अपनी जेब में रखकर कुछ भी कर सकते हैं। मुख्यमंत्री का इशारा मिलते ही वरिष्ठ प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारियों ने अलग-अलग तरह के माफियाओं पर नकेल कसने के लिए सूची बनाना शुरू कर दी है। जिनपर कार्रवाई के लिए कभी भी बड़ा वज्राघात हो सकता है। इसमें भूमाफिया, शराब माफिया, खनन माफिया सहित ऐसे लोगों के नाम उभरे हैं जो पहले कभी साइकिल पर चला करते थे और अब फॉच्र्यूनर पर गनर के साथ बड़ी ही शान से घूम रहे हैं। इसमें कुछ जाने पहचाने नाम हैं, जो जिसकी सत्ता होती है उससे चिपक कर चलते हैं। पल-पल में अपनी आस्थाएं बदलकर ऐसे लोगों से जुड़ जाते हैं जो सत्ता में ताकतवर होते हैं। लेकिन इस कार्रवाई के पहले मुख्यमंत्री को उन अधिकारियों पर भी नजर रखना होगी, जिनके रहते ऐसे लोग जमकर फले फूले हैं। ऐसे में सिर्फ एक तरफा कार्रवाई होगी तो कई तरह के सवाल पैदा होंगे, जो सरकार के लिए मुश्किलें खड़ी करेंगे। ऐसे में जो चेहरे माफिया के नाम पर चिन्हित किए जा रहे हैं, उन्हें कतई नहीं छोडऩा चाहिए, फिर वह किसी भी रसूखदार व्यक्ति से जुड़ा हुआ क्यों न हो। तभी आम जनता की नजर में सरकार की एक अलग छवि दिखाई देगी।

इनका कहना है

गुरुवार को भोपाल में मुख्यमंत्री द्वारा ली गई बैठक में मैं मौजूद था। उन्होंने किसी भी तरह के भूमाफियाओं पर कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। इसके लिए नाम भी हमारे पास हैं, जिन पर कभी भी कार्रवाई की जा सकती है।

-एम.बी. ओझा, संभागीय आयुक्त ग्वालियर

मुख्यमंत्री द्वारा ली गई बैठक के बाद अब भूमाफिया और अन्य माफिया कतई नहीं बख्शे से जाएंगे। उनके खिलाफ यह मान लीजिए कि कल ही बड़ी कार्रवाई होगी।

-राजाबाबू सिंह, एडीजीपी एवं पुलिस महानिरीक्षक

ग्वालियर जोन

Updated : 14 Dec 2019 2:01 AM GMT
Tags:    

Swadesh News ( 0 )

Swadesh Digital contributor help bring you the latest article around you


Next Story
Share it
Top